Home > ख़बरें > ब्रेकिंग- बीजेपी की यूपी जीत के बाद नितीश आये मोदी के साथ, बिहार की सियासत में आया भूचाल

ब्रेकिंग- बीजेपी की यूपी जीत के बाद नितीश आये मोदी के साथ, बिहार की सियासत में आया भूचाल

nitish-with-modi-lalu-stunned

नई दिल्ली : कल यूपी में बीजेपी ने भारी मतों के साथ ऐतिहासिक जीत हासिल कर ली. मोदी की आंधी सुनामी में बदल गयी और सपा, बसपा, कांग्रेस सब बह गए. यूपी चुनाव में बीजेपी की बम्पर जीत से बिहार की राजनीति में उबाल आ गया है. पीएम मोदी की इस जीत का असर सीधे महागठबंधन पर पड़ता दिखाई दे रहा है. चुनाव के नतीजे आते ही लालू की पार्टी की ओर से नितीश कुमार पर तीखा हमला किया गया है.

धोखेबाज हैं नितीश !

लालू की पार्टी आरजेडी के एक बड़े नेता रघुवंश प्रसाद यादव ने बीजेपी की इस ऐतिहासिक जीत के लिए नितीश कुमार को जिम्मेदार ठहराते हुए उनपर तीखा हमला किया है. रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश कुमार पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि पहले तो नीतीश ने मोदी के नोटबंदी के फैसले की तारीफ़ कर दी, जिससे बीजेपी को फायदा पहुचा और उसके बाद यूपी विधानसभा चुनाव में भी उन्होंने बीजेपी की मदद की. नितीश कुमार ने चुनाव प्रचार न कर के लोगों को गुमराह किया और जनता को धोखा देने का काम किया है.

नितीश ने फिर किया पीएम मोदी का समर्थन !

वहीँ नीतीश कुमार ने इन सबकी परवाह ना करते हुए उत्तराखंड और यूपी में भारी जीत के लिए बीजेपी को बधाई दे दी. उन्होंने ट्वीट करके बधाई तो दी ही लेकिन साथ-साथ एक बार फिर से मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले का समर्थन भी किया.

नीतीश कुमार ने ट्वीट किया कि यूपी में बीजेपी को पिछड़े वर्गों के बड़े तबके का साथ मिला. अन्य पार्टियों की ओर से उन्हें जोड़ने की कोई कोशिश नहीं की गयी. नितीश ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि यूपी में अन्य पार्टियों को नोटबंदी का इतना कड़ा विरोध नहीं करना चाहिए था. गरीब लोगों ने नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया क्योंकि उन्हें लगा कि इससे अमीर लोगों को नुक्सान हुआ है लेकिन बाकी पार्टियों ने इसकी अनदेखी की.


नितीश की मदद से जीते मोदी ?

आपको बता दें कि महागठबंधन के अंदर-ही-अंदर नितीश कुमार पर चुपचाप से मोदी की मदद करने के आरोप लगते आये हैं. नोटबंदी पर सारे विपक्ष ने पीएम मोदी के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था, यहाँ तक कि उनके साथी लालू यादव भी पीएम मोदी पर जुबानी हमले कर रहे थे लेकिन ठीक उसी वक़्त नितीश ने पीएम मोदी के समर्थन में उतर कर विपक्ष की उस मुहिम को कमजोर कर दिया था.

इसके बाद नितीश कुमार ने जेडीयू को यूपी चुनाव में भी नहीं उतारा. ना ही यूपी में गठबंधन का हिस्सा बने और ना ही अपने उम्मीदवार खड़े किये. जिसके बाद ख़बरें आयी कि नितीश यदि उम्मीदवार उतारते तो बीजेपी के वोट कट जाते और नितीश खुद चाहते हैं कि यूपी में बीजेपी की जीत हो.

सदमे में लालू ?

वहीँ यूपी चुनाव में पीएम मोदी के खिलाफ मोर्चा खोले लालू चुनाव परिणाम आने के बाद से एक तरह से सदमे में चले गए हैं. छोटी-छोटी सी बातों पर जम के बयानबाजी करने वाले लालू ने कल एक छोटे से ट्वीट के अलावा कुछ भी नहीं कहा. वो मीडिया के कैमरों के सामने तक नहीं आये. यहां तक कि उनके बेटे तेजस्वी और तेज प्रताप की ओर से ना ही कोई बयान आया ना ही कोई ट्वीट.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments