Home > ख़बरें > कश्मीर से आयी ऎसी खबर जिसने हिला के रख दिया महबूबा को, अब अलगाववादियों की खैर नहीं !

कश्मीर से आयी ऎसी खबर जिसने हिला के रख दिया महबूबा को, अब अलगाववादियों की खैर नहीं !

pdp

कश्मीर : पिछले कई दिनों से कश्मीर में पत्थरबाजी और आतंकी गतिविधियां काफी बढ़ गयी हैं. जहां एक ओर केंद्र की मोदी सरकार पत्थरबाजों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के पक्ष में है, वहीँ कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती बातचीत के जरिये से हिंसा रोकने के पक्ष में हैं. हालांकि अभी-अभी जो खबर आ रही है, उसके बाद महबूबा सरकार में हड़कंप मच गया है.


कश्मीर में पीडीपी नेता की हत्या !

दरअसल कश्मीर में आज आतंकियों ने सत्ताधारी पीडीपी पार्टी के एक नेता अब्दुल ग़नी डार की ही गोली मारकर ह्त्या कर दीं है. अब्दुल ग़नी डार ऐसे तीसरे राजनेता हैं जो उपचुनाव के बाद हुई हिंसा में मारे गए हैं. पुलिस के मुताबिक़ आतंकी अब तक तीन राजनेताओं को मौत के घाट उतार चुके हैं, जिनमे से 2 सत्ताधारी पीडीपी के हैं जबकि एक विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ़्रेंस का है.

खबर है कि महबूबा मुफ़्ती ने पीएम मोदी से मुलाक़ात में पत्थरबाजी व् आतंकी गतिविधियों पर लगाम लाने की गुजारिश की है. कश्मीर में लगातार हिंसक प्रदर्शन जारी हैं, जिसपर पीएम मोदी अब काफी सख्त रुख अपना रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक़ यदि राज्य की पीडीपी सरकार पत्थरबाजी व् हिंसक प्रदर्शन पर रोक नहीं लगा पायी तो बीजेपी गठबंधन तोड़ कर राष्ट्रपति शासन लगा सकती है. जिसके बाद मुख्यमंत्री ने दावा किया है कि उनकी सरकार घाटी में 2-3 महीने में स्थिति को नियंत्रित कर लेगी. उन्होंने कहा कि हम चीजें बदल लेंगे.


नींद से जागीं महबूबा !

जिसके बाद से कश्मीर में जारी प्रदर्शनों को रोकने के लिए पुलिस ने सख्त कार्रवाई करनी शुरू की है. इसमें अबतक कम से कम दस पत्थरबाजों की मौत हो गई है. हाल ही में छात्रों पर की गयी सख्त कार्रवाई के बाद आज एकबार फिर राज्य के कई स्कूलों व् कॉलेजों के छात्र और छात्राओं ने यूनिफ़ॉर्म में सड़क पर निकलकर प्रदर्शन किया और भारत के ख़िलाफ़ ही नारे लगाए.

दरअसल पुलिस और सेना ने दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा ज़िले के एक कॉलेज में छापेमारी की है. जिसके बाद छात्रों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. हिंसक गतिविधियों को नियंत्रित रखने के लिए सरकार ने पिछले हफ्ते से ही इंटरनेट सेवाएं बंद की हुई हैं. पिछले हफ्ते से राज्य के स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय भी बंद थे.

लगातार हो रही हिंसक घटनाओं में पीडीपी के नेताओं पर हुए हमलों से महबूबा नींद से जाग गयी हैं और अब आतंकी गतिविधियों व् पत्थरबाजी पर लगाम लगाने के लिए पीएम मोदी व् सेना की सहायता मांग रही हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments