Home > ख़बरें > पकिस्तान को लगा अब तक का सबसे तगड़ा झटका, दुनिया भर में इस वजह से हो रही पाक फ़ौज की थू थू

पकिस्तान को लगा अब तक का सबसे तगड़ा झटका, दुनिया भर में इस वजह से हो रही पाक फ़ौज की थू थू


श्रीनगर : पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अब लोगों के सब्र का बाँध टूट रहा है. अब वक़्त आ गया है कि इसे भी पाकिस्तान से आज़ादी मिल जानी चाहिए. पाक फ़ौज के आये दिन अत्याचारों महिलाओं का शोषण बच्चों को आतंकवाद में झोंकने के लिए पीओके को पाकिस्तान ने आतंकवाद की फैक्ट्री बना के रख दिया है. इसकी आज़ादी के लिए ही अभी बड़ी खबर आ रही है जो पाकिस्तान को नंगा कर देगी.

पाकिस्तान के झंडे जलाये गए

अभी मिल रही पीओके से बड़ी खबर आ रही है जिसमें पीओके में पाकिस्तान की ज़्यादतियों के खिलाफ माहौल गर्म हो गया है. तभी आज आम लोगों से लेकर छात्र तक, हर वर्ग के शख्स हज़ारों की तादाद में पाकिस्तान के खिलाफ सड़कों पर उतर आये हैं. जिसमें पाकिस्तान के झंडे जलाये गए और पीओके की आज़ादी के नारे खूब जोर शोर से लगाए जा रहे हैं.

पाकिस्तान चला रहा है आतंक की फैक्ट्री

एएनआई की रिपोर्ट अनुसार रैली का आयोजन जम्मू और कश्मीर नेशनल स्टूडेंट्स फेडरेशन ने किया. यहां के क्षेत्रीय नेता लियाकत खान ने विशाल रैली में कहा कि वह पाकिस्तान से आज़ादी अब हर हाल में लेके रहेंगे. उनके क्षेत्र में पाकिस्तान ने ज़बरदस्ती कब्ज़ा आकर रखा है. यही नहीं पाकिस्तान की फ़ौज और ISI यहाँ आतंकवादियों को भेजती है और आतंकियों को ट्रेनिंग भी दिलाती है.

आपको बता दें पाकिस्तान की फ़ौज पीओके के लोगों पर जुल्म कर रही है और महिलाओं का शोषण कर रहे हैं. साथ ही जो भी पाकिस्तान के खिलाफ सर उठता है उसका सर काट दिया जाता. कई क्षेत्रीय नेताओं के किडनैप और गुमनाम तरीके से गायब होने की खबरें आती रही हैं.

महिलाओं का हो रहा शोषण

तो वहीँ भारत हमेशा से यह कहता रहा है कि पीओके और गिलगित-बाल्टिस्तान पर पाकिस्तान का कब्जा अवैध है और उन्हें अब पाकिस्तान से आज़ादी मिल जानी चाहिए. JKNSF के कई नेताओं ने आरोप लगाया कि पाकिस्तानी सेना और पाक खुफिया एजेंसियों ने उनकी ‘मातृभूमि को आतंकवादी की पनाहगाह’ में तब्दील कर दिया है.


पाकिस्तान के तीन टुकड़े कर देने चाहिए

ऐसे में योग गुरु बाबा रामदेव ने भी अभी बयान दिया था कि भारत को बलूचिस्तान की आजादी के आंदोलन का समर्थन करना चाहिए और पाकिस्तान के तीन टुकड़े कर देने चाहिए. पाकिस्तान और भारत की आजादी के पहले से ही बलूचिस्तान एक स्वतंत्र राष्ट्र रहा है, लेकिन 1948 में पाकिस्तन ने उस पर आक्रमण करने उसे अपने कब्जे में ले रखा है.

1948 से अब तक लाखों बलूचों का कत्लेआम किया गया है. बच्चों और महिलाओं को मारा गया है ताकि बलूच जाति का अस्तित्व ही मिट जाए. अब पाकिस्तान वहां पर आतंकवादियों के अड्डे बनाकर वहां आतंकवादियों के वर्चस्व स्थापित करना चाहता है.

JKNSF के एक बड़े नेता लियाकत खान ने कहा, ‘जब पाकिस्तान ने नीलम झेलम, मंगला बांध बनाया तब उसे यह नहीं लगा कि यह इलाका विवादित है. लेकिन जब हम अपने अधिकार मांगते हैं, तो हमारी पहचान एक विवादित क्षेत्र के निवासियों की हो जाती है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments