Home > ख़बरें > सुबह-सुबह पाकिस्तान ने फिर किया भारत पर हमला, भारतीय सेना ने दागी तोप, पाक फ़ौज में पसरा मातम

सुबह-सुबह पाकिस्तान ने फिर किया भारत पर हमला, भारतीय सेना ने दागी तोप, पाक फ़ौज में पसरा मातम

indian-military-tank-war

नई दिल्ली : भारत की लाख कोशिशों के बावजूद पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. पिछले चार दिनों से पाकिस्तान लगातार एलओसी से सटी भारतीय चौकियों एवं रिहायशी इलाकों में गोलाबारी और फायरिंग कर रहा है.

भारत पाकिस्तान में हो रही है भीषण गोलीबारी

भारत-पाक सीमा पर बुधवार की सुबह एक बार फिर पाकिस्तान ने सीजफायर का उलंघन किया है. पाकिस्तानी सेना ने बालाकोट सेक्टर में आज सुबह फायरिंग करनी शुरू कर दी. जिसके बाद भारतीय सेना ने भी पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए भारी गोलीबारी शुरू कर दी. भारतीय सेना की जवाबी फायरिंग इतनी भीषण थी कि पाकिस्तानी सेना का काफी नुक्सान होने की खबर आ रही है.

पाक फ़ौज को जवाब देते हुए भारतीय सेना ने गोलियों के साथ-साथ हल्की तोपों का इस्तमाल करते हुए गोले भी बरसाए. बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी फ़ौज के 15 बंकर पूरी तरह से तबाह कर दिए गए हैं. तबाह हुए इन बंकरों में कई पाक सैनिक भी छिपे थे, जिनके मारे जाने की खबर है.

खाली कराये जा रहे हैं इलाके

पाकिस्तानी गोलाबारी और फायरिंग के चलते जम्मू-कश्मीर के रजौरी जिले के लगभग 1700 लोगों को इलाके से बाहर निकाला गया है. पाकिस्तान सेना ने एलओसी से सटे रजौरी जिले में मंगलवार रातभर गोले दागे. पाकिस्तानी गोलाबारी और फायरिंग से सीमावर्ती गावों में रहने वाले 10 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

फिलहाल पाकिस्तानी सेना नौशहरा सेक्टर में गोलीबारी कर रही है. पाकिस्तानी रेंजरों द्वारा नौशहरा के लाम सेक्टर में भीषण गोलीबारी की जा रही है. पाकिस्तानी सेना नौशहरा सेक्टर में एलओसी पर 82 एमएम और 120 एमएम के मोर्टार के गोले दाग रही है. भारतीय जवान भी गोलीबारी का मुंंहतोड़ जवाब दे रहे हैं. भारतीय सेना के किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है. खबर लिखे जाने तक इलाके में गोलीबारी जारी है.

बता दें कि इससे पहले रविवार को भी पाकिस्तानी सेना ने एलओसी पर गोलीबारी की थी. पाक फ़ौज की गोलीबारी के चलते राजोरी, नौशहरा के कई गांवों के लोगों को विस्थापित कर सुरक्षित स्थानों पर राहत शिविरों में पहुंचाया गया है. एलओसी से सटे गांवों में सन्नटा पसरा हुआ है और स्थानीय लोगों में डर का माहौल व्याप्त है.

एक साल में 268 बार सीजफायर का उल्लंघन

रक्षा सूत्रों ने बताया कि पाक फ़ौज जनगढ, भवानी और लाम इलाकों को निशाना बना कर फायरिंग कर रहे हैं. पाकिस्तान रेंजर्स ने मंगलवार को भी एलओसी पर गोलीबारी करके सीजफायर का उल्लंघन किया था, जिसमें एक बीएसएफ जवान घायल हो गया था. 10 और 11 मई को भी जम्मू्-कश्मीर में एलओसी के पास असैन्य इलाकों में पाक फ़ौज ने स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की थी और मोर्टार भी दागे थे, जिसके चलते एक स्थानीय महिला की मौत हो गई थी और दो अन्य लोग घायल हो गए थे.

पाक फ़ौज द्वारा की जा रही फायरिंग के कारण राजौरी जिले की नौशेरा तहसील में 11 और 12 मई को स्कूल बंद कर दिए गए थे. विभिन्न सीमावर्ती बस्तियों में रह रहे 1500 से ज्यादा स्थानीय लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने की योजना पर काम करना शुरू कर दिया गया है. वहीँ सरकार द्वारा दिए आंकड़ों के मुताबिक़ पाकिस्तानी सेना ने पिछले एक साल में 268 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है.

मानसिक दीवालियापन का शिकार हो चुका है ना’पाक

भारतीय सेना द्वारा पाक फ़ौज को मुहतोड़ जवाब दिया तो जा रहा है, पाक सैनिक मारे भी जा रहे हैं, लेकिन पाकिस्तान को शायद अपने सैनिकों की जान प्यारी ही नहीं है. इसीलिए लगातार अपने सैनिकों के मारे जाने के बावजूद वो प्रतिदिन सीमा पर बिना उकसावे के सीजफायर का उलंघन किये जा रहा है. पाक द्वारा की जा रही ऐसी हरकत किसी पागलपन से कम नहीं है क्योंकि पाकिस्तान भारत से भी ज्यादा गरीब देश है, जहाँ लोगों के पास खाने को ना हो, वहां की फ़ौज अरबों रुपये हथियारों और बमों पर खर्च कर पड़ोसियों पर हमले करे, इसे केवल एक तरह का मानसिक दीवालियापन ही कहा जा सकता है.

भारत के अन्य कई पडोसी देशों के साथ बेहद अच्छे सम्बन्ध हैं. कोई इस तरह से सीजफायर का उलंघन नहीं कर रहा, जैसा पाकिस्तान करता आ रहा है. भारत के विकास को देख खुद भी विकास करने की जगह पाकिस्तान जलन और ईर्ष्या से ही मरा जा रहा है और इसके चलते आयेदिन आतंकी घुसपैठ कराने के लिए सीमा पर गोलीबारी कर रहा है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments