Home > ख़बरें > जापान के पीएम की भारत यात्रा के पीछे ये है मोदी की कूटनीति, देखकर बुरी तरह चौंक जाएंगे आप !

जापान के पीएम की भारत यात्रा के पीछे ये है मोदी की कूटनीति, देखकर बुरी तरह चौंक जाएंगे आप !

modi-abe-gujrat

नई दिल्ली : पीएम मोदी अपनी कूटनीति के लिए विश्व प्रसिद्द हो चुके हैं. डोकलाम में चीन को कैसे बिना एक भी गोली चलाये झुका लिया गया, ये इसी का एक उदाहरण था. अब जापान के पीएम शिंजो आबे की भारत यात्रा पर पीएम मोदी की कूटनीति देख आप भी उनके फैन बन जाएंगे. देखिये कैसे पीएम मोदी ने एक ही तीर से कई शिकार कर लिए.


शिजो आबे के साथ फूँका चुनावी बिगुल !

गुजरात में विधानसभा चुनाव होने को हैं, चुनाव पीएम मोदी के चेहरे पर ही लड़ा जाएगा ये भी तय है. ऐसे में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अपनी पत्नी के साथ सीधे अहमदाबाद पहुंचे. पीएम मोदी ने बाकायदा उन्हें एक रोड शो का हिस्सा बना लिया और गुजरात भ्रमण के साथ-साथ चुनावी बिगुल भी फूंक दिया. मोदी की पहली गुजरात रैली केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर की मीडिया ने कवर की.

चीन को सन्देश !

चीन के साथ डोकलाम विवाद के बाद जापान के पीएम की यात्रा का एंगल भी काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि एक तो चीन और जापान की आपस में नहीं बनती और जापान ने डोकलाम मुद्दे पर भारत का साथ भी दिया था. जापान के पीएम की भारत यात्रा इस मायने में चीन को सन्देश है कि भारत-जापान चीन के कारण और भी करीब आएंगे.

पीएम नरेन्द्र मोदी ने उनका अहमदाबाद में जोरदार स्वागत किया. शिंजो जैसे ही प्लेन से बाहर आये मोदी ने उन्हें गले से लगा लिया. शिंजो के साथ उनकी पत्नी अकी अबे भी साथ आयी हैं, मोदी ने उनका भी स्वागत किया. इसके बाद शिंजो अबे के लिए रेड कारपेट बिछाया गया जिसके बाद उनका सांकृतिक सम्मान किया गया. उन्हें तलवार से सलामी भी दी गयी. ऐसा सम्मान भारत कम ही नेताओं को देता है.


पीएम मोदी ने जापान के पीएम शिंजो आबे को ना केवल अपने रोड शो में शामिल किया बल्कि उन्हें साबरमती आश्रम और रिवर फ्रंट भी ले गए. कोशिश ये रही कि चीन के पीएम का जैसा शानदार स्वागत गुजरात में किया गया था, उससे भी ज्यादा शानदार स्वागत जापान के पीएम का किया जाए. यह पहला मौका था कि कोई विदेशी प्रधानमंत्री भारत में आठ किलोमीटर लंबे रोड शो का हिस्सा बना.

मुस्लिम समुदाय को रिझाने की कोशिश !

गुजरात चुनाव के मद्देनजर पहली बार पीएम मोदी वो काम करने जा रहे हैं, जो उन्होंने पीएम बनने के बाद अब तक नहीं किया. जापान के पीएम शिंजो आबे को लेकर पीएम मोदी ऐतिहासिक सिद्दी सैयद मस्जिद जाएंगे. इसे चुनावों से ठीक पहले मुस्लिम समुदाय को रिझाने की एक कोशिश के रूप में देखा जा रहा है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अहमदाबाद से मुंबई तक बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का शिलान्याश करने के लिए आये हैं. कल दोनों नेता मिलकर इस प्रोजेक्ट की शुरुआत करेंगे जो 2022 से पहले बनकर तैयार हो जाएगी. गुजरात चुनाव और चीन दोनों के लिए ये अहम् मौक़ा है. एक तो गुजरात चुनाव में बीजेपी को विकास करने वाली पार्टी के तौर पर देखा जाएगा और वहीँ बुलेट ट्रैन की डील चीन के साथ ना करके बल्कि जापान के साथ की गयी है, इसलिए चीनी मीडिया की भी इस प्रोजेक्ट पर पूरी नजर है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments