Home > ख़बरें > वीडियो : अमेरिका ने किया भारत के गुप्त हथियार का खुलासा, चीनी सेना के साथ जिनपिंग के उड़े होश

वीडियो : अमेरिका ने किया भारत के गुप्त हथियार का खुलासा, चीनी सेना के साथ जिनपिंग के उड़े होश

india-nuclear-missile-china

वाशिंगटन : पीएम मोदी शुरू से ही विश्वासघाती चीन पर ख़ास ध्यान देते आये हैं लेकिन इस बार सिक्किम में सीमा विवाद खड़ा करके और भारत को युद्ध की धमकी देकर चीन ने अपने पैरों पर खुद ही कुल्हाड़ी मार ली है. अमेरिका ने पीएम मोदी के बारे में अब एक ऐसी रिपोर्ट दी है, जिसे देखकर चीन के तो हाथ-पाँव ठन्डे पड़ ही गए हैं, साथ ही पूरी दुनिया में भी खलबली मच गयी है.

भारत बना रहा है ऐसा परमाणु हथियार कि तबाह हो जाएगा पूरा चीन

अमेरिकी परमाणु विशेषज्ञों ने कहा है कि भारत पाकिस्तान नहीं बल्कि चीन को ध्यान में रखकर एक ऐसा परमाणु हथियार बना रहा है, जिससे एक ही झटके में पूरा चीन तबाह हो जाएगा. अमेरिका के दो परमाणु विशेषज्ञों ने कहा है कि चीन की लगातार बढ़ रही चालबाजियों को ध्यान में रखते हुए भारत अपने परमाणु हथियारों के जखीरे को लगातार आधुनिक कर रहा है.

डिजिटल जर्नल ‘आफ्टर मिडनाइट’ के जुलाई-अगस्त अंक में प्रकाशित एक लेख में ये दावा भी किया गया है कि भारत एक ऐसी मिसाइल भी बना रहा है, जिससे चीन से काफी दूर स्थित दक्षिण भारतीय आर्मी बेसों से भी पूरे चीन पर निशाना साधा जा सके. मतलब चीन के साथ युद्ध होने की स्थित में केवल पूरी भारत में मौजूद बेसों से ही नहीं बल्कि दक्षिण में मौजूद बेसों से भी चीन पर भयानक हमला किया जा सके.

पाकिस्तान नहीं अब चीन पर है नज़र

हैन्स एम. क्रिस्टेन्सन और रॉबर्ट एस. नॉरिस नाम के अमेरिकी परमाणु विशेषज्ञों ने अपने लेख ‘इंडियन न्यूक्लियर फोर्सेज़ 2017’ में लिखा है कि भारत ने इतना अधिक प्लूटोनियम जमा कर लिया है, जिनसे 150-200 परमाणु हथियार बनाये जा सकते हैं लेकिन अभी तक भारत ने केवल 120-130 हथियार ही बनाए हैं.

इन दोनों परमाणु विशेषज्ञों ने दावा किया है कि आमतौर पर पाकिस्तान को ध्यान में रखकर परमाणु नीति बनाने वाले भारत ने अब चीन की ओर ज्यादा ध्यान देना शुरू कर दिया है. उनके मुताबिक़ कुछ वक़्त पहले तक तो भारत का लगभग सारा ध्यान पाकिस्तान को रोकने पर ही रहता था लेकिन अब चीन की ओर से खतरे को भांपते हुए परमाणु हथियारों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है.


अत्याधुनिक परमाणु हथियारों से लैस

इन्होने ये दावा भी किया है कि भारत लगातार अपने परमाणु हथियारों के ज़खीरे को आधुनिक बनाता जा रहा है और उसने कई नए परमाणु हथियार सिस्टम भी विकसित कर लिए हैं. इनके मुताबिक़ फिलहाल भारत के पास सात परमाणु-सक्षम सिस्टम मौजूद हैं, जिनमें दो विमान, चार ज़मीन पर मौजूद बैलिस्टिक मिसाइलें और एक समुद्र में स्थित बैलिस्टिक मिसाइल शामिल है.

साथ ही भारत कम से कम ऐसे चार सिस्टम और विकसित कर रहा है. ये प्रोजेक्ट डायमनिक स्टेज तक पहुंच भी चुका है और अगले एक दशक के अंदर-अंदर भारत लम्बी दूरी की ज़मीन और समुद्र से मार करने वाली मिसाइलों को तैनात कर देगा. विशेषज्ञों के मुताबिक़ भारत ने लगभग 600 किलोग्राम वेपन-ग्रेड प्लूटोनियम तैयार कर लिया है, जो 150-200 परमाणु हथियार बनाने के लिए पर्याप्त है, हालांकि सारे प्लूटोनियम को हथियारों में तब्दील नहीं किया गया है.

इस रिपोर्ट के सामने आते ही चीन के कान खड़े हो गए हैं और चीनी मीडिया भी बौखलाई हुई सी नज़र आ रही है. चीन पर फिलहाल “आ बैल मुझे मार” वाली कहावत चरितार्थ होती नज़र आ रही है. एक शांतिप्रिय देश को चीन परेशान कर-करके अपना दुश्मन बनाने पर तुला है और अब चीन के लिए ही परेशानी खड़ी होती नज़र आ रही है. मेक इन इंडिया से चीन की अर्थव्यवस्था तबाह होती जा रही है और युद्ध के लिए भारत तेजी से अपने आप को और भी ज्यादा मजबूत बनाता चला जा रहा है. ये बात साफ़ हो चुकी है कि अगले एक दशक में भारत पूरे एशिया में सबसे ताकतवर राष्ट्र बन चुका होगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments