Home > ख़बरें > कश्मीरी आतंकियों को बचाने के लिए कांग्रेस ने किया ऐसा काम, सन्न रह गया सेना का हर जवान !!

कश्मीरी आतंकियों को बचाने के लिए कांग्रेस ने किया ऐसा काम, सन्न रह गया सेना का हर जवान !!

congress-supports-terrorists

नई दिल्ली : 60 सालों तक देश पर राज करने वाली कांग्रेस ने किस कदर देश का बड़ा गर्क करके रखा हुआ था, ये बात आपको इस खबर को पढ़कर पता चल जायेगी. पहले तो भूतपूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू ने धारा 370 बनाकर देश के अभिन्न अंग कश्मीर को एक समस्या का रूप दे दिया. इसके बाद 60 सालों तक कांग्रेस ने अलगाववादियों को पोसा, उन्हें मनमानी करने दी गयी. इस बार कांग्रेस ने एक बार फिर ऐसी समस्या कड़ी कर दी है, जिसे देख देश का बच्चा-बच्चा तक हैरान है.

आतंकियों से मोदी सरकार की तुलना

कश्मीर में आतंकी हमले बदस्तूर जारी हैं, अभी हाल ही में कट्टरपंथी आतंकियों ने अमरनाथ यात्रा पर गए श्रद्धालुओं पर हमला भी किया, जिसमे कई श्रद्धालुओं की जान चली गयी. अब जब पीएम मोदी ने सेना को कश्मीर से आतंकियों का सर्वनाश करने के निर्देश दे दिए और सेना ने ताबड़तोड़ आतंकियों को जहन्नुम भेजना भी शुरू कर दिया तो कांग्रेस के पेट में जोर का दर्द शुरू हो गया है.

आतंकियों को मरता देख कांग्रेस तड़प रही है, अपनी इसी तड़प के चलते कांग्रेस ने मोदी सरकार तक को आतंकवादी बता दिया है. पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने कश्मीर मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर अतिवादी रूख रखने का आरोप लगाया है. इनका कहना है कि जैसे आतंकियों ने अतिवादी रुख अपनाया हुआ है, ठीक वैसे ही मोदी सरकार ने भी अतिवादी रवैया अपनाया है.

हथियार डाल कर बातचीत करनी चाहिए ?

चिदंबरम के मुताबिक़ आतंकियों के अतिवादी रुख को खारिज कर दिया जाना चाहिए, सेना द्वारा आतंकियों को मारा नहीं जाना चाहिए बल्कि उनसे बातचीत करनी चाहिए. बातचीत ना करने से कश्मीर की समस्या बहुत ज्यादा बढ़ गई है.


चिदंबरम ने ट्वीट करके कहा कि वो पहले भी कई बार कह चुके हैं कि कश्मीर मुद्दा या समस्या एक घाव है. कश्मीर घाटी के लोग दो अतिवादी पोजिशन में फंस गए हैं. इन दोनों के बीच जम्मू कश्मीर के लोग (खासतौर पर जो लोग घाटी में रह रहे हैं) शिकार बने हुए हैं. यानी चिदंबरम के मुताबिक़ पत्थर फेकने वाले भोले-भाले युवक आतंकियों और सरकार के बीच फंस गए हैं, उनकी कोई गलती नहीं है. सारी गलती मोदी सरकार की ही है, क्योंकि वो अलगाववादियों से बात नहीं कर रही है.

इमाम बुखारी ने लिखा नवाज शरीफ को खत

वैसे कश्मीर में आतंकियों को मरता देख केवल कांग्रेस ही नहीं बल्कि जामा मस्जिद के शाही इमाम बुखारी को भी काफी तकलीफ शुरू हो गयी है. कश्मीर में लोगों ने अयूब पंडित को जब सरेआम पीट-पीट कर मार डाला क्योंकि उनके नाम में पंडित शब्द था, जब आयेदिन आतंकी सेना के जवानो को मार रहे हैं, जब अलगावादी बच्चों के स्कूलों में आग लगवा रहे थे, जब अमरनाथ श्रद्धालुओं पर आतंकियों ने हमला किया, तब इमाम बुखारी ने मुँह में दही जमाये रखा.

अब जबकि आतंकियों को ढूंढ-ढूंढ के मारा जाना शुरू हो गया है, तो इमाम बुखारी ने पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ को चिट्ठी लिख दी है कि भारत सरकार से बातचीत की जाए, ताकि आतंकियों को मारने के जो सख्त तेवर सरकार ने अपनाये हुए हैं, वो ढीले पड़ जाएँ. एक-दो दिन में अवार्ड वापसी गैंग के बाहर आने की उम्मीद भी की जा रही है, जो मोदी सरकार को कसाई बताते हुए अपने-अपने अवार्ड वापसी का ढोंग करते नज़र आएंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments