Home > ख़बरें > सुबह-सुबह यूपी से आयी बेहद सनसनीखेज खबर से काँप उठे अखिलेश यादव, सपा में मचा जोरदार हड़कंप !

सुबह-सुबह यूपी से आयी बेहद सनसनीखेज खबर से काँप उठे अखिलेश यादव, सपा में मचा जोरदार हड़कंप !

mulayam-akhilesh-yogi

लखनऊ : पारिवारिक कलह से जूझ रही समाजवादी पार्टी को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बुरी तरह से मुह की खानी पड़ी और वहीँ लंबे वक़्त के बाद प्रदेश में बीजेपी ने प्रचंड जीत हासिल करके सरकार बनायी. खबर आ रही है कि सपा में अब हार के कारणों की समीक्षा की जानी शुरू हो चुकी है और अखिलेश यादव को हार का जो कारण पता चला है उससे वो अंदर तक हिल गए हैं.


सपाइयों ने अखिलेश से ‘धोखा’ कर की भाजपाइयों की मदद !

दरअसल समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधानसभा चुनाव में बुरी तरह से हुई हार के कारणों की समीक्षा करने के लिए सोमवार को इटावा, मैनपुरी और कन्नौज समेत यादवों के गढ़ कहे जाने वाले 8 जिलों के प्रत्याशियों और नेताओं के साथ बैठक की.

ख़बरों के मुताबिक़ इस बैठक में इन जिलों के नेताओं ने खुलासा किया कि समाजवादी पार्टी के ही कुछ बड़े नेता सपा प्रत्याशियों के खिलाफ बीजेपी का समर्थन कर रहे थे. सपा के कई प्रत्याशियों और नेताओं के मुताबिक़ पार्टी में मौजूद भीतरघाती लोगों की वजह से ही सपा को हार का मुह देखना पड़ा.


भीतरघातियों की वजह से हुई करारी शिकस्त !

सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि चुनाव में हार के कारणों की समीक्षा में ये बात सामने आयी है कि पार्टी के ही कुछ लोगों ने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सपा के प्रत्याशियों के खिलाफ बीजेपी को समर्थन दिया. गौरतलब है कि मुलायम सिंह के गढ़ कहे जाने वाले मध्य यूपी के जिलों में इस बार सपा को बुरी तरह से हार का मुह देखना पड़ा है, जबकि इन जिलों के बारे में कहा जाता है कि यहां यादव मतदाताओं के वोट निश्चित करते हैं कि चुनाव में जीत किसकी होगी. 2012 में हुए इससे पिछले विधानसभा के चुनाव में सपा को इन जिलों में बड़ी जीत हासिल हुई थी लेकिन इस बार सपा को यहाँ करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा.

हालांकि चौधरी ने अखिलेश यादव की छवि को आज भी बेदाग बताते हुए कहा कि अखिलेश ने जनता की भलाई के लिए तमाम योजनाएं लागू करके प्रदेश को विकास की नई मंजिलों पर पहुंचाया है. चौधरी ने कहा कि प्रदेश के करोड़ों नौजवान अखिलेश में अपना भविष्य देखते हैं और किसानों को आज भी अखिलेश से उम्मीदें हैं. अखिलेश लगातार हार के कारणों की समीक्षा में लगे हुए हैं और जिस तरह की चौंकाने वाली ख़बरें उन्हें मिल रही हैं, उसके बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि हार की समीक्षा के बाद सपा में कई बड़े नेताओं पर गाज गिरने वाली है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments