Home > ख़बरें > सेना ने ठोका पाकिस्तान को तो जोश में आये योगी ने ठोक दिया भ्रष्टाचारियों को, लिए हाहाकारी फैसले !

सेना ने ठोका पाकिस्तान को तो जोश में आये योगी ने ठोक दिया भ्रष्टाचारियों को, लिए हाहाकारी फैसले !

yogi-strike-corruption

लखनऊ : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ तो पहले दिन से ही लगातार बड़े-बड़े फैसले लेते जा रहे हैं. पहले कुछ लोगों को को लगा था कि शायद शुरू-शुरू में योगी भी बाकी मुख्यमंत्रियों की तरह तेजी से काम करेंगे लेकिन बाद में सब शांत हो जाएगा और स्थिति ज्यों कि त्यों ही रहेगी लेकिन सीएम योगी ने ऐसे लोगों की धारणा को गलत साबित करते हुए अपने काम की रफ़्तार को धीमा करने की जगह और भी तेज कर लिया. इसी सिलसिले में मंगलवार सुबह सीएम योगी ने कई बड़े फैसले लिए.

ठेकों में भ्रष्टाचार ख़त्म !

इनमे सबसे पहले और सबसे अहम् फैसला है, ई-टेंडरिंग का फैसला. पिछली सरकारों में पारदर्शिता ना होने के कारण सरकारी ठेकों में बड़ी हेर-फेर होने की ख़बरें सामने आती रहती थी. ठेकों को मंत्रियों के रिश्तेदारों व् अन्य रसूखदारों में बांटने की शिकायतें भी अक्सर मिलती रहती थी लेकिन योगी सरकार के इस फैसले के मुताबिक़ अब यूपी में सभी विभागों के ठेके ई-टेंडरिंग के जरिये किये जाएंगे.

यानी ठेकों से जुडी तमाम जानकारियां लोग ऑनलाइन चेक कर सकेंगे और इस तरह से ठेके बांटने का किस्सा सदा के लिए ख़त्म हो जाएगा. योगी कैबिनेट ने अपने इस फैसले में आदेश दिया है कि ई-टेंडरिंग की प्रक्रिया को अगले तीन महीने के अंदर-अंदर लागू कर दिया जाए. इसके लिए एक यूपी इलेक्ट्रॉनिक्स नोडल एजेंसी भी बनाई गई है.

खनन के विषय में फैसला !

एक घंटे तक चली कबिनेट बैठक में योगी सरकार ने जनहित से जुड़े 6 अहम् फैसले लिए. ई टेंडरिंग के ज़रिए भ्रष्टाचार दूर करने की कोशिश के साथ-साथ खनिज फाउंडेशन के ज़रिए कल्याणकारी कामों पर ज़ोर दिया गया है. अप्रैल 2015 में केंद्र की मोदी सरकार की ओर से ये अधिसूचना जारी की गयी थी कि इसके लिए जिले स्तर पर कमेटी बनेगी लेकिन अखिलेश सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया.

लेकिन अब योगी सरकार के फैसले के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश खनिज फॉउंडेशन बनाया जाएगा. जो पर्यावरण से लेकर महिला बाल विकास व् कई अन्य कल्याणकारी काम करेगा. एक गवर्निंग काउंसिल बनाया जाएगा जो इस फाउडेंशन पर नज़र बनाये रहेगा ताकि किसी तरह का भ्रष्टाचार या कामचोरी ना हो. जिले में चल रही पेयजल, शिक्षा, सिंचाई व् अन्य विकास योजनाओं पर खर्च होगा.

प्रदेश स्थापना दिवस !

स्थापना दिवस तो हर राज्य के लिए स्वाभिमान की बात है. योगी सरकार ने फैसला लिया है कि प्रदेश में प्रतिवर्ष 24 जनवरी को स्थापना दिवस मनाया जाएगा. राज्य सरकार के सूचना विभाग, पर्यटन विभाग और सांस्कृतिक विभाग को इस उत्सव से जोड़ा जाएगा और धूम-धाम से स्थापना दिवस मनाया जाएगा, जिससे प्रदेश के लोगों को अपने राज्य पर गर्व और आत्मसम्मान और भी ज्यादा बढ़ेगा.


जमीन ट्रांसफर में स्टाम्प ड्यूटी की छूट !

पिछले साल केंद्र की मोदी सरकार ने गोरखपुर में खाद्य कारखाने में बड़े निवेश का निर्णय लिया था, लेकिन पिछली सरकार के निक्कमेपन के चलते इसकी रफ्तार काफी धीमी रही. अब योगी सरकार ने जमीन ट्रांसफर में स्टाम्प ड्यूटी की छूट के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. खाद्य कारखाने में निवेश होने से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से क्षेत्रीय किसानों को काफी लाभ मिलेगा.

नई तबादला नीति !

अधिकारियों के तबादले को लेकर योगी सरकार ने बड़ा फैसला किया है. जनपद में 3 वर्ष और मंडल में 7 वर्ष तबादले की सीमा तय की गई है. दिव्यांगों को इस तरह के तबादलों से तकलीफ ना हो, इसलिए उन्हें इससे बाहर रखा गया है. समूह क, ख के कर्मचारियों के तबादले विभाग अध्यक्ष करेंगे. तबादले की अधिकतम सीमा 20 प्रतिशत निर्धारित की गयी है.

1 जून से लागू होगा जीएसटी !

1 जून से जीएसटी लागू होगा. इसके लिए 16 मई को विधानसभा सत्र बुलाकर जीएसटी को पारित किया जाएगा. जिन लोग का टर्नओवर 20 लाख या इससे ज्यादा है, वो इसके दायरे में आएंगे. इससे प्रदेश का राजस्व बढ़ेगा, जिसके जरिये से प्रदेश में विकास और भी तेजी से किया जा सकेगा.

एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स !

गौरतलब है कि इससे पिछली कैबिनेट की बैठक में भी सीएम योगी ने कई अहम् फैसले लिए थे. योगी सरकार ने भू-माफियाओं पर नकेल कसने के लिए और जमीनों से अवैध कब्जे हटाने के लिए एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स गठित करने का फैसला किया था. पिछले सरकारों में नेताओं की मिलीभगत के चलते प्रदेश में भू-माफियाओं का आतंक था, सरकारी जमीनों पर उनके कब्जे हैं लेकिन अब ये सब ज्यादा दिन नहीं चलेगा.

छुट्टियां नहीं काम करो !

इसके अलावा देश में पहली बार योगी सरकार ने महापुरुषों की जयंती और शहीद दिवस पर छुट्टियां रद्द करने का फैसला भी लिया था. महापुरुषों की जयंती और शहीद दिवस के नाम पर काम ना करने के बहाने पर सीएम योगी ने टिपण्णी करते हुए कहा था कि इन दिनों दफ्तर आ कर महापुरुषों के जीवन के बारे में जानना चाहिए ना कि घर बैठकर छुट्टी मनानी चाहिए. इसलिए कैबिनेट ने 15 महापुरुषों की जयंती पर छु्ट्टियां रद्द करने की घोषणा की थी. अब महापुरुषों की जयंती पर सभी स्कूल-कॉलेजो में एक घंटे का कार्यक्रम किया जाएगा. इन मौकों पर सरकारी दफ्तर भी खुलेंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments