Home > ख़बरें > आप दिल्ली चुनाव में व्यस्त थे, वहां देश में हो गया बड़ा हमला, रौंद्र रूप में आये मोदी ने दिए हाहाकारी आदेश

आप दिल्ली चुनाव में व्यस्त थे, वहां देश में हो गया बड़ा हमला, रौंद्र रूप में आये मोदी ने दिए हाहाकारी आदेश

modi-against-naxal-attack

नई दिल्ली : जहां एक ओर पीएम मोदी देश के विकास की भरपूर कोशिशों में लगे हुए हैं, वहीँ दूसरी ओर देश के दुश्मन देश को तोड़ने की कोशिशों में लगे हुए हैं. बाहर बैठे दुश्मनों से तो लड़ना फिर भी आसान है, लेकिन देश के अंदर ही दुश्मन बैठे हों तो वो और भी ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं. अभी-अभी एक बेहद सनसनीखेज खबर छत्‍तीसगढ़ के सुकमा से सामने आ रही है, जिसके सामने आते ही सारा देश सन्न रह गया है.

सुकमा में भयंकर नक्सली हमला !

खबर आयी है कि छत्तीसगढ़ के सुकमा में आज एक बार फिर नक्सलियों ने सीआरपीएफ जवानों पर भीषण हमला कर दिया है. हमला इतना तीव्र था और सुनियोजित था कि इस हमले में सीआरपीएफ के 24 जवान शहीद हो गए. ये सभी जवान सीआरपीएफ 74 बटालियन के थे. जवानों के शहीद होने के बाद ये नक्सली इन जवानों का हथियार भी लूटकर ले गए.

घात लगाकर किया हमला !

खबर आयी है कि सुकमा के चिंतागुफा के पास बुरकापाल में आज करीब दोपहर डेढ़ बजे सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन रोड ओपनिंग के लिए निकली थी. इस बात की खबर नक्सलियों को भी थी और वो वहां घात लगा कर बैठे थे. रोड ओपनिंग के लिए जा रहे जवान जैसे ही बुरकापाल क्षेत्र पहुंचे, तभी एकाएक नक्सलियों ने अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दीं.

जवानों की ओर से भी इस गोलीबारी का जवाब दिया गया और काफी देर तक दोनों ओर से गोलीबारी चलती रही. खबर है कि इस हमले में 24 जवानों को अपनी जान से हाथ-धोना पड़ गया. हमले में 7 जवान घायल भी हुए हैं, जिनमें से 5 की हालत गंभीर बताई जा रही है. जवानों के हथियार भी नक्सलियों ने लूट लिए और जंगलों में भाग गए.

ढूंढ के मार गिराने के आदेश !

घटना की जानकारी मिलते ही तुरंत घटनास्थल पर अतिरिक्त पुलिस दल को रवाना किया गया और घायल जवानों को बाहर निकालने की कार्रवाई की गई. इसी के साथ नक्सलियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं. सीआरपीएफ की कोबरा टीमें मुठभेड़ की जगह पर पहुंच चुकी हैं और पूरे इलाके में जबरदस्त तेजी से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

सूत्रों के मुताबिक़ नक्सलियों को ढूंढ कर आत्म समर्पण के लिए कहा जाएगा, यदि उनकी ओर से गोलीबारी की गयी तो सबका एनकाउंटर किया जाएगा. वहीँ एक अधिकारी ने बताया कि घायल जवानों को निकालने के लिए एक हेलीकॉप्टर को भी घटनास्थल के लिए भेजा गया है.

दंतेवाड़ा में आईईडी विस्फोट की भी साजिश !

वहीँ दंतेवाड़ा में भी नक्सलियों ने सुरक्षाबलों के रास्ते में आईईडी भी लगा दीं थी, जिससे एक और बड़ा हादसा हो सकता था लेकिन सुरक्षा बलों ने आईईडी को डिफ्यूज कर दिया है. गौरतलब है कि अभी पिछले महीने भी नक्सलियों ने छत्‍तीसगढ़ के सुकमा जिले में ही सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगाकर हमला किया था. तकरीबन 300 नक्सलियों ने घात लगा कर हमला किया था, जिसके चलते सीआरपीएफ के 11 जवानों की जान चली गयी है और कई अन्य घायल हो गए थे.

इस हमले के बाद भी सीआरपीएफ ने सर्च ऑपरेशन चला कर हमले में शामिल कई आतंकियों का एनकाउंटर कर दिया था. इस बार भी ऐसे ही आदेश दिए गए हैं, सीआरपीएफ पूरी ताकत से नक्सलियों को मार गिराने के ऑपरेशन में जुट गयी है.

दरअसल, नक्सली नहीं चाहते कि बस्तर में सड़को का निर्माण करके विकास कार्य किये जाएँ. इसी के चलते नक्सली निर्माण कार्यों में बाधा डालने के लिए हमले करते रहते हैं. नक्सलियों के खतरे को देखते हुए इस इलाके में सड़क निर्माण का काम सुरक्षाबलों ने अपने हाथों में लिया हुआ है, जो इन नक्सलियों को मंजूर नहीं.

बहरहाल सीआरपीएफ के जवानों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि कैसे भी करके उन नक्सलियों को खोज निकाला जाए और एनकाउंटर कर दिया जाए ताकि कोई भी दोबारा सुरक्षाबलों पर हमला करने की हिम्मत ना करे.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments