Home > ख़बरें > राम मंदिर की नींव पर योगी ने जड़ा पहला पत्थर, एक ऐलान से साफ़ किये अपने अटल इरादे !

राम मंदिर की नींव पर योगी ने जड़ा पहला पत्थर, एक ऐलान से साफ़ किये अपने अटल इरादे !

yogi-adityanath-ram-mandir

नई दिल्ली : 2014 के लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीतने के बाद जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे तभी से अयोध्या में राम मंदिर बनाये जाने की मांग बढ़ गयी थी. बीजेपी के मेनिफेस्टो में भी जनता से मंदिर बनवाने का वादा किया गया था. इसके बाद उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत से बीजेपी की सरकार बनने और मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ को चुने जाने के बाद से लोगों को यकीन हो चला है कि अब जल्द ही राम मंदिर बनने की शुरुआत होने वाली है.


राम मंदिर की नींव पर योगी ने जड़ा पहला पत्थर !

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ योगी घुमाफिरा के बात करने वाले नेता नहीं हैं और अपने गोरखपुर दौरे के दौरान उहोने अपने इरादे साफ़ भी कर दिए हैं. दरअसल सीएम बनने के बाद अपने गोरखपुर दौरे के दूसरे दिन योगी ने भगवान श्री राम की महिमा का जबरदस्त बखान किया.

अपने संबोधन के दौरान उन्होंने हिन्दुओं के पवित्र ग्रन्थ “रामचरित मानस” के रचयिता तुलसीदास का जिक्र छेड़ते हुए कहा कि तुलसीदास जी ने कभी भी अपने तत्कालीन बादशाह अकबर को अपना राजा नहीं माना था. तुलसीदास जी के मुताबिक़ भारत के एक मात्र राजा “श्री राम” ही थे, कोई अन्य नहीं.

योगी ने कहा कि इसके चलते गोस्वामी तुलसीदास ने “राजा रामचन्द्र की जय” का नारा भी दिया था. उनके इस बात के बाद से मीडिया में चर्चा तेज हो गयी हैं कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सीधे तौर पर अपने इरादे समझा दिए हैं कि जैसे गोस्वामी तुलसीदास भारत केवल भगवान् राम को ही भारत का राजा मानते थे ठीक वैसे ही वो भी उन्हें ही अराध्य मानते हैं और राज्य में उनके मंदिर को लेकर बेहद गंभीर भी हैं.


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ माना जा रहा है कि योगी ने अपने इस बड़े बयान के जरिये राम मंदिर निर्माण में पहला पत्थर जड़ दिया है क्योंकि पिछले एक दशक में प्रदेश के किसी भी मुख्यमंत्री ने भगवान्इ राम पर इस तरह का बड़ा बयान जारी नहीं किया था. वैसे भी यूपी सरकार की ओर से रामायण म्यूजियम के लिए 25 एकड़ जमीन देने का एेलान कर दिया गया है. योगी की सरकार बनते ही खबर आयी थी कि अयोध्या में बनने वाले इस म्यूजियम के निर्माण का काम हफ्ते भर में शुरू हो जाएगा.

मोदी के उत्तराधिकारी बनेंगे योगी !

जानकारों के मुताबिक़ योगी के दिए गए कथनों से साफ़ तौर पर दिखाई देता है कि उनका हिन्दू धर्म के प्रति अटूट श्रद्धा और विश्वास है. जिस तरह से वो बड़े-बड़े फैसले लेने में बिलकुल भी हिचकिचा नहीं रहे हैं, उससे ये बात स्पष्ट है कि उनके कार्यकाल के दौरान ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा और इसपर काम जल्द ही शुरू हो जाएगा.

जानकारों के मुताबिक़ अवैध कत्लखानों, गौ तस्करी पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने के बाद राम मंदिर के निर्माण होते ही योगी का नाम इतिहास में सदा के लिए अमर हो जाएगा. उनकी प्रसिद्धि पूरे देश में इतनी जबरदस्त हो जायेगी कि वो सीधे राष्ट्रीय राजनीति में प्रवेश कर जाएंगे और नितीश, मुलायम, लालू सबको पीछे छोड़ते हुए प्रधानमंत्री पद के प्रबल दावेदार बन जाएंगे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ योगी द्वारा लिए जा रहे फैसलों को देखते हुए और उनके कथनों को सुनते हुए ये बात सौ फ़ीसदी तय मानी जा रही है कि योगी ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तराधिकारी बनेंगे. वहीँ सोशल मीडिया में भी उनके इस बयान को लेकर प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गयी हैं. लोगों ने ट्वीट करके लिखा है कि योगी के इस बयान से स्पष्ट है कि वो राम मंदिर को लेकर कोई गोलमोल बात नहीं करना चाहते और अपने कार्यकाल में मंदिर बनाकर ही रहेंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments