Home > ख़बरें > बड़ी खबर -अयोध्या जाने से ठीक पहले सीएम योगी की एक और धमाकेदार कार्रवाई, मदरसों पर टूटा कहर

बड़ी खबर -अयोध्या जाने से ठीक पहले सीएम योगी की एक और धमाकेदार कार्रवाई, मदरसों पर टूटा कहर

नई दिल्ली : सीएम योगी के अभी हाल ही में अयोध्या में भगवान राम की 108 फ़ीट मूर्ति लगाने का एलान किया तो वहीँ दिवाली पर खुद सीएम योगी सरयू तट पर 1 लाख 70 हज़ार दिए जलाकर रिकॉर्ड बनाएंगे. जिसकी तयारी चल रही है. साथ ही अनेक योजनाएं बिजली कनेक्शन आदि सब दिवाली से एक दिन पहले ही लागु किया जाएगा. लेकिन अब जो खबर आ रही उसे सुन कर तो आप भी उछल पड़ेंगे. इतने कम समय में और इतनी तेज़ी से इतना बड़ा एक्शन सीएम योगी ने लेकर विरोधियों की पोल खोल दी है.


सीएम योगी का मदरसों पर टूटा कहर

आपको याद ही होगा कुछ वक़्त पहले ही सीएम योगी को फर्जी मदरसों की बहुत शकायतें मिली थी. जिसके बाद उन्होंने फैसला लिया कि सभी मदरसों की जानकारियां ऑनलाइन एक पोर्टल बनाकर उसपर डाली जाएँ. जिससे सिर्फ शुरूआती जांच में बड़े खुलासे में ही पता चला कि करीब 150 मदरसे सिर्फ कागज़ पर हैं, न छात्र हैं न शिक्षक लेकिन पिछले कई सालों से अखिलेश-मायावती सरकार में इन्हे मोटा पैसा मिलता रहा है. जिसके बाद अब इन मदरसों को बंद कर दिया गया है.

यही नहीं मदरसों की जानकारी पोर्टल पर आने के बाद अकेले आजमगढ़ जिले में ही अब तक 150 और मदरसों की जांच की जा चुकी है. इनमें से भी 50 मदरसे मानक के अनुसार नहीं मिले और उनका भी अब अस्तित्व हमेशा के लिए समाप्त कर दिया गया है. लेकिन शातिर लोगों ने यहाँ भी घपलेबाज़ी का मौका ढूंढ निकाला.


फर्जी सूचना भी डाल रहे थे

सीमा योगी ने ज़बरदस्त एक्शन लेते हुए मदरसों की फर्जी सूचना पोर्टल पर अपलोड करने वाले गिरोह की गिरफ़्तारी हुई है. इनपर आईटी एक्ट और विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी शुरू हो गई है. जिले में अब तक 527 मदरसों के बारे में जानकारी अपलोड की जा चुकी है. इसके साथ जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी के नेतृत्व में इन मदरसों की भौतिक जांच शुरू कर दी गई है.

जनता के पैसों को जमकर लुटाया

आपको बता दें पिछली सरकारों में ऐसे अनेक मदरसे धड़ल्ले से जनता के पैसों पर चल रहे थे. जिनका असल में कोई नामोनिशान भी नहीं था. योगी सरकार का उद्देश्य है कि जिले के सभी मदरसों को नियमों के तहत अपने मदरसे की फोटो, अध्यापकों की डिटेल, मौलवी की पूरी सूचना तथा छात्रों की स्थिति से अवगत कराया जाएगा. सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है मदरसों की जानकारी भरते समय सावधानी रखनी पड़ेगी क्योंकि इसमें परिवर्तन का कोई कालम नहीं हैं. एक बार जो आपने भर दिया वहीं अपलोड होगा.

आपको बता दें सीएम योगी ने अब मदरसों का लेखा जोखा सीधे तौर पर अपनी निगरानी में लेने की तैयारी शुरू कर दी है. अब तक बोर्ड परीक्षा में ऑनलाइन माध्यमिक शिक्षा की वेबसाइट पर इंटर कालेज के पूरे रिकार्ड होते थे लेकिन मदरसे नहीं थे. लेकिन अब जैसे जैसे जानकारी मिलती जायेगी मदरसों को साथ-साथ बंद कर दिया जाएगा.

यही वजह है कि कई वामपंथी मोदी सरकार के आधार कार्ड का विरोध करते हैं क्यूंकि आधार से पारदर्शिता आती है. आधार कार्ड आने से कई फर्जी गैस कनेक्शन, फर्जी बिजली कनेक्शन, फर्जी पानी कनेक्शन, फर्जी बैंक अकाउंट , फर्जी सिम कार्ड , फर्जी पान कार्ड बनाकर बांग्लादेशियों को घुसाना तो आपको पता ही होगा यानी सभी फर्जियों का कच्चा चिटठा खुल के सामने आ जाता है.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments