Home > ख़बरें > अभी-अभी : बिहार में नितीश और मोदी की दोस्ती पर लग गयी मुहर, हलक में आई लालू की जान !

अभी-अभी : बिहार में नितीश और मोदी की दोस्ती पर लग गयी मुहर, हलक में आई लालू की जान !

modi-lalu-nitish-kumar

पटना : बिहार की राजनीति में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. काफी वक़्त से ख़बरें आ रही थी कि नितीश लालू के साथ खुश नहीं हैं और पाला बदल के पीएम मोदी का हाथ थामने की कोशिशों में लगे हैं. लेकिन अभी-अभी एक ऐसी हैरतअंगेज खबर आयी है जिसने इन दावों पर मुहर लगा दी है.

लालू के खिलाफ नीतीश कर रहे हैं बीजेपी की मदद !

दरअसल बिहार बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने हाल ही में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार पर जमीन और मिट्टी घोटाले के आरोप लगाए थे. केवल आरोप ही नहीं लगाए थे बल्कि ये भी कहा था कि उनके पास इन आरोपों को सिद्ध करने के लिए सबूत भी हैं. और अब सबको चौंकाते हुए बीजेपी ने दावा किया है कि लालू के भ्रष्टाचार का खुलासा करने के लिए सभी कथित बेनामी संपत्ति के कागजात बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबियों द्वारा ही उन्हें दिए जा रहे हैं.

ये खबर आते ही बिहार की राजनीति में जबरदस्त खलबली मच गयी है. खबर आ रही हैं कि लालू का साथ छोड़ने के लिए खुद नितीश कुमार और उनके करीबी ही लालू के परिवार के भ्रष्टाचार उजागर करने के लिए बीजेपी की मदद कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी ही लगा रहे आग !

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और पूर्व मंत्री प्रेम कुमार ने बताया कि फिलहाल बिहार में बीजेपी की सरकार नहीं है, ऐसे में हम लोगों की पहुंच सरकारी फाइलों तक कैसे हो सकती है? लालू की संपत्ति का खुलासा करने के लिए जेडीयू और नितीश के लोग ही हमारी मदद कर रहे हैं.

हालांकि प्रेम कुमार ने ये भी दावा किया कि कुछ मीडियकर्मियों ने भी लालू के खिलाफ कागज उपलब्ध कराए. वहीँ उनके एक और दावे ने आरजेडी में भी खलबली मचा दी है, उनके मुताबिक़ लालू के खिलाफ कुछ आरजेडी के नेता भी बीजेपी की मादा कर रहे हैं.

नितीश की चुप्पी भी एक इशारा !

प्रेम कुमार ने कहा कि विपक्ष में शामिल होने के नाते हमारा यह सबसे पहला कर्तव्य है कि राज्य में हो रहे घोटालों से जनता को वाकिफ करवाएं. वहीँ इस पूरे मामले में नितीश कुमार ने अब तक चुप्पी बनायी हुई है. नितीश की चुप्पी भी इस बात का स्पष्ट संकेत है कि नितीश और लालू के बीच सब खुश ठीक नहीं चल रहा है.

गौरतलब है कि हाल ही में सुशील मोदी ने लालू प्रसाद के सुपुत्र और वन एवं पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव पर बिना निविदा के पटना के संजय गांधी जैविक उद्यान में मिट्टी आपूर्ति करने का आरोप लगाया था. उन्होंने इसे ‘मिट्टी घोटाले’ का नाम दिया था.

केवल इतना ही नहीं, इसके बाद सुशील मोदी ने लालू प्रसाद के परिवार पर शराब का कारखाना खोलने के नाम पर एक कंपनी पर कब्जा करने और कई बेनामी संपत्ति हड़पने का आरोप भी लगाया था. हालांकि लालू के मुताबिक़ जैसे चारा घोटाले में उनका कोई हाथ नहीं था, वैसे ही इस बार भी वो दूध के धुले हुए ही हैं और उन्होंने कोई घोटाला नहीं किया है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments