Home > ख़बरें > पाकिस्तान से आयी इस खतरनाक खबर से ख़ुफ़िया एजेंसी आयी सकते में, पूरी दुनिया में मची खलबली

पाकिस्तान से आयी इस खतरनाक खबर से ख़ुफ़िया एजेंसी आयी सकते में, पूरी दुनिया में मची खलबली

श्रीनगर : पूरे हिंदुस्तान में कल यानी 26 जुलाई को पाकिस्तान की बुरी तरह हार और भारत का कारगिल विजय दिवस के रूप में मनाया गया. भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विजय दिवस पर कारगिल युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी. 26 जुलाई 1999 को परवेज मुशर्रफ की साज़िश का पर्दाफाश करके हिंदुस्तान ने पूरी तरह पाकिस्तान के कब्जे से कारगिल को आज़ाद करा लिया था. तो वहीँ आज परवेज़ मुशर्रफ ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया जिसने लोगों में गुस्से की आग को फिर भड़का दिया है.


परवेज़ मुशर्रफ ने कार्गिल विजय दिवस पर किया बड़ा खुलासा

अभी अभी बड़ी खबर आ रही है जिसमें पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ ने एक बार फिर भारत के खिलाफ ज़हर उगलते हुए बड़ा खुलासा किया है. जापानी डेली ‘मेनिची शिमबुन’ अखबार में परवेज़ मुशर्रफ ने इंटरव्यू देते हुए कहा है कि साल 2001 में भारतीय संसद पर हमले के दौरान भारत पाकिस्तान के बीच युद्ध जैसे हालात बन गए थे. ऐसे में मुशर्रफ भारत पर परमाणु हमला करने की योजना बना रहे थे, योजना पूरी तरह तैयार हो चुकी थी.

भारत के खिलाफ रच रहा था खतरनाक साज़िश

मेनची शिंबुन को दिए इंटरव्यू में 73 वर्षीय मुशर्रफ ने कहा कि दोनों देशों में युद्ध की धमकियाँ दी जा रही थी .जब वह परमाणु हथियारों को मोर्चों पर तैनात करने के बारे में विचार कर रहे थे तो वह कई रातों तक सो नहीं पाए थे.

हालाँकि आगे मुशर्रफ कहते हैं कि भारत का भी जवाबी हमला पाकिस्तान पर परमाणु से ही कर सकता था. इसलिए जवाबी हमले के डर से मुशर्रफ ने अपना फैसला टाल दिया. आगे मुशर्रफ ने कहा कि “‘मैं खुद से ये सवाल पूछता रहता था कि मुझे परमाणु हथियार तैनात करने चाहिए या नहीं।”.परवेज ने खुलासा किया कि परमाणु हथियार इस्तेमाल करने के बारे में उन्होंने काफी सोचा लेकिन भारत के जवाबी हमले से भारी जान माल के नुकसान के डर से इरादा बदल दिया.


मुशर्रफ के अनुसार एटमी हमला करने के लिए एक से दो दिन लग सकते थे. जब उनसे ये पूछा गया कि क्या उन्होंने मिसाइलों पर वॉरहेड्स लगाने का ऑर्डर दिया था तो जवाब में मुशर्रफ कहते है.हमने ऐसा नहीं किया और मुझे लगता है कि भारत ने भी न्युक्लियर वॉरहेड्स मिसाइलों पर नहीं लगाए होंगे. खुदा का शुक्र है हमने युद्ध नहीं किया.

आपको बता दें आर्मी चीफ रहे मुशर्रफ ने ही नवाज शरीफ सरकार को बर्खास्त कर पाकिस्तान की सर्वोच्य सत्ता पर कब्जा किया था और अक्टूबर 1999 में खुद को ही पाकिस्तान का आर्मी चीफ घोषित कर दिया था. पिछले कई सालों से दुबई भागा हुआ है. यही नहीं इसी मुशर्रफ पर 2007 में पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या करने का आरोप है.

 


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments