Home > ख़बरें > सीएम योगी आदित्यनाथ के एक और बड़े धमाके से यूपी में खलबली, सन्न रह गए अखिलेश, मुलायम

सीएम योगी आदित्यनाथ के एक और बड़े धमाके से यूपी में खलबली, सन्न रह गए अखिलेश, मुलायम

yogi-adityanath-akhilesh-mulayam

नई दिल्ली : यूपी के सीएम पद के लिए योगी आदित्यनाथ के नाम की घोषणा होते ही कई विरोधियों को गहरा सदमा लगा था. विपक्ष के कई नेताओं ने पीएम मोदी के इस फैसले की आलोचना करते हुए योगी को मुख्यमंत्री बनाने के फैसले को गलत ठहराया था. वहीँ कई ने नेताओं ने कहा था कि योगी एक अच्छे सीएम नहीं बन पाएंगे क्योंकि उन्हें कोई प्रशासनिक अनुभव ही नहीं है. लेकिन केवल दो ही दिन में योगी ने साबित कर दिया कि ना केवल वो एक अच्छे सीएम हैं बल्कि वो एक लंबी पारी खेलने वाले हैं.


सपा सरकार के सभी निगम अध्यक्ष व उपाध्यक्ष बर्खास्त !

सीएम बनते ही योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा फैसला लेते हुए सपा सरकार के सभी निगम अध्यक्षों और उपाध्यक्षों को बर्खास्त कर दिया है. इसे सीएम योगी आदित्यनाथ का अब तक का सबसे बड़ा फैसला बताया जा रहा है. इस फैसले के बाद अब सपा सरकार के 100 से ज्यादा नेताओं की लालबत्ती छिन जाएगी.

दरअसल उनके विरोधियों को लगा था कि सीएम की जिम्मेदारियों और कार्यप्रणाली को समझने में ही योगी को कुछ वक़्त लग जाएगा. क्योंकि वो पहली बार मुख्यमंत्री बने हैं इसलिए शायद वो धीरे-धीरे फैसले लेंगे. सब कुछ सीखने में उन्हें वक़्त लगेगा लेकिन विरोधी शायद ये नहीं जानते थे कि योगी पहले भी देश के एक बड़े मठ का कार्यभार संभालते आये हैं, इसके अलावा भी वो पांच बार से सांसद हैं जिससे उन्हें इन कामों का खासा अनुभव हो चुका है.


यूपी के सीएम पद की शपथ लेने के दूसरे दिन ही योगी ने बड़ा फैसला लेते हुए सबसे पहले सपा सरकार में रहे सभी निगम अध्यक्षों और उपाध्यक्षों को बर्खास्त कर दिया है. इसके साथ-साथ सभी दर्जा प्राप्त मंत्रियों को भी उन्होंने पद से हटा दिया है. उनके इस फैसले से तकरीबन 100 से भी ज्यादा सपा नेताओं की लाल बत्ती छिन गयी है.

प्रदेश के अवैध कत्लखाने बंद !

वहीँ योगी ने प्रदेश में अवैध तरीके से चल रहे कत्लखानों को भी बंद करने के आदेश दे दिए हैं. जिसके तहत अब तक कई कत्लखानों को बंद किया जा चुका है. योगी ने कहा है कि वो अपने सभी चुनावी वादों को जरूर पूरा करेंगे और इस दिशा में उन्होंने कदम उठाने शुरू भी कर दिए हैं.

कुल मिलाकर देखा जाए तो जिस तेजी और कर्तव्यनिष्ठा से योगी काम कर रहे हैं, उससे आने वाले पांच सालों में प्रदेश की दशा और दिशा दोनों ही बदल चुकी होगी. वहीँ योगी ने अपने मंत्रियों से भी अनाप-शनाप बयान ना देने को कहकर स्पष्ट कर दिया है कि वो अपनी छवि को बदल कर पीएम मोदी की ही तरह राजनीति में एक लंबी पारी खेलने के लिए तैयार हैं. उनकी जीवनशैली और काम करने के तरीकों को देखते हुए लोगों ने उन्हें छोटा मोदी कहना भी शुरू कर दिया है. वहीँ लोग ये भी कह रहे हैं कि योगी ही पीएम मोदी के उत्तराधिकारी सिद्ध होंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments