Home > ख़बरें > ऐसा घोटाला जिसकी कल्पना तक नहीं की होगी आम आदमी ने, जेल जायेंगे ये बड़े घोटालेबाज

ऐसा घोटाला जिसकी कल्पना तक नहीं की होगी आम आदमी ने, जेल जायेंगे ये बड़े घोटालेबाज



फेसबुक पेज लाइक करें
congress corruption

नई दिल्ली : कांग्रेस की सरकार में वैसे तो कई घोटाले हो चुके हैं मगर नोटबंदी के बाद अब तक का सबसे बड़ा घोटाला सामने आ रहा है, कहा जा रहा है कि इस घोटाले से पर्दाफ़ाश होते ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भी जेल जा सकते हैं। यदि ऐसा हुआ तो इसके खुलने से कांग्रेस के कई अन्य नेता भी सलाखों के पीछे जा सकते हैं।

हाल ही में आयी एक खबर के मुताबिक़ आरबीआई ने अब तक कुल 14 लाख करोड़ रुपये के ही 1000 और 500 के नोट छापे थे। नोटबंदी के बाद से सिर्फ 30 दिनों में बैंकों में अबतक 12 लाख करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा हो भी चुके हैं। हजारों करोड़ रुपये के पुराने नोटों को नदी-नालों में भी बहाया जा चुका है और आग लगाई जा चुकी है। खबर आयी थी की बोरी में भरकर भी लोग पुराने नोट कूड़े में फेक आये थे। सूत्रों के मुताबिक़ अगले 20 दिनों में लाखों करोड़ रुपये बैंकों में आने की संभावना है।

सूत्रों कि माने तो बैंकों में जमा होने वाले पुराने नोट 14 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा कीमत के हो जाएंगे, ऐसे में पूर्व आरबीआई गवर्नर सवालों के घेरे में आ जाएंगे क्योंकि बैंक नकली नोट तो जमा करते नहीं, तो ऐसा कैसे हो सकता है कि आरबीआई ने छापे तो 14 लाख करोड़ के नोट और वापस आ गए उससे भी ज्यादा कीमत के नोट। जानकार लोग प्रश्न उठा रहे हैं कि क्या आरबीआई ने एक ही सीरियल नंबर के कई नोट छापे हुए हैं? क्या ऐसा राजनीतिक दबाव के चलते किया गया?

क्या यही वजह है कि कांग्रेस व् अन्य कई राजनीतिक पार्टियों ने नोटबंदी के फैसले को पलटवाने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है? कांग्रेस की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दर्जनों वकीलों की फ़ौज इस फैसले के खिलाफ आयी याचिकाओं की पैरवी में लगे हुए हैं। सलमान खुर्शीद, कपिल सिब्बल, पी। चिदंबरम, अभिषेक मनु सिंघवी, विवेक तनखा, के।टी।एस। तुलसी जैसे कई बड़े नामी-गिरामी वकीलों की फ़ौज नोटबंदी के फैसले को रद्द करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में पूरी ताकत से जुटे हुए हैं। खैर आने वाले दो हफ़्तों में इस घोटाले का पर्दाफ़ाश हो सकता है और जिसके बाद अब तक की सबसे बड़ी जांच शुरू होने की भी संभावना है। कयास लगाए जा रहे हैं कि यदि ये घोटाला सामने आता है तो कदाचित कांग्रेस के सभी नामी-गिरामी नेता जेल के अंदर होंगे।

अब आपकी बारी

क्या आपको लगता है कि राजनीतिक दबाव के चलते आरबीआई एक ही नम्बर के कई नोट जारी कर सकता है? अपनी राय आप कमेंट द्वारा शेयर कर सकते हैं।

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें



फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments