Home > ख़बरें > भारतीय सेना ने फिर पार किया बॉर्डर, मचाई ऐसी तबाही, जिसे देख पाकिस्तान के उड़े होश

भारतीय सेना ने फिर पार किया बॉर्डर, मचाई ऐसी तबाही, जिसे देख पाकिस्तान के उड़े होश

indian-army-surgical-strike

नई दिल्ली : पिछले साल पीएम मोदी के आदेश पर भारतीय सेना द्वारा बॉर्डर पार करके पीओके में की गयी सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा सारी दुनिया में की गयी थी. इसी के साथ सारी दुनिया ने भारतीय सेना का लोहा माना था. इस 27 सितम्बर को एक बार फिर खबर आयी थी कि भारतीय सेना ने म्यांमार में एक बार फिर सर्जिकल स्ट्राइक की है. भारतीय सेना के ऐसे आक्रामक तेवर देख पाक फ़ौज के तेवर ढीले पड़ गए हैं.


भारतीय सेना ने फिर पार किया बॉर्डर

हालांकि म्यांमार भारत का एक मित्र देश है, इसलिए भारतीय सेना ने तुरंत इस खबर का खंडन करते हुए कहा था कि म्यांमार बॉर्डर पर उग्रवादियों को भारतीय सीमा के अंदर ही मारा गया था. मगर अब खुद म्यांमार ने सच्चाई बयान करते हुए कबूल किया है कि भारतीय सेना ने इस बार भी बॉर्डर पार किया था और म्यांमार में घुस कर उग्रवादियों को मौत के घाट उतारा था.

कोन्याक यूनियन के प्रेजिडेंट एसऐ खोटई और जनरल सेक्रेटरी के होनवांग द्वारा दिए गए सयुक्त बयान के मुताबिक़ उग्रवादियों ने म्यांमार बॉर्डर पार से भारतीय सेना के कमांडोज पर फायरिंग की थी. जिसके बाद भारतीय सेना ने बॉर्डर पार करके उग्रवादियों का विनाश किया. मुठभेड़ की ये घटना खोंसा और लंगखो गांव के बीच के इलाके में ईस्टर्न कोन्याक म्यांमार में 15 किलोमीटर अंदर हुई थी.


रात में पार किया बॉर्डर और सुबह तक निपटा डाला

उन्होंने ये बयान लंगखो गाँव वालों के हवाले से दिया, इन गाँव वालों ने बताया कि उन्हें धान के खेतों में कई ज़िंदा बम भी मिले, जहाँ उन्होंने उस दिन भारतीय कमांडोज और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ होते खुद अपनी आँखों से देखा था. गाँव वालों ने बताया कि रात 3 बजे से सुबह 6 बजे के बीच ये मुठभेड़ हुई थी, भारतीय जवानों ने बॉर्डर पार किया और बॉर्डर से सटे इस गाँव में छिप कर हमला कर रहे सभी उग्रवादियों को ढेर कर दिया और उनका अड्डा भी उड़ा दिया.

नागालैंड उग्रवादी संगठन NSCN (K) ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके भी बताया कि भारतीय पैरा कमांडोज ने म्यांमार बॉर्डर के 15 किलोमीटर अंदर घुसकर उग्रवादियों का एनकाउंटर किया. हालांकि भारतीय सेना नहीं चाहती कि बिना इजाजत बॉर्डर पार करने का आरोप उसपर लगाया जाए, इसलिए उसने इन ख़बरों का खंडन कर दिया.

ख़बरों के मुताबिक़ भारतीय सेना के पास खुली छूट है, देश की रक्षा के लिए बॉर्डर पार करने से भी वो अब नहीं हिचकिचाते, मगर सेना नहीं चाहती कि किसी तरह के विवादों में वो पड़े इसीलिए इन ख़बरों का खंडन कर दिया गया. वरना कोई और करे ना करे, मगर भारत के ही कुछ गद्दार उग्रवादियों के पक्ष में खड़े हो जाएंगे और भारतीय सेना को विवादों में घसीट कर उसका अपमान करेंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments