Home > ख़बरें > राहुल गांधी की ताजपोशी में लगा सबसे बड़ा अड़ंगा, कांग्रेस में मची दो फाड़, भाई-भाई का बना दुश्मन

राहुल गांधी की ताजपोशी में लगा सबसे बड़ा अड़ंगा, कांग्रेस में मची दो फाड़, भाई-भाई का बना दुश्मन

नई दिल्ली : कांग्रेस पार्टी में राहुल गाँधी के ताजपोशी की जोर शोर से तैयारी चल रही है. सोनिया गाँधी की तबियत अब अच्छी नहीं रहती है इसलिए राहुल गाँधी आगे आये हैं. वैसे तो कांग्रेस अपने आपको एक लोकतान्त्रिक पार्टी बोलती है लेकिन अध्यक्ष बनने के लिए केवल राहुल गाँधी ही खड़े हैं. लेकिन इस बीच जबरदस्त खबर आ रही है, कांग्रेस पार्टी में ही दो-फाड़ मचनी शुरू हो चुकी है, कांग्रेस के ही अंदर से ही अब राहुल गाँधी की ताजपोशी में बड़ा अड़ंगा मार दिया है.


राहुल गाँधी की ताजपोशी में लगा अड़ंगा, मची दो-फाड़

कांग्रेस अभी सोमनाथ मंदिर में राहुल गांधी के हस्ताक्षर को लेकर शुरू हुए विवाद से निकली नहीं है और इस बीच पार्टी में ही वंशवाद को लेकर बगावत शुरू हो गई है. अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र कांग्रेस सचिव शहज़ाद पूनावाला ने पार्टी के अध्यक्ष के लिए होने वाले चुनाव के तरीकों पर सवाल उठाते हुए कहा है जो इसमें वोट करने जा रहे हैं वे ‘फिक्स‘ किए जा चुके हैं.

अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं ढकोसला है

शहजाद पूनावाला के एक ट्वीट करके कहा है “कि कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव दरअसल चुनाव नहीं बल्कि चयन है. यह पूरा तरीका ही ढकोसला है” यही नहीं पूनावाला ने कहा, ‘मुझे लगता है कि एक परिवार में केवल एक टिकट होना चाहिए, भले ही शहजाद पूनावाला हों या फिर राहुल गांधी.’ पूनावाला ने यह भी आरोप लगाया कि जो लोग वोट करने जा रहे हैं वे सब फिक्स किए जा चुके हैं. पूनावाला ने कहा कि वह जानते हैं ऐसी बातें कहने के बाद उनपर कई तरह के हमले किए जाएंगे लेकिन वह सच बोल रहे हैं.


शेह्ज़ाद के भाई ने तोड़े सारे संबंध

तो वहीँ अब शेह्ज़ाद पूनावाला के भाई तहसीन पूनावाला जो की रॉबर्ट वाड्रा के बहनोई भी हैं उन्होंने इसके खिलाफ सख्त लहज़े में ट्वीट किया है, तहसीन ने लिखा है “मै यह जानकर आश्चर्य में हूं कि शहजाद ने यह सब तब किया जब कांग्रेस गुजरात में जीतने जा रही है. मैं उनसे राजनीतिक रूप से सारे संबंध खत्म करने की घोषणा करता हूं. कांग्रेस, राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाना चाहती है.’

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए 4 दिसंबर को नामांकन किए जा सकते हैं. 5 दिसंबर को नामांकन पत्रों की जांच के बाद उसी दिन शाम तक उम्मीदवारों की सूची जारी की जाएगी. इस पद के लिए 11 दिसंबर को होने वाले मतदान में नाम वापसी की अंतिम तारीख 11 दिसंबर होगी. माना जा रहा है कि राहुल गांधी 4 दिसंबर को नामांकन भरेंगे. माना जा रहा है कि राहुल गांधी को चुनाव का सामना नहीं करना पड़ेगा, उन्हें निर्विरोध चुन लिया जाएगा.

इससे पहले कांग्रेस के मणिशंकर ऐय्यर ने भी राहुल गाँधी के अध्यक्ष बनने पर सवाल उठाया था और कांग्रेस को माँ बेटे की सरकार तक बता दिया था. उन्होंने चाहे कोई भी राहुल गाँधी के विरोध में खड़ा हो जाए जीतना सिर्फ राहुल गाँधी को ही है. ये पूरा कांग्रेस पार्टी सिर्फ गाँधी परिवार की जागीर बन कर रह गया है.


पीएम नरेंद्र मोदी से जुडी सभी खबरें व्हाट्सएप पर पाने के लिए 783 818 6121 पर Start लिख कर भेजें.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments