Home > ख़बरें > ब्रेकिंग – पाकिस्तान और चीन के खिलाफ जापान का बड़ा ऐलान, ख़ुशी से चहक उठे पीएम मोदी !

ब्रेकिंग – पाकिस्तान और चीन के खिलाफ जापान का बड़ा ऐलान, ख़ुशी से चहक उठे पीएम मोदी !

modi-abe-china-pakistan

नई दिल्ली : पीएम मोदी की कूटनीति अपना रंग दिखा रही है. एक ओर जापान से भारत को अरबों रुपयों का विदेशी निवेश मिला है, वहीँ पाक और चीन के खिलाफ भारत की स्थिति और भी ज्यादा मजबूत हुई है. वहीँ चीन के खिलाफ जापान को भी एक बड़े देश भारत का साथ मिला है. जापान के पीएम ने तो खुल कर ऐलान कर दिया है कि जापान आतंकवाद के खिलाफ भारत के पक्ष में खड़ा है. पाकिस्तान को आतंकवाद पर खूब लताड़ भी लगाई है.


आतंकियों को सजा दे पाकिस्तान !

आज पीएम मोदी और पीएम शिंजो आबे ने साझा प्रेस कांफ्रेंस की. दोनों ने मिलकर आतंकवाद के मुद्दे पर पाक-चीन को खूब खरी-खोटी सुनाई. जापान के पीएम शिंजो आबे ने तो खुलकर पाकिस्तान को लताड़ लगाई और मुंबई हमले व् पठानकोट के गुनहगारों को सजा देने के लिए कहा.

दो दिन के भारत दौरे पर आए जापान के पीएम शिंजो आबे ने भारत को बुलेट ट्रेन की सौगात देने के साथ पाकिस्तान को खूब फटकार लगाई. उन्होंने पाक को लताड़ते हुए कहा कि पाकिस्तान को मुंबई और पठानकोट में हुए आतंकी हमले के गुनाहगारों को सजा देनी चाहिए. उन्होंने आतंक की आलोचना करते हुए पूरी दुनिया में शांति की कामना की.


हाइड्रोजन बम परीक्षण की निंदा !

इसके साथ ही पीएम मोदी और पीएम शिंजो आबे ने उत्तरी कोरिया के हाइड्रोजन बम परीक्षण और बैलिस्टिक मिसाइल प्रोग्राम की कड़ी निंदा की. इसके साथ-साथ पीएम मोदी और पीएम शिंजो आबे ने पाकिस्तान से आतंकवादी हमलों के दोषियों को सजा देने की बात भी कही. दोनों देशों ने अलकायदा, आईएसआईएस, जैश ए मोहम्मद और लश्कर तैयबा जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ साझा सहयोग को और मजबूत बनाने पर जोर दिया.

शिंजो आबे ने दिखा दिया कि वो पीएम मोदी के सच्चे दोस्त हैं. उन्होंने जापान के भारत के साथ घनिष्ठ संबंधों पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि मजबूत जापान हमेशा भारत के हित में है और मजबूत भारत हमेशा जापान के हित में है. बता दें कि डोकलाम मुद्दे पर भी जापान ने भारत का साथ दिया था, जिससे चीन कमजोर हुआ था.

पीएम शिजो आबे ने कहा कि जापान और भारत के बीच का सहयोग केवल द्विपक्षीय नहीं रहा, यह विशेष सामरिक और वैश्विक साझेदारी में विकसित हुआ है. भारत और जापान स्वतंत्रता, लोकतंत्र, मानव अधिकार और कानून का नियम जैसे बुनियादी मूल्यों को साझा करते हैं. दरअसल भारत और जापान नेचुरल दोस्त हैं क्योंकि चीन ने दोनों ही की नाक में दम किया हुआ है. ऐसे में भारत और जापान मिलकर ताकतवर चीन की दादागिरी के खिलाफ खड़े हैं. जापान के पास टेक्नोलॉजी है और भारत के पास बहुत से लोग हैं जो उस टेक्नोलॉजी का इस्तमाल करना चाहते हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments