Home > ख़बरें > साकार हुआ हर भारतीय का सपना, कश्मीर में अलगाववादियों में ही हो गया अलगाव, सेना ने ली राहत की सांस

साकार हुआ हर भारतीय का सपना, कश्मीर में अलगाववादियों में ही हो गया अलगाव, सेना ने ली राहत की सांस

fight-in-separatists-leaders

नई दिल्ली : इंडिया टुडे के स्टिंग ऑपरेशन हुर्रियत ने कश्मीरी अलगाववादियों की आतंकी गतिविधियों का पर्दाफ़ाश करके रख दिया. इस स्टिंग में कैमरे के सामने अपने ही नेता को अपने ही लोगों की पोल-पट्टी खोलता देख हुर्रियत कॉन्फ्रेंस में खलबली मच गयी है. भारत में पहली बार वो हुआ है, जो आजतक कभी नहीं हुआ था.

स्टिंग ऑपरेशन से हुर्रियत में फूट, गिलानी ने नेशनल फ्रंट को किया बाहर

दरअसल भारत के लोगों में व् कश्मीरियों में फूट डलवाने वाले इन नेताओं में अब आपस में ही फूट पड़ गयी है. एनआईए ने जांच शुरू करते हुए समन जारी कर दिए हैं, जिसे देख इन आतंकी नेताओं की हालत बुरी तरह से खराब हो चुकी है. इन्हे पता है कि सबूत जुटाने के लिए अब एनआईए इन लोगों से अपने तरीके से पूछताछ करेगी, जिसमे इन्हे बहुत दर्द होगा और डंडे के सामने ये सब बक देंगे.

सबूत मिलते ही संवैधानिक रूप से अलगाववादियों को आतंकी संगठन घोषित करके इनपर बैन लगाकर इन्हे जेलों में ठूस दिया जाएगा. ऐसे में अब खुद को बचाने के लिए इनकी उंगलियां एक-दूसरे की ओर ही उतनी शुरू हो गयी हैं. इसी के चलते शनिवार (20 मई) को ऑल पार्टीज हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के चेयरमैन सैयद अली शाह ने सहयोगी पार्टी नेशनल फ्रंट को हुर्रियत कॉन्फ्रेंस की प्राथमिक सदस्यता से सस्पेंड कर दिया है.

यह सस्पेंशन तत्काल प्रभाव से श्रीनगर और हुर्रियत चैप्टर में लागू होगा. स्टिंग ऑपरेशन में अपनी पोल खुलती देख तिलमिलाए गिलानी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग हमारे इस आंदोलन को अपने धर्म की तरह मानते आए हैं. कुछ लोग हमारे आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.

खुद को बचाने की कोशिशों में गिलानी !

सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि नईम अहमद ने स्टिंग वाले वीडियो क्लिप पर सवाल उठाये हैं. उसने गिलानी को विश्वास दिलाने की कोशिश की है, लेकिन जब तक पूरे मामले में सच्चाई सामने नहीं आ जाती, निलंबन जारी रहेगा. गिलानी ने कहा कि आंदोलन का मुखिया होने के नाते ये उसकी नैतिक जिम्मेदारी है कि वो अपने दायित्व को पूरा करे.

सबसे मजे की बात तो ये है कि कश्मीर में आतंक फैलाने वाला आज खुद डंडे के डर से नैतिकता की बातें करने लगा है. खुद को मामले में बचाने के लिए खुद को इससे अलग दिखा रहा है, मानो जैसे खुद दूध का धुला हुआ मासूम है, दिखा ऐसे राह है कि उसे पता ही नहीं कि वो इतने सालों से पाकिस्तानी आतंकियों द्वारा भेजे गए कालेधन पर पल रहा था.

क्या है नेशनल फ्रंट और हुर्रियत कॉन्फ्रेंस ?

बता दें कि हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के दो धड़े हैं. इनमे से एक का नेतृत्व मीर वाइज उमर फारूक और दुसरे का सैयद अली शाह गिलानी करता हैं. नेशनल फ्रंट नईम खान की पार्टी है, जो हुर्रियत कॉन्फ्रेंस का हिस्सा है. नेशनल फ्रंट पहले मीर वाइज उमर फारूक वाले धड़े के साथ था, लेकिन 2014 में हुर्रियत में फूट पड़ गयी और नईम खान व् अन्य तीन नेताओं ने मीर वाइज उमर फारूक के नेतृत्व वाले हुर्रियत के खिलाफ बगावत कर दी और सैयद अली शाह गिलानी वाले धड़े में शामिल हो गए.

कैमरे के सामने किया गुनाहों का खुलासा

ये बात जानते तो सभी थे कि अलगाववादी पाकिस्तानी पैसों पर फल-फूल रहे थे और आतंकी गतिविधियों कि अंजाम देते आये थे लेकिन कोई पुख्ता सबूत अब तक नहीं मिल सके थे, जिसके कारण ये लोग क़ानून की पकड़ से बचे हुए थे. लेकिन इंडिया टुडे के अंडर कवर रिपोर्टर के खुफिया कैमरे के सामने फंडिंग के लालच में हुर्रियत के गिलानी धड़े के प्रांतीय अध्यक्ष नईम खान ने कबूल किया कि उन्हें पाकिस्तान से पैसा मिलता है, जोकि हवाला के जरिये देश में आता है. ये पैसा घाटी में आतंक फैलाने, आगजनी व् पत्थरबाजी करने के लिए भेजा जाता है.

नईम ने खुलासा किया कि पाकिस्तान पिछले 6 वर्षों से कश्मीर में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन खड़ा करने के लिए उधेड़-बुन में लगा हुआ है. उसने बताया कि गरीब और भुखमरी का शिकार देश पाकिस्तान भारत में आतंक फैलाने के लिए सैकड़ों करोड़ से ज्यादा रुपया कश्मीर भेज रहा है, लेकिन अलगाववादी और ज्यादा पैसे की उम्मीद करते हैं.

उसने खुलासा किया कि घाटी में किये जाने वाले आंदोलन, उग्र प्रदर्शनों, पत्थरबाजी और आगजनी तक के फैसले पाकिस्तान करता है और उसी के इशारों पर कश्मीर में ये सब किया जाता है. बहरहाल अब इन अलगाववादियों का खेल पूरी तरह से ख़त्म है, इस स्टिंग ऑपरेशन ने मोदी सरकार की काफी मदद कर दी है क्योंकि अब इनके खिलाफ एक्शन लेना सरल हो गया है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments