Home > ख़बरें > राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जाने से पहले किया पीएम मोदी का ये बड़ा खुलासा, कांग्रेस में पसरा मातम

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जाने से पहले किया पीएम मोदी का ये बड़ा खुलासा, कांग्रेस में पसरा मातम

नई दिल्ली : देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने आकर्यकाल के अंतिम दिन पूरे देश को सम्बोधित किया. जहाँ उन्होंने सबसे पहले भावी राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद को बधाई देते हुए कहा,‘‘ मैं भावी राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद को बधाई देता हूं और उनका हार्दिक स्वागत करता हूं और उन्हें आने वाले कई वर्षो में सफलता और खुशहाली की शुभकामनाएं देता हूं.’’ इसके साथ ही उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में भी कई बड़ी बातें कहीं.


देश को संबोधित करते हुए उन्होंने आगे कहा कि सांस्कृतिक विविधता ही भारत को खास बनाती है. इसके बाद उन्होंने कहा “भारत का संविधान मेरा पवित्र ग्रंथ रहा है , भारत की संसद मेरा मंदिर रहा है और भारत की जनता की सेवा मेरी अभिलाषा रही है.’’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘ मैं आपके साथ कुछ सच्चाइयों को साझा करना चाहूंगा जिन्हें मैंने इस अवधि के दौरान आत्मसात किया है.’’.

अपने कार्यकाल के अंतिम दिन प्रणब मुखर्जी ने पीएम मोदी के लिया कहीं बेहद चौंकाने वाली बातें

लेकिन बड़ी बात येह रही कि कांग्रेस पार्टी से राजनीति शुरू करने वाले मुखर्जी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, पीवी नरसिंहा राव, मनमोहन सिंह की सरकार के कामकाज को देखने के बाद भी उन्होंने सबसे ज़्यादा तारीफ मौजूदा पीएम मोदी की सरकार की करी. उन्होंने कहा कि सेना को सबसे ज़्यादा मज़बूत पीएम मोदी ने ही किया है. जैसे सेना को खुली छूट देना, 18 साल बाद ऑपरेशन कासो के लिए सेना को इजाज़त देना. जहाँ पिछली सरकारों ने सेना के हाथ पाँव बाँध रखे थे. एक एक ऑपरेशन के लिए सेना को कांग्रेस सरकार से इजाज़त लेनी पड़ती थी.


कांग्रेस ने ही साल 1962 में सेना को युद्ध हरवा दिया था. लेकिन आज सेना को अत्याधुनिक हथियारों से लैस किया जा रहा हैं. बुलेट प्रूफ गाड़ियां, आधुनिक हेलमेट, बुलेटप्रूफ जैकेटें दिलवायीं. तो वहीँ अभी RTI से खुलासा भी हुआ था की हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार सर्जिकल स्ट्राइक भी पीएम मोदी ने करवाई.

आतंकियों पर नहीं किया रहम

आपको बता दें प्रणब मुखर्जी ने आतंकवादियों पर कभी रहम नहीं खाया. अपने पूरे कार्यकाल में उन्होंने 34 दया याचिकाओं को खारिज किया. इसमें खतरनाक अफजल गुरू और अजमल कसाब जैसे आंतकवादी की भी दया याचिकाएं शामिल थी. उनके कार्यकाल में ही इन दोनों आतंकवादियों को फांसी के फन्दे पर लटकाने में सफलता मिल पायी थी.

पीएम मोदी ने भी बताया था पिता सामान

आपको याद ही होगा 1 जुलाई, 2017 को संसद के केंद्रीय सभागार में प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक साथ बटन दबाकर जीएसटी का शुभारम्भ किया था. अपने विदाई भाषण में भी प्रणब मुखर्जी ने मोदी और अपने सम्बन्ध का जिक्र करते हुए कहा कि उनके प्रति विनम्र व्यवहार के लिए वो हमेशा पीएम मोदी को याद रखेंगे. जीएसटी लांच के अगले दिन ही पीएम मोदी ने भी राष्ट्रपति प्रणब की जमकर तारीफ करी थी. पीएम मोदी ने कहा कि उनके लिए प्रणब मुखर्जी पिता की तरह रहे हैं. मोदी ने कहा, ”प्रणब दा मेरा ख्याल पिता की तरह रखते हैं. वो हमेशा मेरी सेहत की चिंता करते रहते हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments