Home > ख़बरें > पीएम मोदी के हाथ लगी सबसे बड़ी सफलता, जेल गया सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी, कांग्रेस के हाथ-पाँव फूले !

पीएम मोदी के हाथ लगी सबसे बड़ी सफलता, जेल गया सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी, कांग्रेस के हाथ-पाँव फूले !

modi-malya

नई दिल्ली : पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव से पहले देश की जनता से वादा किया था कि वो देश से भर्ष्टाचार का नामो-निशान मिटा देंगे. उन्होंने कहा था कि वो किसी भी भर्ष्टाचारी को नहीं बख्शेंगे और अभी-अभी आयी एक खबर से आप को भी यकीन हो जाएगा कि वो अपने वादों को लेकर कितने गंभीर हैं.


लंदन में विजय माल्या गिरफ्तार !

ख़बरों के मुताबिक़ बैंकों का लोन लेकर फरार कारोबारी विजय माल्या को स्कॉटलैंड यार्ड ने लंदन में गिरफ्तार कर लिया है. वेस्टमिंस्टर कोर्ट के आदेश के बाद उनकी गिरफ्तार हुई है. अब उनकी कोर्ट में पेशी होगी. गौरतलब है कि मोदी सरकार ने विजय माल्या को भगोड़ा घोषित किया हुआ है और साथ ही उनके प्रत्यर्पण की पूरी कोशिशों में लगी हुई थी, जिसके फलस्वरूप मोदी सरकार को आज बड़ी सफलता हाथ लगी है.

माल्या पर कई भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज ना चुकाने का आरोप है. ख़बरों के मुताबिक़ स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने कहा है कि भारत सरकार के अनुरोध पर ही माल्या की गिरफ्तार हुई हैै. भारत-इंग्लैंड के बीच हुई संधि के तहत माल्या की गिरफ्तारी की गयी है.

मोदी सरकार को बड़ी सफलता !

भारत सरकार ने ब्रिटेन से माल्या के प्रत्यर्पण का आग्रह किया था, जिसे ब्रिटेन सरकार ने जिला जज को भेजा था. अब “म्युचुअल लीगल सहायता संधि” के तहत ब्रिटेन सरकार माल्या का भारत में प्रत्यर्पण करेगी. विजय माल्या के मामले में कांग्रेस की ओर से बीजेपी पर ये कहकर कीचड उछाला गया था कि बीजेपी सरकार ने माल्या की देश से भागने में सहायता की है, हालांकि बाद में सामने आयी कुछ फाइलों से खुलासा हुआ था कि माल्या को ज्यादातर कर्जे कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में ही दिए गए.


मोदी सरकार की ओर से ऐलान किया गया था कि माल्या को किसी भी कीमत पर देश वापस लाया जाएगा. सरकार के आदेश के बाद ईडी औऱ सीबीआई समेत तमाम जांच एजेंसियां माल्या की घेराबंदी करने में जुट गई थीं. साथ ही साथ माल्या को देश वापस लाने के लिए भारत सरकार की ओर से कूटनीतिक प्रयास भी किये गए, जिसके तहत ब्रिटेिश सरकार को चिट्ठी भी लिखी भेजी गयी थी.

आखिरकार मोदी सरकार के प्रयासों को सफलता मिली और अब माल्या की गिरफ्तारी के बाद सभी प्रक्रियाओं को पूरा कर भारत सरकार माल्या को देश वापस लाएगी. माल्या के गिरफ्तार होने के बाद मोदी सरकार का बयान आया है, जिसके मुताबिक़ सरकार भ्रष्टाचार के मामले को लेकर बेहद सख्त है. वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि किसी भी भर्ष्टाचारी को बख्शा नहीं जाएगा.

पिछले साल 2 मार्च को माल्या देश छोड़कर ब्रिटेन भाग गए थे, जबकि इसके कुछ दिन बाद ही 30 मार्च, 2016 को सुप्रीम कोर्ट ने माल्या को उनके पासपोर्ट के साथ व्यक्तिगत रूप से पेश होने को कहा था. जिसके बाद भारत सरकार ने माल्या को देश वापस लाने के लिए हर स्तर पर तैयारियां शुरू कर दीं थी. 8 फरवरी, 2017 को भारत ने ब्रिटेन सरकार को भारत-ब्रिटेन प्रत्यर्पण संधि के तहत माल्या के प्रत्यर्पण का औपचारिक आग्रह किया था.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments