Home > ख़बरें > यूपी के बदायूं से आयी बेहद शर्मनाक खबर से समाजवादी पार्टी में मचा हड़कंप, अखिलेश के छूटे पसीने

यूपी के बदायूं से आयी बेहद शर्मनाक खबर से समाजवादी पार्टी में मचा हड़कंप, अखिलेश के छूटे पसीने

badaun-poling-slips-thrown-in-pit

लखनऊ : यूपी विधानसभा चुनाव अपने चरम पर हैं, मतदान किये जा रहे हैं लेकिन कुछ पोलिंग बूथ से ऐसी हैरान कर देने वाली ख़बरें आ रही हैं कि यकीन करना मुश्किल हो रहा है. पीएम मोदी अखिलेश यादव की सपा सरकार को गुंडों की सरकार कहते रहे हैं और अभी-अभी आयी इस खबर को पढ़कर आप भी मान जाएंगे कि पीएम मोदी ने ठीक ही कहा था.


बदायूं विधान सभा क्षेत्र में शर्मनाक हरकत

ख़बरों के मुताबिक़ बदायूं विधान सभा क्षेत्र के बीएलओ ने एक वर्ग के मतदाताओं को मतदान पर्चियां ही नहीं बांटीं. खबर है कि हिंदुओं को दी जाने वाली पर्चियां शहर से दूर गड्ढे में फेंक दीं गयीं. इस खबर के बाहर आते ही भाजपा प्रत्याशी के एजेंट ने इलेक्शन कमीशन से इस बात की शिकायत की है. घटना के बारे में पता चलते ही प्रशासन में खलबली मच गयी है.

एक समुदाय के लोगों को वोट देने से रोकने के लिए ऐसी ओछी हरकत के बारे में पता चलते ही भाजपा प्रत्याशी महेश चन्द्र गुप्ता के चुनाव अभिकर्ता जितेन्द्र गुप्ता ने इलेक्शन कमीशन और जिला निर्वाचन अधिकारी को शिकायत भेजते हुए समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आबिद रजा पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए अफसरों और कर्मचारियों से ऐसी हरकत करवाई है.


सपा प्रत्याशी की गुंडा-गर्दी

जितेन्द्र गुप्ता ने आरोप लगाया है कि आबिद रजा ने इलाके के बीएलओ को अपने कार्यालय में बुलवाया. अपने कार्यालय में उन्होंने बीएलओ को अपना डर दिखा कर धमकी और प्रलोभन दिया. इस घटना की शिकायत प्रेक्षक से किये जाने पर मजिस्ट्रेट मौके पर पहुंचे तो लेकिन सत्ता के दबाव के कारण उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की.

जितेन्द्र गुप्ता ने आरोप लगाया कि हार के डर से सपा प्रत्याशी ने अपने प्रभाव का दुरूपयोग किया, जिसकी वजह से हिंदू मतदाताओं की पर्चियां ही नहीं बांटीं गईं. ये सारी पर्चियां उझानी रोड स्थित बाला जी मंदिर के पास एक गड्ढे में फिकवा दी गईं, जिस कारण सैकड़ों मतदाता मतदान नहीं कर पाए.

जितेन्द्र गुप्ता ने इस घटना के लिए इलेक्शन कमीशन को लिखित शिकायत दी है और इलाके के बीएलओ के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है. आपको बता दें कि घटना के बारे में पता चलते ही प्रशासन में खलबली मच गयी, जिसके बाद आनन्-फानन में तहसीलदार अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच गये और गढ्ढे में से पर्चियां उठा लाये. ख़बरों के मुताबिक़ गढ्ढे में फेकी गयीं पर्चियां भाग संख्या – 142 की हैं, जहाँ मतदाताओं को पर्चियां बांटने की जिम्मेदारी मुजस्सीम बी. की थी.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments