Home > ख़बरें > मुलायम, शिवपाल यादव समेत पूरे समाजवादी कुनबे पर बरपा सीएम योगी का कहर, सपा में हड़कंप

मुलायम, शिवपाल यादव समेत पूरे समाजवादी कुनबे पर बरपा सीएम योगी का कहर, सपा में हड़कंप

लखनऊ : प्रदेश में योगी सरकार ने आते ही जिस तरह से एक के बाद एक फैसले लेना शुरू किया है और हाल ही में मुलायम सिंह यादव के घर बिजली विभाग के छापे पड़ने के बाद ऐसा लगता है नेताजी पर मुसीबतों का सिलसिला थमने वाला नहीं है. इस बार सिर्फ मुलायम सिंह यादव ही नहीं बल्कि उनकी पत्नी के साथ साथ 58 रिश्तेदारों व चाहने वालों को बहुत बड़ा झटका लगने वाला है.   


दरअसल प्रदेश के पूर्वांचल हिस्से में सपा सरकार के बड़े नेताओं समेत 58 वीआईपी पर आरोप लगा है कि इन्होने मनमाने एवम गैरकानूनी ढंग से मकानों कि ज़मीन का इस्तेमाल व्यावसायिक तौर पर इस्तेमाल करने व अपने रिश्तेदारों को लाभ पहुंचाने की कोशिश की गयी है. जिस पर लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) के कमिश्नर अनिल गर्ग ने रोक लगा दी है साथ ही शिवपाल यादव के साथ 58 ताक़तवर लोगो पर बिना मंजूरी और बिना व्यावसायिक शुल्क दिए ही व्यावसायिक गतिविधियां चलाने के कारण सभी लोगों के मकानों को सील करने के आदेश दे दिए गए हैं.

जिन बड़े कद्दावर राजनेताओं व रिश्तेदारों पर बिना मंजूरी के मकानों को व्यावसायिक तरीके से इस्तेमाल करने का इलज़ाम लगा है उनमे शामिल हैं – मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता, पूर्व मंत्री शिवपाल यादव, मुलायम सिंह यादव के समधी और समधिन अरविन्द विष्ट व अम्बी विष्ट, एलडीए के पूर्व वीसी सतेन्द्र सिंह और सचिव आवास पंधारी यादव शामिल हैं.


यही नहीं इनमे से अधिकतर लोगो ने तो भू-उपयोग परिवर्तन भी जमा नहीं करवाया था. तीन महीने से ज़्यादा समय बीत जाने पर अब बड़ी कार्यवाही हो रही है. काफी वक़्त से यह विषय योगी सरकार की नज़र में था क्यूंकि कई रसूखदारों ने अपने आवासीय मकानों को व्यावसायिक में बदल कर उसकी कीमत बढ़ाने की कोशिश की है जिससे वह बिना किसी रोक टोक के अखिलेश सरकार में आवासीय मकानों में व्यावसायिक गतिविधि कर पाते थे.

दरअसल व्यावसायिक आवास की कीमत आवासीय मकानों की तुलना में 4 – 5 गुना ज़्यादा बढ़ जाती है. आवासीय में सिर्फ मकान बनाने की इज़ाज़त होती है जबकि व्यावसायिक में दूकान शोरूम आदि कुछ भी खोला जा सकता है.

सभी मकानों को सील करने का आदेश :

किन्तु अब योगी सरकार ने सख्ती बरतते हुए ऐसे सभी लोगो के खिलाफ कार्यवाही करनी शुरू कर दी है साथ ही कमिश्नर अनिल गर्ग के सचिव अरुण कुमार ने सभी 58 मकानों को तत्काल सील करने के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने अपने सभी इंजीनियरों को आदेश दिया है की ऐसे मकानों को तुरंत सील कर दिया जाए जो बिना मंज़ूरी से अपने मकानों में व्यावसायिक निर्माण और गतिविधियां चला रहे हैं. ये योगी सरकार का सपा के राजनेताओं शिवपाल यादव व अन्य रिश्तेदारों पर एक बड़ी कार्यवाही के रूप में देखा जा रहा है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments