Home > ख़बरें > राजनीतिक पार्टियां 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों में चंदा नहीं ले सकतीं – वित्त मंत्रालय

राजनीतिक पार्टियां 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों में चंदा नहीं ले सकतीं – वित्त मंत्रालय

media-lies-caught

नई दिल्ली : राजनीतिक पार्टियों को इंकम टैक्स में छूट दिए जाने पर पुरे देश में बवाल मच गया है। मगर असल में ये खबर मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए ही चलाई गयी है। इस मुद्दे पर अब वित्तमंत्रालय ने बयान जारी करा है, वित्त मंत्रालय ने बताया कि राजनीतिक पार्टियां 500 और 1000 के नोटों में चन्दा नहीं ले सकती हैं।

उन्होंने अपने बयान में बताया कि मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए मीडिया द्वारा ऐसी झूठी ख़बरें चलाई जा रही हैं। राजनीतिक पार्टियों को कोई विशेष छूट नहीं दी गयी है और आयकर विभाग के अधिकारी उनसे भी वैसे ही पूछताछ कर सकते हैं जैसे किसी अन्य व्यक्ति से।

राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने साफ़ किया है कि 500 और 1000 के पुराने नोट अब वैध नहीं रह गए हैं, इसलिए राजनीतिक पार्टियां पुराने नोटों में चंदा नहीं ले सकतीं।

अब आपकी बारी

पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले से कालाबाजारियों के साथ-साथ कुछ नेताओं और कुछ मीडिया संस्थानों का कालाधन भी रद्दी हो चुका है इसलिए सभी तिलमिलाए हुए हैं। इस पोस्ट को शेयर करें ताकि सब को पता चले कि मीडिया भ्रम फैला रही है।


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments