Home > ख़बरें > राष्ट्रवादियों की मुहिम से कांग्रेस को झन्नाटेदार तमाचा, दबाव में आये सोनिया-राहुल का बड़ा फैसला

राष्ट्रवादियों की मुहिम से कांग्रेस को झन्नाटेदार तमाचा, दबाव में आये सोनिया-राहुल का बड़ा फैसला

rahul-sonia-cow-slaughter

केरल : मोदी सरकार ने देश में पूरी तरह से गौ हत्या पर पाबंदी लगाते हुए गोकशी को रोकने के लिए पशु क्रूरता अधिनियम, 1960 के अंतर्गत स्लॉटर हाउस में गायों के साथ कई अन्य जीवों की खरीद-फरोख्त पर नए नियम बनाए. जिसके विरोध में केरल यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने खुलेआम एक गाय को काटा और बीफ फेस्टिवल मनाया. हालांकि कांग्रेस को उसका यही दांव उलटा पड़ गया.


कांग्रेस ने गौहत्या के आरोपी 3 कार्यकर्ताओं को पार्टी से निकाला

शनिवार रात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राजशेखरन ने अपने ट्विटर हैंडल से कोंग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा गौहत्या करने वाला वीडियो ट्वीट कर दिया. जिसके बाद देशभर में कांग्रेस के खिलाफ गुस्सा भड़क उठा. सोशल मीडिया में ये वीडियो वायरल हो गया और लोगों ने जमकर कांग्रेस के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली. मामला हाथ से निकलता देख कांग्रेस ने इस पूरी घटना से अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की.

मामले को तूल पकड़ता हुआ देख कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी डैमेज कण्ट्रोल में लग गए और अपने कार्यकर्ताओं द्वारा गौहत्या किये जाने का विरोध जताते हुए ट्वीट करके अपने कार्यकर्ताओं को लताड़ लगाई. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘ये ऐसी घटना है जिसका समर्थन कोई नहीं कर सकता‘.  इतने पर भी मामला शांत ना होते देख दबाव में आयी कांग्रेस पार्टी ने फौरी तौर पर कार्रवाई करते हुए पार्टी के तीन कार्यकर्ताओं को निलंबित कर दिया.


16 कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज

वहीँ केरल के कुन्नूर पुलिस ने यूथ कांग्रेस के 16 कार्यकर्ताओं पर केस भी दर्ज कर लिया. गाय काटने के आरोप लगने के बाद पुलिस ने केरल के युवा कांग्रेस कार्यकर्ता रिजिल मकुलती के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

पीएम मोदी से टकराव के मूड में केरल सरकार

कांग्रेस को बैकफुट में आते देख केरल की विजयन सरकार के तेवर तल्ख हो गए हैं और बताया जा रहा है कि केरल सरकार वध के लिए पशुओं की बिक्री पर केंद्र के प्रतिबंध के विरोध में कानून लाने पर विचार कर रही है. केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर केंद्र के निर्णय का विरोध किया.

केरल के मुख्यमंत्री विजयन ने केंद्र सरकार और आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि केरल के लोगों को नई दिल्ली या नागपुर से खान-पान की आदतों को लेकर सबक सीखने की जरूरत नहीं है. वहीँ स्थानीय प्रशासन मंत्री के टी जलील ने स्पष्ट किया कि केंद्र सरकार के पशु वध प्रतिबन्ध के खिलाफ केरल सरकार नया कानून लाने पर विचार कर सकती है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल

loading...

Comments

2016 DD Bharti |