Home > ख़बरें > बड़ी खबर : बीजेपी ने इस राज्य में भी भगवा झंडा गाड़ ही दिया, एक झटके में तोड़ दी ममता की कमर

बड़ी खबर : बीजेपी ने इस राज्य में भी भगवा झंडा गाड़ ही दिया, एक झटके में तोड़ दी ममता की कमर

नई दिल्ली : जिस तरह एक के बाद एक बिधायक भाजपा से जुड़ते जा रहे हैं उससे लगता है 2019 तक किसी पार्टी में इतना दम नहीं रह जायेगा कि वो पीएम मोदी को चुनौती देने का सोच भी सकें. अभी नितीश कुमार ने पीएम मोदी से हाथ मिला लिया तो उसके बाद गुजरात के विधायक भाजपा में शामिल हो गए. तो वहीँ यूपी में अमितशाह के कदम रखते ही बसपा और सपा के भी लोग बीजेपी में शामिल हो गए. लेकिन ये तो कुछ भी नहीं इससे बड़ी खबर तो अब आप सुन कर हक्के बक्के रह जायेंगे.


त्रिपुरा में भी छा रहा भगवा….टूटी ममता बनर्जी की कमर!!

क्या कभी किसी ने सोचा भी था कि पूर्वोत्तर भारत में भी भारतीय जनता पार्टी का खाता भी खुलेगा, अजी सिर्फ खता ही नहीं खुलता जा रहा है. बल्कि एक के बाद एक हर प्रदेश में सरकार भी बनती जा रही है. आसाम और मणिपुर के बाद अब त्रिपुरा में बिना चुनाव लड़े ही भाजपा विपक्ष की और दूसरे नंबर की बड़ी पार्टी बन गयी है और इस बार सबसे बड़ा नुकसान ममता की टीएमसी का हुआ है.

राष्ट्रपति को वोट देने की मिली सज़ा

जी हाँ अभी अभी बड़ी खबर आ रही है जिसमें त्रिपुरा में टीएमसी से निकाले गए सभी 6 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए हैं. लेकिन इन सभी विधायकों को टीएमसी से निकला इसलिए गया है क्यूंकि इन्होने राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा उम्मीदवार श्री रामनाथ कोविंद को वोट दिया था बस इतनी सी इनकी गलती थी जिसके लिए इन्हे दंड मिला. लेकिन इन्होने अपने ऊपर हो रहे तमाम प्रकार के दबाव के आगे झुकने से साफ़ इंकार कर दिया और भगवा चोला पहन लिया. और सबसे अहम् बात कि सिर्फ विधायक ही नहीं इनके 25 हजार समर्थक भी बीजेपी के सदस्य बन गए हैं.


त्रिपुरा का हाल हो रहा बद्द से बदतर

बस इसी के साथ त्रिपुरा विधानसभा में भाजपा अचानक से ही विपक्ष की पार्टी बन गयी है जिसका मतलब अब वो त्रिपुरा सरकार का कच्चा चिटठा खोल सकेगी और अगले चुनाव तक सरकार बनाने की भरपूर कोशिश करेगी. आपको बता दें त्रिपुरा कभी धार्मिकता और आध्यात्मिकता का केंद्र हुआ करता था लेकिन आज उसे केवल धर्मान्तरण और अवैध बांग्लादेशियों का अड्डा बना दिया गया है.

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, भाजपा के उत्तर पूर्व डेमोक्रेटिक एलायंस (एनईडीए) संयोजक हिमंत बिश्व शर्मा, प्रदेश भाजपा प्रमुख बिप्लब कुमार देब और प्रदेश पार्टी पर्यवेक्षक सुनिल देवधर ने इन छह विधायकों का स्वागत किया, जिनका नेतृत्व त्रिपुरा विधानसभा में विपक्ष (कांग्रेस) के पूर्व नेता सुदीप रॉय बर्मन कर रहे थे. धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि त्रिपुरा में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है और महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ गए हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments