Home > ख़बरें > इस बड़े मुस्लिम नेता ने पर्सनल लॉ बोर्ड को लेकर खोला सबसे बड़ा राज़, ओवैसी समेत मुस्लिम संगठन रह गए सन्न

इस बड़े मुस्लिम नेता ने पर्सनल लॉ बोर्ड को लेकर खोला सबसे बड़ा राज़, ओवैसी समेत मुस्लिम संगठन रह गए सन्न

board

नई दिल्ली : राम मंदिर का मुद्दा इस वक़्त सुप्रीम कोर्ट में है जिसकी सुनवाई तारिख डर तारिख आगे बढ़ती जा रही है. तो मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड में भी फूट पड़नी शुरू हो गयी है. बोर्ड के सदयस्ता सलमान नदवी ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने की बात पर कहा , मस्जिद तो कहीं और भी बनायीं जा सकती है. जिसके बाद से उन्हें बोर्ड से निकाल दिया गया है. तो वहीँ अब अपनी बेबाकी के लिए जाने वाले बड़े मुस्लिम नेता ने पर्सनल लॉ बोर्ड को लेकर बहुत बड़ा खुलासा कर दिया है.


अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी ने रविवार को कहा कि कट्टरपंथी मानसिकता के लोग जो अपने को तथाकथित मुसलमान कहते हैं, वह हिंदुस्तान के लिए खतरा बनते जा रहे हैं.

रिज़वी ने पर्सनल लॉ बोर्ड को लेकर किया बड़ा खुलासा

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के मुसलमानों से संबंधित अहम फैसले पाकिस्तान और सऊदी अरब के आतंकवादी संगठन तय करते हैं. इसके बाद उन्होंने बेहद चौंकाने वाली बात कही उन्होंने कहा “मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इन आतंकवादी संगठनों की एक शाखा है, जो इनकी विचारधाराओं पर चलते हुए देश का माहौल खराब कर रहा है.”

रिज़वी ने कहा “अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए और मुसलमान अपनी मस्जिद वहां से दूर किसी गैर विवादित जगह पर बनाएं यही एक मात्र रास्ता है”. देश में अमन और भाईचारा कायम करने वाले नदवी को सच बोलते हुए अपनी बात कहने की सजा मिली, और उन्हें निकाल दिया गया.


जाकिर नायक है मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का सदस्य

रिजवी ने कहा कि सलमान नदवी साहब उप्र शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड द्वारा दिए गए फॉर्मूले से लगभग सहमत हैं, और उन्होंने भी वही बात कही है, जो उप्र शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने कही है. लेकिन उनके साथ अन्याय हो रहा है, तानाशाही करते हुए उन्हें निकाल दिया गया. लेकिन आप जानकर हैरान हो जायेगे, रिज़वी ने बड़ा खुलासा किया “जाकिर नायक जैसा आतंकवादी जिसको हिंदुस्तान ने भगोड़ा घोषित कर रखा है, वह आज तक मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का सदस्य है, उसे आज तक मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से नहीं निकाला गया”

असदुद्दीन ओवैसी ने बताया मोदी के इशारों पर हो रहा सब

इसके बाद उन्होंने कहा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को आतंकवादी संगठन मानते हुए प्रतिबंधित कर देना चाहिए. तो वहीँ राम मंदिर में सबसे बड़ी अपनी टांग अड़ाये मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सोमवार को कहा कि मौलाना सलमान हुसैनी नदवी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) में दरार डालने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारों पर काम कर रहे हैं.

शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष रिज़वी हर बार अपनी बेबाकी से बात रखते आये हैं, इससे पहले शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी मदरसों को खत्म करने की पैरवी भी कर चुके हैं. इस संबंध में वसीम रिजवी प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर मदरसों को शिक्षा के मुख्यधारा से जोड़ने की मांग कर चुके हैं.

आपको याद दिला दें रिजवी ने मदरसों को आतंक का अड्डा बताते हुए उन्हें ख़त्म किये जाने की मांग भी की थी. उन्होंने सवाल उठाये थे कि आखिर क्या वजह है कि मदरसों से इंजिनियर या डॉक्टर नहीं निकलते हैं बल्कि कुछ मदरसों से आतंकी जरूर निकलते हैं. रिजवी ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मदरसा बोर्ड भंग करने की मांग की थी.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल

हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments

2016 DD Bharti |