Home > ख़बरें > भारत में तबाही मचाने के लिए पाकिस्तान की खौफनाक साज़िश का खुलासा,गुस्से में आयी भारतीय सेना

भारत में तबाही मचाने के लिए पाकिस्तान की खौफनाक साज़िश का खुलासा,गुस्से में आयी भारतीय सेना

नई दिल्ली : भारत का पड़ोसी देश जिसे अमेरिका ने भी इतनी बड़ी उपलब्धि दे दी है कि आतंकवादियों का स्वर्ग है पाकिस्तान. साथ ही उसमें पल रहे आतंकवादी तो अब राजनितिक पार्टिया बना कर चुनाव लड़ रहे हैं. करोड़ों के घोटाले के बाद नवाज़ शरीफ को गद्दी से उतार फेंका गया तो अब ये नए पीएम ने अपनी औकात दिखानी शुरू कर दी है.


भारत के खिलाफ परमाणु बम तैयार कर लिए गए हैं

अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में शिरकत करने पहुंचे पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने बड़ी धमकी देते हुए कहा है कि “भारतीय सेना की ‘कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रीन’ से निपटने के लिए हमारे देश ने कम दूरी के परमाणु हथियार तैयार कर लिए हैं”.

यानी कि पाकिस्तान का कोई भी पीएम हो उसे अपना देश प्यारा है ही नहीं जब देखो मुँह उठाके परमणु की धमकी दे देता है. अपने देश में लोगों को खिलाने के लिए दो वक़्त की रोटी का बंदोबस्त नहीं कर सकता लेकिन अकड़ता ऐसे है जैसे अपने आपको नार्थ कोरिया समझ लिया हो.

इसके आगे अपनी कमियों पर पर्दा डालते हुए अब्बासी ने कहा पाकिस्तान एक जिम्मेदार देश है, हमने पिछले 15 साल में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़कर ये साबित किया है. उन्होंने कहा कि हमारे पास न्यूक्लियर ताकत है और हमें पता है कि उसे कैसे संभालना चाहिए. आतंकवाद के खिलाफ ऐसा ज़बरदस्त पाकिस्तान लड़ता है तो फिर ओसामा पाकिस्तान में ही क्यों मारा जाता है.?


लगता है पाकिस्तान पीएम जानबूझ कर इस बात से अनजान बन रहे हैं कि उनके देश में आतंकी कैंप चलते हैं और भारत में आये दिन सीमा पार करके घुसने की कोशिश करते हुए मारे जाते हैं.

दरअसल इस वक़्त सभी देशों को पाकिस्तान से जो सबसे बड़ा खतरा है वो ये कि आतंकवादी किसी दिन पाकिस्तान के परमाणु बम पर कब्ज़ा कर लेंगे और अपने नापाक मंसूबों के लिए किसी देश को हानि पंहुचा सकते हैं.

अब्बासी ने कहा कि पूरी दुनिया में परमाणु मामलों में हमारा कमांड एंंड कंट्रोल सबसे ज्यादा सुरक्षित है. इसलिए इस बात की कोई गुंजाइश नहीं है कि किसी आतंकी संगठन या आतंकी के जरिए इस शक्ति का गलत इस्तेमाल लिया जा सकेगा.

क्या है कोल्ड स्टार्ट नीति?

भारत ने 2001 में संसद पर हुए हमले के बाद ‘कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रीन’ तैयार किया था. इसके तहत युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान को तैयारी का मौका दिए बिना सभी सेनाएं मिलकर तेजी से हमले को अंजाम देंगी. युद्ध की स्थिति में अंतरराष्ट्रीय शक्तियों द्वारा सीजफायर की मांग उठाने से पहले ही ज्यादा नुकसान पहुंचा देने का कॉन्सेप्ट इसमें शामिल है. इसमें पाकिस्तान के इलाकों पर कब्जा और उसे परमाणु हथियारों के इस्तेमाल से रोकने की भी बात है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments