Home > ख़बरें > ट्रम्प ने दिखाया अपना रौद्र रूप, पेड मीडिया का किया बंटाधार, सारी दुनिया में मची खलबली

ट्रम्प ने दिखाया अपना रौद्र रूप, पेड मीडिया का किया बंटाधार, सारी दुनिया में मची खलबली

trump-angry-at-paid-media

नई दिल्ली : अभी कुछ ही वक़्त पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मीडिया के एक धड़े को फटकार लगाते हुए उसे पेड मीडिया कहा था. ट्रम्प ने कहा था कि पेड मीडिया फ़र्ज़ी ख़बरें चलाता है और अमेरिका का सबसे बड़ा दुश्मन है. अब खबर आयी है कि ट्रम्प ने इस सिलसिले में कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं जिसकी चर्चा देश-विदेश के मीडिया में की जा रही है.


मीडिया पर चला ट्रंप का चाबुक

डोनाल्ड ट्रम्प ने हाल ही में अपने एक बयान में कहा था कि फेक न्यूज फैलाने वाले जानबूझ कर सही खबर नहीं दिखाते और वो अमेरिका के दुश्मन हैं. उन्होंने ट्विटर पर भी लिखा था कि न्यू यॉर्क टाइम्स, एनबीसी न्यूज, एबीसी. सीबीएस, सीएनएन ये सभी फेक न्यूज मीडिया है, ये मेरे नहीं बल्कि अमेरिकी लोगों के दुश्मन हैं. उनके इस बयान के थोड़ी ही देर बाद खबर आयी है कि बीबीसी, सीएनएन, द न्यूयॉर्क टाइम्स के अलावा कुछ अन्य मीडिया संस्थानों को व्हाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी सीन स्पाइसर की सूची से हटा दिया गया है.

पेड मीडिया और फ़र्ज़ी ख़बरें चलाने के मुद्दे पर काफी वक़्त से ट्रम्प द न्यूयॉर्क टाइम्स और सीएनएन को घेरते आए हैं. अभी हाल ही में अमेरिका में एक बेहद हैरान करने वाली मीडिया रिपोर्ट आयी थी, जिसमे कहा गया था कि ट्रम्प के सहयोगियों के तार रूस से जुड़े हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक़ ऐसी ख़बरों को देख ट्रम्प काफी भड़क भी गए थे और उन्होंने कई मीडिया संस्थानों को फ़र्ज़ी ख़बरें चलाने के लिए खरी-खरी सुनाई थी.


भारत में भी गर्माया पेड मीडिया का मुद्दा

अब खबर आयी है कि प्रेस ब्रीफिंग के लिये बुलाये गए मीडिया संस्थानों की सूची में से बीबीसी, द न्यूयॉर्क टाइम्स और सीएनएन जैसे कुछ मीडिया संस्थानों के नाम हटा दिए गए हैं. इस खबर के बारे में पता कहते ही सारी दुनिया के मीडिया संस्थानों में खलबली मच गयी है, कई देशों के मीडिया संस्थानों ने ट्रम्प के इस कदम की समीक्षा करनी शुरू कर दी है. गौरतलब है कि अमेरिका के अलावा भारत में भी काफी वक़्त से पेड मीडिया का मुदा गर्माया हुआ है.

भारत में भी कई लोगों का कहना है कि मीडिया का एक धड़ा हर वक़्त प्रधानमन्त्री मोदी के खिलाफ दुष्प्रचार करता रहता है. कई नेताओं ने भी इस मुद्दे पर खुल कर बोलते हुए कहा है कि देश के कुछ तथाकथित मीडिया चैनल हर वक़्त पीएम के खिलाफ ख़बरें चलाते हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति ने तो इस सिलिसले में सख्त रुख इख्तियार कर भी लिया है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments