Home > ख़बरें > अभी-अभी : भारत में आतंक फैलाने के लिए दरिंदगी पर उतरा पाकिस्तान, ना’पाक साजिश का पर्दाफ़ाश !

अभी-अभी : भारत में आतंक फैलाने के लिए दरिंदगी पर उतरा पाकिस्तान, ना’पाक साजिश का पर्दाफ़ाश !

pakistan-using-kids-for-terrorism

श्रीनगर : कृष्णा घाटी में पाकिस्तानी सेना द्वारा दो भारतीय सैनिकों की ह्त्या व् उनके शवों के साथ बर्बरता से सारा देश गुस्से से भर उठा था. पाकिस्तान के खिलाफ उठती सख्त कार्रवाई की मांग के बीच पीएम मोदी ने सेना को खुली छूट भी दे दी. सेना प्रमुख ने कहा कि सेना कार्रवाई भी करेगी, लेकिन पाकिस्तान है कि अपनी ना’पाक हरकतों से बाज ही नहीं आ रहा है. अभी-अभी पाकिस्तान की एक और ना’पाक करतूत की खबर सामने आ रही है.

आतंकी घुसपैठ के लिए बच्चों का इस्तमाल !

खबर आयी है कि दरिंदगी की सभी हदें पार कर चुके पाकिस्तान ने अब भारत में आतंक फ़ैलाने के लिए नई तरकीबे अपनानी शुरू कर दी हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पाकिस्तान ने इस काम के लिए अब बच्चो का सहारा लेना शुरू कर दिया है. छोटे बच्चों द्वारा अब पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ को अंजाम दे रहा है.

ख़बरों के मुताबिक़ सेना ने ऐसे ही एक पाकिस्तानी किशोर को जम्मू के राजौरी स्थित नौशेरा सेक्टर में एलओसी के पास से गिरफ्तार किया है. जांच के दौरान पता चला कि 12 वर्षीय इस किशोर का नाम अशफाक अली है और ये बुधवार रात को नौशेरा सेक्टर में घुस आया था. रक्षा विभाग के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि अशफाक एलओसी के पास घूम रहा था.

बीएसएफ की शराफत का नाजायज फायदा !

उसकी हरकतों को लेकर गश्त लगा रहे सैनिकों को शक हुआ, तो उसने फ़ौरन सरेंडर कर दिया. सैन्य प्रवक्ता के मुताबिक, पूछताछ करने पर अशफाक ने बताया कि वो बलूच रेजिमेंट के रिटायर्ड सैनिक हुसैन मलिक का बेटा है और पीओके में भीमबेर जिले के समानी तहसील स्थित डुंगर पेल गांव का निवासी है. सैन्य प्रवक्ता के मुताबिक़, ऐसी आशंका है कि आंतकियों ने पाकिस्तानी सेना की सहायता से उस लड़के को इसलिए एलओसी के पार भेजा, ताकि वो आतंकियों की घुसपैठ के लिए आसान रास्तों की निशानदेही कर सके.


पाकिस्तान की ना’पाक सेना को पता है कि बच्चे को पकड़ भी लिया तो मासूम समझकर बीएसएफ के जवान पाकिस्तान को लौटा देंगे, उसकी जान को कोई ख़तरा नहीं होगा. और यदि बच्च नहीं पकड़ा गया तो आतंकी घुसपैठ के लिए आसान रास्तों की निशानदेही कर लेगा, जहाँ गश्ती दल ना हो और मौत का तांडव मचाने के लिए आतंकी सरलता से भारत पहुंच जाएंगे.

बॉर्डर पर तैनात बोफोर्स तोप !

आगे की जांच के लिए सेना ने अब इस पाकिस्तानी किशोर को पुलिस के हवाले कर दिया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पाकिस्तान का भीमबेर ही वो इलाका है, जहां आतंकी लांच पैड होने की खबर मिलने के बाद पिछले साल भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक किया था और कई आतंकियों के साथ दो पाकिस्तानी सैनिक भी मारे गए थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, सेना ने एलओसी के पास कृष्णा घाटी में बोफोर्स तोपों की तैनाती करनी शुरू कर दी है ताकि पाकिस्तान को ज़रा जोर का झटका दिया जा सके. पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देने के लिए कृष्णा घाटी में अबतक 4000 जवानों को भी तैनात किया गया है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments