Home > ख़बरें > अभी-अभी : आतंकियों का अंत हुआ शुरू, पुतिन ने सबसे बड़े इस्लामिक देश पर दनादन दागीं मिसाइलें

अभी-अभी : आतंकियों का अंत हुआ शुरू, पुतिन ने सबसे बड़े इस्लामिक देश पर दनादन दागीं मिसाइलें

russian-navy-fires-missile-putin

नई दिल्ली : आतंकियों से दुनिया के लगभग सभी देश परेशान है और अब धीरे-धीरे सभी के सब्र ने जवाब देना भी शुरू कर दिया है. जहाँ एक ओर भारत पाकिस्तानी आतंकवाद से परेशान है, वहीँ रूस भी सीरिया में आईएसआईएस की तबाही के पीछे हाथ धो कर पड़ गया है.

अभी हाल ही में अमेरिकी ने भी सीरिया में इस्लामिक स्टेट के ठिकानों पर भारी बम बारी की थी और अब खबर आ रही है कि रूस ने भी सीरिया में आईएसआईएस के ठिकानों पर बमबारी तेज़ कर दी है. ख़बरों के मुताबिक़ इस वक़्त रूस के लगभग 69 लड़ाकू विमान सीरिया में भीषण बमबारी कर रहे हैं.

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के मुताबिक़ मौजूदा हवाई हमले आईएसआईएस के आतंकियों को हराने के लिए काफ़ी नहीं हैं. इसी के चलते रूस ने लगातार चौथे दिन आईएस के ठिकानों पर क्रूज़ मिसाइलें भी दागी हैं. लंबी दूरी की मारक क्षमता वाली ये मिसाइले कैस्पियन सागर में मौजूद रूस के युद्ध पोतों से दागी गई हैं.

ख़बरों के मुताबिक़ दागी गयी कई मिसाइलें सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण दीर-अल-ज़ूर इलाके पर भी गिरी हैं. आईएस के क़ब्जे वाले पूर्वी सीरिया का ये शहर स्वघोषित राजधानी रक़्क़ा और आईएस के क़ब्ज़े वाले इराक़ी क्षेत्र के मध्य में आता है. बताया जाता है कि इस क्षेत्र में भारी में तेल संसाधन भी हैं.


रूसी सेना का कहना है कि शुक्रवार को रक़्क़ा, इदलिब और अलेप्पो प्रांतों में उसने 18 क्रूज़ मिसाइलें दागी, जिनसे आईएस के सात ठिकाने पूरी तरह ध्वस्त हो गए. इस मामले में अमरीकी केंद्रीय कमांड के प्रवक्ता कर्नल पेट्रिक रॉयडर ने बताया कि हाल के दिनों में रूस ने आईएस के ठिकानों पर काफी हमले किये हैं और इन हमलों के द्वारा आईएस के कब्जे में मौजूद तेल के भंडारों को भी निशाना बनाया गया है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि रूस के अधिकतर हमले सीरियाई विपक्षी विद्रोहियों पर ही हुए हैं.

रूसी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक़ रूस ने पिछले चार दिनों की बमबारी में आईएस के ठिकानों पर सौ से भी ज्यादा क्रूज़ मिसाइलें दागी हैं और जिसके कारण आईएस के 800 से अधिक ठिकाने पूरी तरह से बर्बाद हो गए हैं. राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन का कहना है कि रूस को अभी भी बहुत काम करना है. उनका कहना है कि हमलों के अगले चरण में वांछित नतीजे मिल सकते हैं.

राष्ट्रपति के प्रवक्ता के मुताबिक़ रूस फिलहाल सीरिया में ज़मीनी सेना नहीं भेजेगा. रूस सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद के समर्थन में हवाई हमले कर रहा है. बता दें कि आईएस के आतंकियों ने मिस्र के सिनाई क्षेत्र में एक रूसी विमान को बम से उड़ा दिया था, जिसमे मारे गए 224 लोगों में से ज्यादातर रूसी थे. इसी के साथ पिछले शुक्रवार को फ़्रांस की राजधानी पेरिस में हुए सिलसिलेवार आतंकी हमलों की ज़िम्मेदारी भी आईएस ने ही ली है, जिसके बाद आईएस पर बमबारी तेज कर दी गयी है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments