Home > ख़बरें > भयंकर गर्मी के बीच सीएम योगी ने लिया ऐसा गरमा-गर्म फैसला, मुस्लिम संगठनों के छूटे पसीने !

भयंकर गर्मी के बीच सीएम योगी ने लिया ऐसा गरमा-गर्म फैसला, मुस्लिम संगठनों के छूटे पसीने !

yogi-triple-talaq

लखनऊ : देश कोई कुछ भी कर रहा हो लेकिन मीडिया और लोगों के दिलों पर तो यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ही छाए हुए हैं. प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश की जनता का कहना है कि उन्होंने योगी जैसा निडर और बेबाकी से फैसले लेने वाला सीएम पहले कभी देखा ही नहीं. जनता की राय को सही साबित करते हुए सीएम योगी ने इस बार मुस्लिम महिलाओं के लिए ऐसा ही एक और जबरदस्त फैसला लिया है.

ट्रिपल तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को आर्थिक सहायता !

दरअसल सीएम योगी ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर पीएम मोदी और मुस्लिम महिलाओं के साथ खड़े हैं और उन्होंने फैसला लिया है कि ट्रिपल तलाक से पीड़ित सभी मुस्लिम महिलाओं को यूपी सरकार कानूनी व् अन्य सरकारी सहायता देंगी. केवल इतना ही नहीं बल्कि ट्रिपल तलाक से पीड़ित महिलाओं को गुजर-बसर करने के लिए यूपी सरकार रानी लक्ष्मी बाई कोश से आर्थिक सहायता भी देगी.

इसे योगी सरकार का मास्टरस्ट्रोक माना जा रहा है क्योंकि कई महिलाएं इस डर से ट्रिपल तलाक के खिलाफ अपनी राय नहीं रख रही थी कि उनका गुजर-बसर कैसे होगा. लेकिन योगी के इस फैसले के बाद मुस्लिम महिलाएं खुलकर अपनी राय सामने रख सकेंगी और इससे पीएम मोदी को ट्रिपल तलाक ख़त्म करने के अपने वादे को पूरा करने में काफी मदद मिलेगी.


मुस्लिम महिलाओं की राय जानेगी सरकार !

यही नहीं बल्कि योगी सरकार ने सभी धर्मों की महिलाओं की सहायता के लिए रानी लक्ष्मीबाई कोश खोलने का फैसला भी ले लिया है. इसके साथ ही ट्रिपल तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मामले में योगी सरकार मुस्लिम महिलाओं का पक्ष रखने की तैयारी भी यूपी सरकार कर रही है.

सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम महिलाओं का साथ देने के लिए प्रदेश की सभी महिला मंत्रियों की तमाम सामाजिक संगठनों और मुस्लिम महिलाओं के साथ बैठक जारी है. 15 दिन के अंदर-अंदर इस बारे में एक रिपोर्ट तैयार हो जाएगी, जिसकी मदद से मुस्लिम महिलाओं का पक्ष सुप्रीम कोर्ट में अधिक मजबूत हो जाएगा.

सीएम योगी ने प्रदेश की मुस्लिम महिलाओं की ट्रिपल तलाक के बारे में राय जानने के लिए कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही सीएम योगी ने अनिवार्य विवाह पंजीकरण के लिये नियमावली से जुड़े जरुरी प्रस्ताव प्रस्तुत करने का भी निर्देश दिया है. गौरतलब है कि बीजेपी ने अपने चुनावी घोषणापत्र में वादा किया था कि यूपी में सरकार बनते ही वो ट्रिपल तलाक को ख़त्म करने की दिशा में तेजी से काम करेंगे, और सीएम योगी ने जिस तरह से ट्रिपल तलाक के खिलाफ हल्ला बोल दिया है उसे देखकर लगने लगा है कि अब वो दिन दूर नहीं जब समाज से ट्रिपल तलाक का सदा-सदा के लिए अंत हो जाएगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments