Home > धर्म > मन में है पवित्रता है तभी चिपकेगा सिक्का इस चमत्कारिक मंदिर में

मन में है पवित्रता है तभी चिपकेगा सिक्का इस चमत्कारिक मंदिर में

कुल्लू। लाहौल-स्पीति पूरी दुनिया में कई महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है। कई बौद्ध मंदिर व झीलों वाला यह क्षेत्र कई रहस्यों को अपने गर्भ में समाए हुए है। कुंजुम दर्रा में स्थित माता कुंजुम का मंदिर इन्ही में से एक है।


कुंजुम माता का आशीर्वाद ले कर ही दर्रा पार करते हैं लोग

कुंजुम दर्रा लाहौल-स्पीति घाटी को आपस में जोड़ता है। यह हिमालय का एक प्रमुख दर्रा है जिसकी ऊंचाई 4590 मीटर है। कुंजुम देवी यहां की अधिष्ठात्री देवी हैं। कुंजुम माता का आशीर्वाद ले कर ही दर्रा पार करते हैं लोग। इस मंदिर की मुख्य बात यह है कि यहाँ भक्तों को यह भी पता चल जाता है कि उनकी मन्नत पूरी होगी या नहीं। लोग मंदिर में पूजा करते हैं और मंदिर के बीच में रखी माता कुंजुम की मूर्ति के सामने मन्नत मांगते हैं। माना जाता है कि मन्नत सच्चे मन से मांगी गई हो तो यहां जरूर पूरी होती है।

माता की मूर्ति में सिक्का चिपका तो मन्नत पूरी होगी

पूजा करने के बाद लोग माता की मूर्ति में एक सिक्का चिपकाने की कोशिश करते हैं। यदि सिक्का तुरंत चिपक गया तो आपकी मन्नत जरूर पूरी होगी। देश विदेश से पर्यटक इस मंदिर में अपनी मन्नत पूरी करने के लिए सिक्के चिपकाते हैं। ऐसा कहा जाता है की मन में किसी भी तरह का कपट हो तो बार-बार चिपकाने से भी सिक्का मूर्ति के साथ नहीं चिपकता है। लोसर गांव की कमेटी के सदस्य एवं पूर्व पंचायत प्रधान दोरजे छोपेल मंदिर का रखरखाव करते हैं। उनके अनुसार अक्सर ही सुंदर व चौड़ी सड़कों में दुर्घटनाएं देखने को मिल रही हैं लेकिन माता कुंजुम की अपार कृपा ही है कि यहां कभी कोई दुर्घटना नहीं होती तथा सभी राहगीर सुरक्षित अपनी मंजिल में पहुंच जाते हैं।


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments