Home > ख़बरें > आप आईपीएल में व्यस्त है, वहां योगी ने ले लिया कर्जमाफी से भी बड़ा फैसला, रच दिया इतिहास !

आप आईपीएल में व्यस्त है, वहां योगी ने ले लिया कर्जमाफी से भी बड़ा फैसला, रच दिया इतिहास !

yogi-annapurna bhojnalaya

लखनऊ : यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को सुधारने के लिए दिन-रात एक कर दिए हैं. इन दिनों वो दिन में 18 से 20 घंटे काम कर रहे हैं, तड़के सवेरे लगभग 3.30 बजे से उनके दिन की शुरुआत होती है ओर वो आजकल तो रात एक बजे के बाद तक काम करते रहते हैं. गरीब किसानों के लिए अभी हाल ही में कर्ज माफ़ी करने के बाद अब योगी सरकार ने गरीबों के हित में एक ओर सबसे बड़ा फैसला लिया है, जिसकी देशभर में चर्चा होनी शुरू हो गयी है.


यूपी में कोई नहीं सोयेगा भूखा !

दरअसल तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन की तर्ज पर योगी सरकार ने यूपी में अन्नपूर्णा भोजनालय नाम की योजना की शुरआत करने का महा-फैसला किया है. आपको बता दें कि अम्मा कैंटीन में केवल 5 रुपए में अच्छी क्वालिटी का पेट भर खाना मिलता है जिससे गरीबों को भूखे पेट नहीं सोना पड़ता. अम्मा ब्रैंड पानी की बोतल ओर चाय भी वहां काफी मशहूर है.

लेकिन अब ये सब यूपी में भी मिलेगा. योगी सरकार गरीबों, मजदूरों, रिक्शा चालकों, कम तनख्वाह पाने वालों और नौकरीपेशा गरीब लोगों को केवल 3 रुपए में नाश्ता और 5 रुपए में खाना खिलाएगी. इस योजना का नाम “अन्नपूर्णा भोजनालय” रखा गया है ओर इसका ड्राफ्ट भी तैयार किया जा चुका है.

13 रुपये में नाश्ता, लंच और डिनर !

“अन्नपूर्णा भोजनालय” को प्रदेश के 14 नगर निगमों में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के तहत शुरू किया जाएगा. लखनऊ में 28, कानपुर में 28, गाजियाबाद में 20 और गोरखपुर में 18 कैंटीन पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर खोली जाएंगी. प्रदेश में ऐसी कुल 275 कैंटीन खोलने की योजना है, जिसमे तकरीबन 153.59 करोड़ रुपए का खर्च आने की बात कही जा रही है.


यदि कोई व्यक्ति एक दिन का नाश्ता, लंच और डिनर इस कैंटीन से करेगा तो उसे केवल 13 रुपये ही खर्च करने होंगे. हालांकि इसकी लागत लगभग 48 रुपये आएगी लेकिन ग्राहक से केवल 13 रुपये ही लिए जाएंगे ओर बाकी बचे 35 रुपए सरकार और कैंटीन चलाने वाले अपनी ओर से देंगे.

प्रीपेड टोकन ओर रिचार्ज कार्ड के जरिये भुगतान !

इस योजना के तहत सुबह नाश्ते में नमकीन दलिया के साथ चाय; चना और चाय; दो कचौड़ी/खस्ता/समोसा के साथ चाय; दो इडली, सांभर और चाय; बंद मक्खन, दो ब्रेड पकौड़ा और चाय; पोहा और चाय में से कोई एक चीज मिलेगी.

दोपहर व् रात के खाने में 6 रोटियों के साथ मौसमी सब्जी या अरहर दाल-चावल के साथ प्याज/अचार और हरी मिर्च या वेज बिरयानी मिलेगी. लोगों को पहले प्रीपेड टोकन या महीने का प्लास्टिक कार्ड लेना होगा जोकि आधार से जुड़ा होगा. एक बार लिया हुआ टोकन या कार्ड प्रदेश के किसी भी अन्नपूर्णा कैंटीन में मान्य होंगे. प्रीपेड टोकन एक हफ्ते के लिए मान्य होगा जबकि प्लास्टिक कार्ड मेट्रो कार्ड की तरह से रिचार्ज कराए जा सकेंगे.

यूपी सरकार की इस योजना की जबरदस्त तारीफ़ की जा रही है. गौरतलब है कि प्रदेश में गरीब लोगों को दो वक्त का खान तक नसीब नहीं होता, जिसके चलते कइयों को भूखे पेट ही सोना पड़ता है. लेकिन योगी के राज में ऐसा नहीं होगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments