Home > ख़बरें > रेल से यात्रा करने वालों को सुरेश प्रभु का सबसे शानदार तोहफा, देश में आज तक नहीं हुआ था ऐसा

रेल से यात्रा करने वालों को सुरेश प्रभु का सबसे शानदार तोहफा, देश में आज तक नहीं हुआ था ऐसा

rail-yatri-taxi-service

नई दिल्ली : देश के विकास के लिए पीएम मोदी ने रात-दिन एक किया हुआ है, 2014 में शपथ ग्रहण के साथ ही उनकी लगातार यही कोशिश रही कि देश में हर क्षेत्र में चौतरफा विकास किया जाए. पीएम मोदी की इस कोशिश में रेल मंत्री सुरेश प्रभु भी पूरी शिद्दत से उनका साथ दे रहे हैं और तेजी से भारतीय रेलवे के विकास में लगे हुए हैं. इसी सिलसिले में अब भारतीय रेल ने एक बेहद अहम् फैसला लिया जिसकी पूरे देश में तारीफ़ की जा रही है.


रेल यात्रियों को कैब सुविधा !

दरअसल कई यात्रियों को स्टेशन पर उतरकर उनकी मंजिल तक पहुचने के लिए ऑटो या टैक्सी करनी पड़ती है. कई यात्रियों की ओर से स्टेशनों पर ऑटो और काली-पीली टैक्सी वालों की मनमानी शिकायत आने के कारण अब रेल मंत्रालय ने अपने यात्रियों को स्टेशन पर उतरने के बाद कैब की सुविधा देने का फैसला लिया है.

इस सुविधा के लिए प्रशासन मोबाइल एप आधारित कैब का सहारा लेगा. ट्रेन में सफर करने वाले यात्री यदि मोबाइल एप के माध्यम से टैक्सी बुक करते हैं तो उन्हें उनका सामान खुद से ढोकर या कुलियों को अलग से पैसे देकर स्टेशन परिसर के बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी.

एप के माध्यम से बुक की गयी टैक्सी यात्रियों के लिए स्टेशन की पार्किंग में ही मौजूद रहेगी. रेलवे अपने परिसर में उन्हें जगह देगा, ताकि यात्रियों को असुविधा ना हो और वो आराम से अपने घर तक पहुंच सके. रेल मंत्रालय के मुताबिक़ रेल यात्रियों को ये सुविधा काफी अच्छी लग रही है.


यात्रियों के साथ रेलवे का भी फायदा !

इसके लिए रेल मंत्रालय के एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर (नॉन फेयर रेवेन्यू) रंजन पी ठाकुर की ओर से रेलवे के सभी जोन को पत्र द्वारा मसवरा दिया गया है कि एप आधारित टैक्सी की सुविधा देने वालों के लिए रेलवे के सर्कुलर पर टेंडर निकाला जाए.

बंगलूरू रेल मंडल में ऍप आधारित टैक्सी का प्रयोग किया जाना शुरू हो चुका है, इस बात का जिक्र भी पत्र में किया गया है. उनके मुताबिक़ इससे ना केवल यात्रियों को फायदा मिल रहा है, बल्कि रेलवे की भी 51 करोड़ रुपये की अतिरिक्त कमाई हो रही है. इसलिए एप आधारित टैक्सी संचालकों को कियोस्क ओर पार्किंग की सुविधा मुहैया कराने के लिए टेंडर निकाला जाए.

रेल यात्री रेलवे की इस सुविधा की काफी तारीफ़ कर रहे हैं, उनके मुताबिक़ लाल-पीली टैक्सी की मनमानी से अब उन्हें निजात मिलेगी. सोशल मीडिया पर लोगों ने ट्वीट करके रेल मंत्री सुरेश प्रभु को इसके लिए धन्यवाद दिया.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल

loading...

Comments

2016 DD Bharti |