Home > ख़बरें > आप यूपी में योगी के सीएम बनने का जश्न मना रहे हैं, वहां सुरक्षाबलों ने ले लिया सुकमा हमले का बदला

आप यूपी में योगी के सीएम बनने का जश्न मना रहे हैं, वहां सुरक्षाबलों ने ले लिया सुकमा हमले का बदला

crpf-encounter-naxals

नई दिल्ली : अभी कुछ ही दिन पहले जब सारा देश यूपी चुनाव के नतीजों के बाद जश्न मनाने में व्यस्त था. ठीक उसी वक़्त छत्‍तीसगढ़ के सुकमा में नक्‍सलियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगा कर भयानक हमला कर दिया था. इस खबर के सामने आते ही सारा देश सन्न रह गया था और पीएम मोदी फ़ौरन एक्शन में आ गए थे. जिसके बाद खबर आयी थी कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह खुद सुकमा के लिए निकल गए थे.


छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का एनकाउंटर !

खबर आयी थी सरकार ने नक्सलियों को ढूंढ कर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के आदेश जारी किये थे. और अब इसी सिलसिले में एक बड़ी खबर सामने आ रही है. अभी-अभी आयी खबर के मुताबिक़ छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों का एनकाउंटर करके अपना बदला ले लिया है.

अब तक कुल 6 नक्सलियों के मारे जाने की खबर आयी है. प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़ एनकाउंटर अभी भी चल रहा है. एनकाउंटर में सुरक्षाबलों के 2 जवानो के घायल होने की भी खबर आयी है. सुरक्षाबलों ने अबतक 6 नक्सलियों को मौत के घाट उतार के उनके पास से काफी मात्रा में हथियार भी बरामद किये हैं.

सुकमा में हुआ था भयंकर नक्सली हमला !

आपको बता दें कि 11 मार्च को तकरीबन 300 नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगा कर उस वक़्त हमला कर दिया था जब सीआरपीएफ की 219 वीं बटालियन के जवान एक रोड ओपनिंग के लिए भेज्जी के जंगलो की ओर गए थे. हमला इतना भयानक था कि सीआरपीएफ के 12 जवानों की जान चली गयी थी और 5 अन्य घायल हो गए थे.

दरअसल, नक्सली नहीं चाहते कि बस्तर में सड़को का निर्माण किया जाए. ऐसे में यदि सरकार वहां सड़कें बनवाती है तो नक्सली निर्माण कार्यों में बाधा डालते रहते हैं. इस कारण से इस इलाके में सड़क निर्माण का काम सीआरपीएफ ने अपने हाथों में लिया हुआ है. जोकि नक्सलियों को कतई मंजूर नहीं. यही वजह है कि वो छिप के इन सुरक्षाबलों के जवानों पर हमला करते हैं.

नक्सलियों की हिंसा पर सरकार सख्त !

लेकिन नक्सली भूल गए कि देश में अब मोदी सरकार है और यदि वो ये सोचते हैं कि सुरक्षाबलों के जवानों पर हमला करके उन्हें मार के वो जंगलों में भाग जाएंगे और फिर उन्हें इसकी सजा नहीं मिलेगी तो ये उनकी बड़ी ग़लतफ़हमी ही होगी. एक हफ्ते के अंदर -अंदर ना केवल सुरक्षाबलों ने उन्हें ढूंढ निकाला बल्कि एनकाउंटर भी कर दिया.

देश के अंदर छिपे दुश्मनों और बाहर बैठे दुश्मनों को इसे ध्यान से देखना चाहिए और सबक लेना चाहिए कि भारत पर हमला करने वालों को सरकार किसी भी कीमत पर बख्शने वाली नहीं है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments