Home > ख़बरें > अंतर्राष्ट्रीय संगठन ‘ओपेक’ की ये रिपोर्ट पढ़कर आपकी आँखें फटी रह जाएंगी, देश बचा लिया मोदी ने

अंतर्राष्ट्रीय संगठन ‘ओपेक’ की ये रिपोर्ट पढ़कर आपकी आँखें फटी रह जाएंगी, देश बचा लिया मोदी ने

opec-praises-modi

नई दिल्ली : पीएम मोदी एक नए पैसे का भी कालाधन बर्दाश्त करने के मूड में नहीं हैं. देश में फैसली अव्यवस्था को हटाते हुए बड़े पैमाने पर आर्थिक सुधार किये जा रहे हैं. हालांकि कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियां जरूर मोदी के विरोध में खड़ी हुई हैं. बीजेपी के भी कुछ टुटपुँजिया नेताओं ने मोदी के खिलाफ हल्ला बोला हुआ है, मगर अब तेल निर्यातक इस्लामिक देशों के संगठन ओपेक से एक ऐसी खबर आयी है, जिसने कांग्रेस और खासतौर पर गुजरात में अपनी राजनीति चमकाने के लिए लगातार झूठ बोल रहे राहुल गाँधी के मुँह पर करारा तमाचा लगाया है.


ओपेक ने बांधे नोटबंदी और जीएसटी की तारीफों के पुल

तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक के महासचिव “मोहम्मद बारकिन्डो” ने पीएम मोदी की तारीफों के पुल बांधते हुए कहा है कि भारत में कुछ बड़े संरचनात्मक बदलाव हो रहे हैं और नोटबंदी और जीएसटी जैसे साहसिक नए सुधारों ने देश को मजबूती के साथ सतत वृद्धि के रास्ते पर ला दिया है.

सेरावीक द्वारा आयोजित इंडिया एनर्जी फोरम में उन्होंने कहा कि भारत में मिडिल क्लास आगे बढ़ रहा है, जो न केवल ऊर्जा बल्कि वस्तु और सेवाओं की मांग का प्रमुख स्रोत है. उन्होंने कहा, ‘देश की अर्थव्यवस्था में बड़े संरचनात्मक बदलाव आ रहे हैं. दूरदृष्टि रखने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में नए साहसिक सुधार हो रहे हैं. इससे देश खासकर ऊर्जा के मामले में सतत रूप से गतिशील वृद्धि के रास्ते पर आ गया है.’

राजनीति के लिए झूठ बोल रहे कोंग्रेसी

गौरतलब है कि कोंग्रेसियों और कुछ बीजेपी के लालची व् स्वार्थ परस्त नेता भारत में पीएम मोदी पर कीचड उछालने में लगे हुए हैं लेकिन विश्व बैंक से लेकर बड़े-बड़े विदेशी संगठन मोदी की तारीफ़ करते नहीं थक रहे. बारकिन्डो ने आगे कहा कि नोटबंदी, माल और सेवा कर (जीएसटी) और ऊर्जा के विभिन्न स्रोतों को विकसित करने का प्रयास से देश सतत वृद्धि और स्थिरता की ओर बढ़ा है.


भारत में बढ़ेगी तेल की मांग

इसके अलावा उन्होंने कहा कि परिवहन क्षेत्र में बड़ी वृद्धि, विनिर्मित वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात में विस्तार, मजबूत आईटी क्षेत्र, एक मजबूत सेवा क्षेत्र और ठोस विनिर्माण आधार के साथ भारत बड़े आर्थिक बदलाव से गुजर रहा है और वैश्विक स्तर पर उसकी भूमिका बढ़ रही है.

बारकिन्डो ने कहा, ‘ओपेक में हम इन वृहद आर्थिक और व्यापार प्रवृत्ति पर करीब से नजर रख रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘ओपेक यह देख रहा है कि दुनिया में तेल मांग तेजी से भारत की ओर स्थानांतरित हो रही है. हमारा अनुमान है 2040 तक देश की तेल मांग 150 प्रतिशत बढ़कर 1.01 करोड़ बैरल प्रतिदिन हो जाएगी जो फिलहाल करीब 40 लाख बैरल प्रतिदिन है.’

देश तेजी से प्रगति के पथ पर

साथ ही वैश्विक तेल मांग में देश की कुल हिस्सेदारी 2040 तक बढ़कर 9 प्रतिशत हो जाने का अनुमान है जो फिलहाल 4 प्रतिशत है. ओपेक के महासचिव ने कहा, ‘कई कारक हैं जो ओपेक और भारत के बीच संबंधों को प्रगाढ़ बना रहे हैं.’

गौरतलब है कि आर्थिक सुधार जब भी किये जाते हैं, तो अर्थव्यवस्था भले ही शुरू में थोड़ी सुस्त हो जाए लेकिन कुछ ही वक़्त में तेजी से आगे बढ़ती है और ऊंचाइयों के नए मुकाम हासिल करती है. मगर राजनीति के चलते गुजरात में राहुल गाँधी पीएम मोदी पर ना केवल झूठे आरोप लगाकर कीचड उछाल रहे हैं बल्कि जनता को भ्रमित भी कर रहे हैं.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments