Home > ख़बरें > पीएम मोदी ने योगी आदित्यनाथ पर खेला एक और दांव, बिहार में नितीश-लालू की खटिया हुई खड़ी !

पीएम मोदी ने योगी आदित्यनाथ पर खेला एक और दांव, बिहार में नितीश-लालू की खटिया हुई खड़ी !

yogi-adityanath-pm-modi-nitish-kumar

लखनऊ : पीएम मोदी की लोकप्रियता केवल देश में ही नहीं बल्कि विदेशों तक में है. अपनी लोकप्रियता के दम पर उन्होंने प्रचंड बहुमत से लोकसभा का चुनाव जीता और प्रधानमंत्री बन गए. पीएम मोदी के बाद हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता भी कुछ कम नहीं है. काम करने के अपने तेज-तर्रार तरीके की वजह से सीएम योगी भी देशभर में चर्चा में बने हुए हैं. अब खबर आ रहीं है कि सीएम योगी भी पीएम मोदी की तरह यूपी के बाहर भी अपने विरोधियों को धूल चटाने का मन बना रहे हैं.


लालू-नीतीश को सीधी टक्कर देंगे योगी

दरअसल यूपी और उत्तराखंड का चुनाव भारी बहुमत से जीत कर बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाने का जो ऐतिहासिक फैलसा लिया, उसकी वजह से बीजेपी की लोकप्रियता कई गुना तक बढ़ चुकी है. सीएम योगी ने पार्टी की अपेक्षाओं से आगे निकल कर पूरी मेहनत से ये सिद्ध किया कि मुख्यमंत्री बनने के लिए वो ही सबसे योग्य व्यक्ति हैं.

2019 के लोकसभा के चुनाव पास आ रहे हैं और बीजेपी ने भी चुनाव की तैयारी के लिए कमर कस ली है. बीजेपी इस बार सीएम योगी आदित्यनाथ को बड़ी जिम्मेदार सौंपने का मन बना चुकी है. इसी के साथ सीएम योगी का सफर प्रदेश के बाहर की राजनीति के लिए भी शुरू हो जाएगा. मोदी सरकार के तीन वर्ष पूरा होने के अवसर पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पटना में जनसभा को संबोधित कर लालू प्रसाद और नीतीश कुमार को सीधी चुनौती देंगे.


पीएम मोदी को भी ऐसे ही पार्टी ने धीरे-धीरे जिम्मेदारियां सौंपी थी, वो जिम्मेदारियों को बखूबी निभाते गए और देश के प्रधानमन्त्री बन गए. इसी तरह बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मोदी सरकार के 3 वर्ष पूरे होने के अवसर पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या को पटना और नालंदा में जनसभा आयोजित कर जनता को मोदी सरकार की उपलब्धियां बताने को कहा है.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पटना में जनसभा करेंगे सरकार की उपलब्धियां जनता तक पहुचायेंगे और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य नालंदा में जनसभा को संबोधित करके जनता तक सरकार की बात पहुचायेंगे. नालंदा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का गृह जिला है और मौर्या भी उसी कुर्मी जाति से ताल्लुक रखते हैं, जिससे नीतीश हैं.

27 से 30 मई के बीच किसी दिन योगी आदित्यनाथ पटना में जनसभा कर सकते हैं. सीएम योगी के कामों से सारा देश बेहद खुश है, ऐसे में पार्टी उन्हें ये जिम्मेदारी सौंप कर उनकी लोकप्रियता के माध्यम से अपनी बात जनता तक पहुँचाना चाहती है. प्रदेश के बाहर की जिम्मेदारियां मिलने से भविष्य में योगी के राष्ट्रीय राजनीति में कदम रखने के अवसर बढ़ जाएंगे और फिर वो राष्ट्रीय स्तर के बड़े नेता के रूप में जाने जाएंगे. ऐसे में पार्टी उन्हें पीएम मोदी के उत्तराधिकारी के रूप में भी घोषित कर सकती है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments