Home > ख़बरें > योगी के धुआंधार फैसलों से जल गयी अखिलेश यादव के सपनों की लंका, समाजवादी पार्टी में हड़कंप !

योगी के धुआंधार फैसलों से जल गयी अखिलेश यादव के सपनों की लंका, समाजवादी पार्टी में हड़कंप !

yogi-akhilesh-pension-yojna

लखनऊ : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भ्रष्टाचार को बर्दाश्त करने के मूड में बिलकुल भी नहीं हैं. पिछली सरकार के वक़्त चलाई गयी कई योजनाओं में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिलने पर या तो उन्होंने वो बंद करा दीं या उनपर जांच बिठा दी. इसी सिलसिले में अब योगी सरकार ने अखिलेश यादव के एक और ड्रीम प्रोजेक्ट पर हथोड़ा चला दिया है, जिससे समाजवादी पार्टी सकते में है.

समाजवादी पेंशन योजना बंद !

दरअसल योगी सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सबसे बड़ी “समाजवादी पेंशन योजना” पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है. सूत्रों के मुताबिक़ इस पेंशन योजना के जरिये प्रदेश में बड़े पैमाने पर घपला चल रहा था. कई ऐसे लोगों को पेंशन दी जा रही थी जो इसके पात्र हैं ही नहीं, यहाँ तक कि ख़बरों के मुताबिक़ कई ऐसे व्यक्तियों के नाम पर सरकारी पैसे से पेंशन ली जा रही थी जो अब जीवित भी नहीं हैं.

घपले की बू आते ही सोमवार देर रात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तत्काल प्रभाव से ना केवल इस योजना को बंद करने के आदेश दिए बल्कि इसके पात्रता की जांच के आदेश भी जारी कर दिए. समाजवादी पेंशन योजना ना केवल अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक थी बल्कि इसी योजना के सहारे विधानसभा चुनाव में अखिलेश अपनी नैय्या पार लगाने के ख़्वाब भी देख रहे थे.


समाजवादी पेंशन के तहत अखिलेश सरकार महिलाओं को हर महीने 500 रुपये की पेंशन देती थी. चुनाव के दौरान अखिलेश यादव घूम-घूमकर समाजवादी पेंशन योजना को दोगुना करके 1000 रुपये करने का वादा भी कर रहे थे. लेकिन योगी सरकार फिलहाल इस योजना को रोक कर इसकी जांच कराने जा रही है. ख़बरों के मुताबिक़ योगी सरकार इसे रोक कर, इसकी जांच कराकर इसे एक नए रूप में पेश करेगी जिससे इसका फावड़ा सही मायनो में उसे मिले जो सुपात्र हैं, गरीब हैं.

साइकिल ट्रैक पर चल सकता है हथौड़ा !

अखिलेश यादव की एक और ड्रीम प्रोजेक्ट पर भी ग्रहण लगने वाला है. खबर है कि राज्य भर में बनाए साइकिल ट्रैक्स भी अब योगी सरकार के निशाने पर हैं. सड़कों के चौड़ीकरण के लिए योगी सरकार ने इन साइकिल ट्रैक्स को तोड़ने पर चर्चा कर ली है, हालांकि अभी इस पर अंतिम फैसला नहीं हुआ है लेकिन जल्द ही इन साइकिल ट्रैक्स को तोड़ने के आदेश जारी हो सकते हैं.

हट चुकी है अखिलेश की तस्वीर !

गौरतलब है कि इससे पहले समाजवादी एंबुलेंस, अखिलेश के तस्वीर वाले राशन कार्ड, समाजवादी नमक जैसी कई योजनाओं के नाम भी बदले जा चुके हैं. योगी सरकार ने सरकारी योजनाओं से समाजवादी शब्द हटा कर केवल मुख्यमंत्री शब्द जोड़ने का फैसला किया है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments