Home > ख़बरें > चीन में हुई पाक की बुरी तरह छीछालेदर, पाकिस्तान में फहरा दिया तिरंगा, झुक गया नवाज का सर

चीन में हुई पाक की बुरी तरह छीछालेदर, पाकिस्तान में फहरा दिया तिरंगा, झुक गया नवाज का सर

lal-qila-lahore-pakistan

नई दिल्ली : ये पीएम मोदी का ही कमाल है, जिससे भारत का गौरव रात-दिन बढ़ता जा रहा है. वहीँ पाकिस्तान की जनता पाकिस्तान सरकार व् फ़ौज से इतनी तंग आ चुकी है कि खुल कर भारत का समर्थन करने लगी है. कश्मीर पर कब्जा करने का ख़्वाब देखने वाले पाकिस्तान के साथ चीन में कुछ ऐसा हैरतअंगेज हुआ, जिसकी दुनियाभर के मीडिया में चर्चा होनी शुरू हो गयी है, साथ ही पाकिस्तान की जमकर थू-थू भी हो रही है.

चीन में पाकिस्तान की झांकी पर लहराया तिरंगा

दरअसल चीन के प्रभुत्व वाले शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) में भारत और पाकिस्तान के शामिल होने के उपलक्ष्य में बीजिंग में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें दोनों देशों की झांकियां सजाई गईं. इस दौरान आयोजकों ने पाकिस्तान की झांकी में पाकिस्तान को भारत का हिस्सा दिखा दिया. पाकिस्तान की झांकी में भारत के लालकिले और उस पर लहराता तिरंगे को दर्शाया, जिसके चलते बवाल मच गया.

बताया जा रहा है कि चीन में निकाली गयी भारत की झांकी तो ठीक-ठाक थी लेकिन पाकिस्तानी झांकी में लाहौर के शालीमार गार्डेन की जगह भारत के लालकिले को दिखाया गया. इस कार्यक्रम में चीन के विदेश मंत्री वांग यी, चीन में भारतीय राजनयिक विजय गोखले के साथ ही पाकिस्तान के राजदूत मसूद खालिद समेत एससीओ के अन्य सदस्य भी शामिल थे. पाकिस्तानी झांकी में भारतीय लालकिले किले को देखकर दुनियाभर की मीडिया में ये चर्चा का विषय बन गया. इस बात के कयास लगाए जाने लगे कि कहीं जानबूझ कर तो ऐसा नहीं किया गया.


एससीओ समिट में भी शरीफ को दिखाया था ठेंगा

झांकी में हुई इतनी बड़ी गलती देख पाक राजनयिक के हाथ-पाँव फूल गए और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में पाकिस्तान की काफी फजीहत भी हुई. बता दें कि एससीओ समिट के दौरान भी पाकिस्तान की काफी फजीहत हुई थी, जब चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तो मिले लेकिन पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से उन्होंने बात तक नहीं की. वहीँ पीएम मोदी ने भी पाकिस्तान का नाम लिए बिना आतंकवाद के मुद्दे पर उसे जमकर लताड़ा था.

बहरहाल इस गलती के बारे में तुरंत आयोजकों को बताया गया. बीजिंग में आयोजित यह पहला ऐसा आयोजन है, जिसमें भारत और पाकिस्तान एक साथ शामिल हुए हैं. इसके बाद बृहस्पतिवार को एससीओ मुख्यालय पर भारतीय तिरंगे और पाकिस्तानी झंडे को लहराया जाएगा. झंडे को लहराए जाते वक़्त भारतीय राजदूत गोखले और पाकिस्तानी राजदूत खालिद ड्रम भी बजाएंगे.

गौरतलब है कि कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में आयोजित एससीओ समिट में भारत और पाकिस्तान को एससीओ का पूर्णकालिक सदस्य बनाया गया था. इससे पहले चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान ही इसके सदस्य देश थे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments