Home > ख़बरें > आतंकवाद के खिलाफ योगी आये मोदी के साथ, उठाया जबरदस्त कदम, खुश होकर बोले मोदी- शाबाश !

आतंकवाद के खिलाफ योगी आये मोदी के साथ, उठाया जबरदस्त कदम, खुश होकर बोले मोदी- शाबाश !

modi-yogi-against-terrorism

लखनऊ : आतंकवाद आज दुनिया की सबसे बड़ी समस्या बन चुका है. दुनिया के लगभग सभी देश आतंक से त्रस्त हैं और अपने-अपने स्तर पर आतंकवाद से लड़ रहे हैं. भारत तो प्रतिदिन आतंकवाद से जूझ रहा है. कश्मीर को लेकर आये दिन पाकिस्तान की ओर से आतंकी भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की कोशिशें करते ही रहते हैं. प्रधानमंत्री मोदी अकेले दम पर आतंकवाद से अब तक लड़ते आये थे लेकिन अब खबर आयी है कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी के आतंक ख़त्म करने के मिशन में एक बड़ा कदम उठाया है.

आतंकवाद पर योगी का प्रहार !

प्रधानमंत्री के कन्धों पर पूरे देश की काफी जिम्मेदारियां होती हैं, विकास की नीतियों के साथ-साथ, विदेश नीति व् अन्य कई अहम् मुद्दों पर एक साथ काम करना होता है. ऐसे में यदि राज्यों के मुख्यमंत्री सहायता करें तो काम आसान हो जाता है. पीएम मोदी के देश से आतंक को ख़त्म करने के मिशन के तहत सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश से आतंक को मिटाने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है.

जहाँ एक ओर उन्होंने प्रशासन को पूरी तरह से मुस्तैद रहने व् साम्प्रदायिक हिंसा करने वालों और आतंक फैलाने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने के आदेश दिए हुए हैं. वहीँ प्रदेश के नौजवान भटक कर आतंक की राह पर ना चलें जाएँ, इसके लिए उन्होंने एक योजना बनाई है.

“घर वापसी” कार्यक्रम !

योगी सरकार की इस योजना का नाम है “घर वापसी” कार्यक्रम और इसकी जिम्मेदारी यूपी एटीएस (एंटी टैरर स्कवॉड) को सौंपी गयी है. इस योजना का उद्देश्य नौजवानों को आतंकवाद की तरफ जाने से रोकना है. दरअसल कई बार ऐसे मामले सामने आये हैं, जिसमे परिवार को अपने किसी सदस्य पर शक होता है कि वो गुमराह होकर आतंकवाद के रास्ते पर जा रहा है

लेकिन इस बारे में वो कुछ नहीं कर पाते. उन्हें समझ ही नहीं आता कि आखिर वो करें तो करें क्या, किसके पास जाएँ, किससे मदद मांगे. ऐसे लोगों की मदद करने के लिए योगी सरकार ने हेल्पलाइन नंबर 0522-2304586 और 9792103156 जारी किये हैं. इन नंबरों पर संपर्क करके लोग अब इस बारे में सहायता प्राप्त कर सकते हैं.

इस सुविधा के द्वारा उन लोगों की मदद करने की कोशिश की गयी है, जो वाकई में मासूम होते हैं और उनका कोई सदस्य भटक कर आतंक के रास्ते पर चलने लगता है. इस सहायता के बावजूद भी यदि कोई आतंकी बन जाता है और प्रदेश में खूनी खेल खेलने की साजिश करता है तो ऐसे आतंकियों के खिलाफ नरमी ना बरतने के निर्देश भी जारी किये गए हैं.

माना जा रहा है कि योगी सरकार के इस कदम से प्रदेश में आतंक का नामो-निशान मिट जाएगा. यदि हर राज्य इसी तरह से आतंक के खिलाफ कमर कस ले तो देश से आतंकी गतिविधियों का पूरी तरह से सफाया होने में देर नहीं लगेगी.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments