Home > ख़बरें > अमेरिकी सेना का धमाका – पाकिस्तान में घुसकर किया ड्रोन हमला, बिछा दीं आतंकियों की लाशें

अमेरिकी सेना का धमाका – पाकिस्तान में घुसकर किया ड्रोन हमला, बिछा दीं आतंकियों की लाशें

us-drone-attack-pakistan1

नई दिल्ली : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने तो राष्ट्रपति चुनाव जीतने से पहले ही साफ़ कह दिया था कि वो किसी भी कीमत पर आतंक बर्दाश्त नहीं करेंगे. चुनाव जीतने के बाद शपथ लेते ही उन्होंने एक बार फिर अपने उसी फैसले को दोहराया भी था. इसी सिलसिले में अब जो खबर सामने आ रही है वो इतनी हैरतअंगेज है जिसने पाकिस्तान में हाहाकार मचा दिया है.

अमेरिकी ड्रोन ने पाकिस्तान में घुस कर मार गिराए दो आतंकी

खबर आयी है कि अमेरिका ने पाकिस्तान पर ड्रोन से हवाई हमला करके दो आतंकियों को मार गिराया है. इन दोनों को अफगानिस्तान तालिबान के आतंकी बताया जा रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक़ ये अमेरिकी ड्रोन अफगानिस्तान से उड़ कर आया था और इसके टारगेट थे अफगानिस्तानी तालिबान का सीनियर कमाण्डर क़ारी अब्दुल्लाह सुबारी और शाकिर. ड्रोन ने पाकिस्तानी इलाके में घुस कर दोनों को ही मौत के घाट उतार दिया.

दरअसल हाल ही में अफगानिस्तान में आतंकी हमले हुए थे. जांच में हमले का जिम्मेदार तालिबान को पाया गया था. अमेरिकी सेना को खबर मिली की इन हमलों का जिम्मेदार तालिबान का सीनियर कमाण्डर क़ारी अब्दुल्लाह सुबारी पाकिस्तान में छुपने जा रहा है तो फ़ौरन उसकी तालाश शुरू की गयी. उसकी पोजीशन का पता चलते ही एक अमेरिकी ड्रोन तेजी से पाकिस्तानी इलाके में घुसा और दूर आसमान से ही हमला करके दोनों आतंकियों का खेल ख़त्म कर दिया. हमले के वक़्त दोनों मोटरसाइकिल पर सवार बताये जा रहे हैं.


पाक मीडिया में खलबली

अमेरिकी ड्रोन हमले के फ़ौरन बाद से पाकिस्तानी मीडिया में इसकी चर्चा शुरू हो गयी. पाकिस्तानी मीडिया ने इस ड्रोन हमले को “सस्पेक्टेड ड्रोन” हमला करार दिया है. इस बारे में पाकिस्तान सरकार ने अभी तक चुप्पी बनाये रखी है. आपको बता दें कि 21 मई 2016 में भी अमेरिका ने ड्रोन हमला करके मुल्ला मंसूर नाम के एक आतंकी को मौत के घाट उतार दिया था, जिसके बाद पाकिस्तान सरकार की ओर से इसे अपनी संप्रभुता पर हमला बताया गया था और अमेरिका को जबाबी हमले की धमकी भी दे दी थी.

अमेरिका से डर गया पाकिस्तान?

हालांकि इस बार हुए हमले पर पाकिस्तान सरकार ने चुप्पी साधी हुई है. जानकारों के मुताबिक़ मई 2016 तक अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा थे जो कि थोड़े नम्र स्वभाव के थे इसलिए पाकिस्तान की इतनी हिम्मत हो गयी थी कि उसने अमेरिका को जवाबी हमले की धमकी दे दी थी लेकिन अब अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प राष्ट्रपति हैं जो अपने उग्र स्वभाव के लिए जाने जाते हैं. चुनाव से पहले भी वो पाकिस्तान को धमकी दे चुके हैं कि अगर पाकिस्तान ने आतंक को ख़त्म नहीं किया तो वो नतीजे भुगतने के लिए तैयार रहे. ऐसे में अब अमेरिका को धमकी दे कर पाकिस्तान अपनी शामत नहीं लाना चाहता.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments