Home > ख़बरें > ट्रैफिक हवलदार ने बीच सड़क रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला,फिर हुआ कुछ ऐसा जो था कल्पना से बाहर

ट्रैफिक हवलदार ने बीच सड़क रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला,फिर हुआ कुछ ऐसा जो था कल्पना से बाहर

बेंगलुरु : आये दिन सोशल मीडिया या टीवी पर आपने एक विज्ञापन देखा होगा जिसमें दो पुलिसवाले होते हैं एक एम्बुलेंस को रोकता है तो दूसरा VIP नेता की गाड़ी को रोक कर एम्बुलेंस को जाने देता है. लेकिन ऐसा असल ज़िन्दगी में भी हो सकता यह आपने कभी सोचा नहीं होगा.

इस ट्रैफिक पुलिस वाले ने रोक ली देश के प्रथम नागरिक की गाडी

ऐसा ही एक वाक्या बेंगलुरु में देखने को मिला है बीते शुक्रवार को बैंगलौर में मेट्रो की ग्रीन लाइन का उद्घाटन के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आए हुए थे. उसी वक़्त वहां के व्यस्तम इलाके में से एक ट्रिनिटी सर्किल पर भारी जाम लग गया, और एक एंबुलेंस वहां फंस गई. तभी वहां पर तैनात ट्रैफिक पुलिस के सब-इंस्पेक्टर एम.एल. निजलिंगप्पा ने सूझबूझ और नियमों का पालन कर ड्यूटि निभाते हुए एंबुलेंस को निकलवाने के लिए पूरे ट्रैफिक को रोक दिया इसी दौरान राष्ट्रपति का काफिला राज भवन की ओर जा रहा था तभी बिना किसी डर और झिझक के सब-इंस्पेक्टर एम.एल. निजलिंगप्पा ने एंबुलेंस को निकलवाने के लिए पूरे ट्रैफिक को रोक दिया और वहीं इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के काफिले को भी रोक दिया. इसके बाद आसानी से एम्बुलेंस बिना किसी देरी के निकल सकी और मरीज की जान बचाई गयी.

पूरे देश में सोशल मीडिया, टीवी सब जगह हो रही है तारीफ

निजलिंगप्पा ने इस घटना के बाद करोड़ों लोगों का दिल जीत लिया है क्योंकि वीआईपी कल्चर के चलते अक्सर इस देश में इस तरह की अनोखी घटनाएं कम ही होती है.निजलिंगप्पा के इस साहसी कदम वक़्त रहते उठाने से चारों तरफ उनकी तारीफें हो रही हैं. यही नहीं सोशल मीडिया में भी उनकी जमकर तारीफ हो रही है जिसके चलते उन्हें अब उनके साहस और सूझबूझ के लिए सम्मानित भी किया जायेगा.

किया जायेगा सम्मानित

ट्रैफिक पुलिस सब-इंस्पेक्टर एम एल निजलिंगप्पा की सूझबूझ को उनके डिपार्टमेंट ने भी अब सराहा है, यहाँ तक कि कमिश्नर ने भी उनकी तारीफ करते हुए पीठ थपथपाई है. यहाँ तक कि पुलिस कमिश्नर प्रवीण सूद ने ट्वीट कर निजलिंगप्पा को बधाई दी और ट्वीट किया कि उनके इस कदम की हम तारीफ करते हैं, उन्हें इसको लेकर सम्मानित भी किया जाएगा.

आपको बता दें ये बहुत खास बात है लेकिन फिर भी ऐसा पहली बार नहीं हुआ है इसे पहले महिला आईपीएस अफ़सर किरण बेदी के सहयोगी सब इंस्पेक्टर निर्मल सिंह ने तो देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी तक की गाड़ी उठा ली थी. प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की गाड़ी सफेद एंबेस्डर कार DHD 1817 कनॉट प्लेस की गलत पार्किंग में लगी थी.जिसे बाद में सब इंस्पेक्टर निर्मल सिंह ने उठवा लिया था.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments