Home > ख़बरें > मुलायम के राज में योगी पर हुई बर्बरता और अत्याचारों की ये कहानी देख आपका दिल दहल जाएगा

मुलायम के राज में योगी पर हुई बर्बरता और अत्याचारों की ये कहानी देख आपका दिल दहल जाएगा

mulayam-singh-yadav-yogi-adityanath

नई दिल्‍ली : यूपी विधानसभा चुनाव में पश्च‍िमी यूपी में प्रचार की जिम्मेदारी योगी आदित्यनाथ ने अपने कन्धों पर ले कर कई चुनावी सभाएं की. मोदी लहर के साथ योगी के नाम का ऐसा डंका बजा कि गोरखपुर की सभी विधानसभा सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की. इसी के साथ पूरे राज्य में बीजेपी ने 325 सीटों पर कब्जा जमा कर केसरिया परचम लहराया.

मुलायम के राज में योगी की प्रताड़ना !

बीजेपी के बेहद मजबूत और कद्दावर नेता के तौर पर प्रसिद्ध योगी आदित्य‍नाथ एक बार लोकसभा में यूपी पुलिस की बर्बरता का वर्णन करते हुए रो पड़े थे. 2006 में लोकसभा में यूपी पुलिस‍ की प्रताड़ना का जिक्र करते हुए योगी रोने लगे थे, उस वक़्त यूपी के सीएम मुलायम सिंह यादव थे.

दरअसल उन दिनों पूर्वांचल के कई कस्बों में सांप्रदायिक हिंसा फैली हुई थी. योगी ने लोकसभा में बताया था कि कैसे मुलायम तुष्टिकरण के लिए पुलिस का मनमाने तरीके से इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने बताया था कि जब वो गोरखपुर जा रहे थे तब यूपी पुलिस ने उन्हें शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया और जिस मामले में उन्हें केवल 12 घंटे हिरासत में रखा जा सकता था, उस मामले में गैर-कानूनी तरीके से उन्हें 11 दिन जेल में बंद रखा गया.

योगी के खिलाफ सपा सरकार का षड्यंत्र ?

उन्होंने बताया कि यूपी की सपा सरकार उनके खिलाफ षड्यंत्र कर रही है और उन्हें जान का खतरा भी है. दरअसल इस पूरी घटना की शुरुआत तब हुई जब किसी ने पूर्वांचल में आजमगढ़ के छात्र नेता रह चुके अजित सिंह की हत्या कर दी. बताया जाता है कि जब योगी आदित्यनाथ अपने काफिले के साथ अजित सिंह की तेरहवीं की पूजा में शामिल होने के लिए जा रहे थे, तभी तकिया गांव में एक वर्ग विशेष के लोगों द्वारा योगी के काफिले को चारों ओर से घेर कर घातक हमला कर दिया गया था.

हमला इतना भयंकर था कि योगी के कई समर्थक लहूलुहान तक हो गए थे. योगी की जान पर ख़तरा देखते हुए उनके सिक्योरिटी गार्ड को गोली भी चलानी पड़ी थी, जिसके कारण एक गोली हमलावर भीड़ में से एक युवक को लग गयी और उसकी जान चली गयी थी.

इसके बाद इस पूरे मामले ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया और आजमगढ़ व् उसके आसपास के इलाकों में हिंसा फ़ैल गयी. इस घटना के लिए योगी और उनके समर्थकों को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके ऊपर कई मुकदमे दर्ज किये गए थे.


पुलिस ने लगवा दी थी पीएसी !

जिसके बाद खबर आयी थी कि पुलिस ने प्रांतीय सशस्त्र बल का इस्तेमाल करते हुए योगी के ठिकानों पर जा-जाकर बड़ी संख्या में योगी समर्थकों को गिरफ्तार किया गया था. खबर ये भी आयी थी कि राजनीतिक दबाव के चलते जेल में पुलिस मनमाने तरीके से योगी समर्थकों पर बर्बरता कर रही थी, जिसके बाद पुलिस के डर से कई योगी समर्थक अपना गाँव छोड़कर भी चले गए थे.

पूरी तरह से हताश हो चुके योगी ने तब अपने दुःख का वर्णन लोकसभा में किया. यूपी पुलिस के आतंक, प्रताड़ना और बर्बरता के बारे में बताते हुए योगी की आँखें भर आयीं और वो सदन में सबके सामने फूट-फूट कर रोने लगे थे.

ये योगी की प्रबल इच्छाशक्ति ही थी जिसके चलते विरोधी उनका मनोबल नहीं तोड़ पाए. योगी लगातार संघर्ष करते रहे और मुलायम व् सपा सरकार की तुष्टिकरण की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद करते रहे. और आखिरकार आज सपा सरकार को बुरी तरह से पछाड़कर यूपी के मुख्यमंत्री बन गए.

आप भी देखिये इस विडियो को

योगी आदित्यनाथ आज लेंगे सीएम पद की शपथ.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments