Home > ख़बरें > सर्जिकल स्ट्राइक-2 से गदगद हुए मुंबई के शेर, सेना को दी लाहौर जाकर तिरंगा लहराने की जिम्मेदारी !

सर्जिकल स्ट्राइक-2 से गदगद हुए मुंबई के शेर, सेना को दी लाहौर जाकर तिरंगा लहराने की जिम्मेदारी !

indian-war-action-battle

नई दिल्ली : पिछले साल पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक करके आतंकी ठिकानों को तबाह करने के बाद भारतीय सेना ने एक बार फिर पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक कर दी है. भारतीय सेना ने एंटी टैंक मिसाइलों से हमले करके पाक की 10 चौकियों को ध्वस्त कर दिया और कई बंकर भी उड़ा दिए. इस हमले में काई पाक सैनिक भी जहन्नुम पहुंच गए. एकाएक हुए हमले से पाक फ़ौज सकपका गयी. भारत में इस जीत का जश्न मनाया जाना भी शुरू हो गया है.


सेना के हमले से शिवसेना गदगद

महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने इस कार्रवाई के लिए भारत सरकार की पीठ ठोक दी है. शिवसेना के अरविंद सावंत ने पाकिस्तान के पोस्टों पर भारतीय सेना के हमले की तारीफ़ करते हुए उन्हें एक नयी ही जिम्मेदारी दे दी. उन्होंने कहा, ‘देर आए दुरुस्त आए, अब नहीं रुकना है. अब लाहौर जाकर तिरंगा लहराना है.’ शिवसेना के संजय राउत ने सरकार व् सेना को बधाई देते हुए कहा कि सेना ने कार्यवाही जरूर की है मगर वो इस हमले को करारा जवाब नहीं मानते हैं. यानी उनके मुताबिक़ पाकिस्तान को अभी और ठोका जाना चाहिए.

पीएम मोदी ने सेना को खुली छूट दी हुई है, सेना अपने मुताबिक़ कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है. इसके बावजूद पाकिस्तानी सेना के होंसले बुलंदियों पर थे और वो आतंकियों की घुसपैठ में मदद कर रहे थे. अब भारतीय सेना ने पाकिस्तान की उन सभी चौकियों को उड़ाने का निश्चय किया है, जिनसे आतंकियों की सहायता के लिए कवर फायर दिया जाता है. भारतीय सेना की और से कहा गया है कि वो एलओसी पर किसी भी बड़ी कार्रवाई के लिए तैयार हैं. वहीँ अभी हाल ही में एयरफोर्स के चीफ ने भी एयरफोर्स कमांडोज़ को किसी भी वक़्त युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा था.


गौरतलब है कि अभी हाल ही में पाकिस्तान की बैट टीम ने एलओसी के अंदर आ कर दो भारतीय सैनिकों की ह्त्या कर दी थी और उनके शवों को शत-विक्षत भी कर दिया था. जिसके बाद सारा देश पाकिस्तान के खिलाफ गुस्से से उबल पड़ा था. भारतीय सेना ने पाकिस्तान में एकबार फिर सर्जिकल स्ट्राइक किया है, इसे पाकिस्तान की उसी नापाक हरकत का बदला बताया जा रहा है.

भारतीय सेना ने पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन का करारा जवाब देते हुए रॉकेट लॉन्चर, एंटी टैंक मिसाइल, ऑटोमेटिक ग्रनेड लॉन्चर और 106 एमएम गन का प्रयोग किया और मात्र 30 सेकंड में 10 पोस्टों को तबाह कर दिया. इस हमले में भारतीय सेना ने अपनी बेहद घातक नाग मिसाइल का प्रयोग भी किया है. नाग मिसाइल “फायर एंड फॉरगेट” यानी दागो और भूल जाओ के सिद्धांत पर विकसित की गयी है. ये एक टैंक रोधी है, जिसकी मारक क्षमता 3-7 किमी है, इसमें ठोस प्रणोदकों का इस्तेमाल होता है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments