Home > ख़बरें > अभी-अभी : अमेरिका ने किया पाकिस्तान पर घातक प्रहार, एक ही वार से तोड़ दी नवाज़ की कमर

अभी-अभी : अमेरिका ने किया पाकिस्तान पर घातक प्रहार, एक ही वार से तोड़ दी नवाज़ की कमर


नई दिल्ली : पीएम मोदी के अमेरिका दौरे पर आतंकवाद का मुद्दा उठाने और आतंकवाद प्रेमी देशों को धूल चटाने वाली बातों का एक्शन अब दिखने लगा है. पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति बद्द से बदतर होती जा रही है. आने वाले कुछ सालों में ही पाक में आर्थिक आपातकाल जैसे स्थिति खड़ी होने वाली है. खतरनाक आतंकवादी संगठनों को पालने पोसने में पूरी मदद देने वाला पाकिस्तान को अब अमेरिका ने 440 वाल्ट जितना तगड़ा झटका दिया है.

भारत के साथ दोस्ती और पाकिस्तान को धमकी

जहाँ एक तरफ पाकिस्तान के पीएम नवाज़ शरीफ पूरे परिवार समेत करोड़ों रुपयों की बड़ी धांधली में फंसे हुए हैं और जांच एजेंसियों के सामने पेश हो रहे हैं वहीँ दूसरी तरफ अमेरिका ने अपने इस नए कानून में जहाँ भारत के साथ रक्षा सहयोग में बिलियन डॉलर देने की मदद की पेशकश करी हैं साथी ही आधुनकि हथियार कि बड़ी खेप के सौदे भी भारत के साथ करेगा, तो वहीँ पाकिस्तान को 651 अरब डॉलर वित्तीय मदद ना देने का पूरी तरह मन बना लिया है. क्यूंकि अमेरिका ने पाकिस्तान के सामने जो तीन शर्तें रक्खी है उसे नवाज़ शरीफ इस जन्म में तो क्या अगले दस जन्म भी ले लेंगे तो पूरा नहीं कर पाएंगे.

अमेरिका की पाकिस्तान को दो टूक, नहीं देगा एक धेला भी, रख दी तीन नामुमकिन शर्तें

US की प्रतिनिधि सभा ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 651 अरब डॉलर वाली वित्तीय सहायता देने पर सबसे बड़ी शर्त तो नवाज़ शरीफ के सामने करो या मारो वाली रख दी है. सबसे बड़ी शर्त रक्खी गयी है कि पाकिस्तान को आतंकवाद को अपने देश ख़त्म करना होगा साथ ही पाक को अमेरिका को भरोसा दिलाना होगा कि पाक आतंकवाद के विरुद्ध है. ऐसा कभी पाकिस्तान कर नहीं सकता इसलिए मरना तो तय है. आगे अमेरिका ने कहा है कि अगर पाकिस्तान आतंकवाद से लड़ाई नहीं करेगा तो ना केवल उसे 651 अरब डॉलर की वित्तीय सहायता से हाथ गंवाना पड़ेगा बल्कि अमेरिका की सख्त कार्यवाही का सामना भी करना पड़ेगा.

आपको अमेरिका की सख्त कार्यवाही अफ़ग़ानिस्तान में दिख सकती हैं जहाँ अमेरिका और NATO की फाॅर्स मिलकर ज़ोरदार बमबारी कर रही है आतंकवादियों का खात्मा कर रही है. अभी हाल ही में अमेरिका ने अफ़ग़ानिस्तान पर सबसे बड़ा नुक्लेअर बम गिरा कर दिखाया भी था. इससे साफ़ अमेरिका की चेतावनी समझी जा सकती है कि अगला नंबर पाकिस्तान का है.


दूसरी शर्त जो अमेरिका ने पाकिस्तान के सामने रक्खी है कि वह अफगानिस्तान से लगी अपनी सीमा पर हक्कानी नेटवर्क समेत बाकी सभी आतंकवादी गतिविधियों पर प्रतिबन्ध लगाने में अफगानिस्तान सरकार के साथ सक्रिय सहयोग करेगा और आतंकवादियों को दी जा रही सभी सैन्य मदद और आर्थिक मदद पर रोक लगाने के सबूत अमेरिका को देगा.आपको बता दें पाकिस्तान के BAT टीम में ही आतंकवादी भर्ती किये जाते हैं.

तीसरी और अंतिम शर्त जो पाकिस्तान के सामने अमेरिका ने रखी है वो है कि शकील अफरीदी को अमेरिका हीरो मानता है उसे पाकिस्तान को रिहा करना होगा, जो वर्षों से जेल में यातनाएं सह रहा है. आपको बता दें शकील अफरीदी वही शख्स है जिसने एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन की मौजूदगी का पता लगाने में अमेरिकी सेना की मदद की थी.

जब तक पाकिस्तान इन शर्तों को पूरा नहीं करता तब तक उसे अमेरिका से 651 अरब डॉलर में से एक धेला भी नहीं मिलने वाला साथ ही अमेरिका अब अफ़ग़ानिस्तान के बाद पाकिस्तान पर कड़ी कार्यवाही शुरू करेगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments