Home > ख़बरें > मीट की दुकान बंद करके दूध बेचने लगा ये मुसलमान, इसके बाद जो हुआ उसे देख आजम खान भी हैरान !

मीट की दुकान बंद करके दूध बेचने लगा ये मुसलमान, इसके बाद जो हुआ उसे देख आजम खान भी हैरान !

yogi-azam-khan-milk-dairy

लखनऊ : यूपी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अवैध कत्लखानों के खिलाफ चलाये गए अभियान के बाद से मीट कारोबारियों की शिकायत रही थी की इससे उनके व्यापार को नुक्सान पहुंचा है. शुरू-शुरू में सरकार पर दबाव बनाने के लिए कई मीट कारोबारी हड़ताल पर भी चले गए थे. लेकिन इस सबके बीच एक ऐसी हैरतअंगेज खबर सामने आ रही है, जिसे देख राज्य के मीट कारोबारी भी हैरत में पड़ गए हैं.

दूध बेचकर कमाई बढ़ी कई गुना !

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ अवैध कत्लखानों को बंद किये जाने से पहले इंदौर के पास महू के रहने वाले आरिफ खान मटन बेचने की एक दुकान चलाते थे. मीट बेचकर आरिफ महीने में करीब 20 से 25 हजार रुपए तक कमा लेते थे. इंदौर से लगे होने की वजह से महू से भारी मात्रा में डेयरी प्रोडक्ट इंदौर आते हैं. मीट बेचना छोड़कर आरिफ गौशाला के काम से जुड़ गए और डेयरी का काम शुरू कर लिया.

इंदौर जैसे महानगर में यदि वो ये व्यवसाय करते तो शायद गौ-पालन के लिए उन्हें पर्याप्त जमीन भी नहीं मिल पाती लेकिन महू क्युकी छोटा शहर है इसलिए उन्हें जमीन मिलने में भी कोई ख़ास दिक्कत नहीं हुई. आरिफ तब हैरत में पड़ गए जब डेयरी खोलने के कुछ ही दिनों में उनकी आमदनी कई गुना बढ़ गयी.

डेयरी उत्पादों के व्यापार से मुनाफ़ा ही मुनाफ़ा !

आरिफ के मुताबिक़ उन्होंने कुछ जगह में गौ और भैंस पालन शुरू किया और दूध, दही बेचने का काम शुरू किया. शुरुआत में वो डेयरी उत्पाद महू में ही बेचा करते थे. कुछ ही वक़्त में उनके धंधे ने रफ़्तार पकड़ ली और उन्होंने डेयरी उत्पादों को इंदौर में सप्लाई करना भी शुरू कर दिया.


महानगर होने के कारण आरिफ को जमकर फायदा होना शुरू हो गया. काम को रफ़्तार पकड़ता देख उन्होंने कई लोगों को अपने काम से जोड़ा और धंधे का विस्तार किया. आरिफ बताते हैं की आज डेयरी के व्यापार से उनकी आमदनी 1 लाख रुपए प्रतिमाह से अधिक पर पहुंच गयी है.

यूपी में श्वेत क्रान्ति !

गौरतलब है की सीएम योगी आदित्यनाथ के अवैध कत्लखानों के खिलाफ कार्यवाही करने के बाद से देशभर में गौ रक्षा का मुद्दा छिड़ गया है. नेताओं के बयानों से लेकर सोशल मीडिया तक में गौ रक्षा की बात गूँज रही है. कुछ ही दिन पहले शंकराचार्य ने आजम खान को गाय तोहफे में दी थी, जिसे आजम ने लौटा दिया था. वहीँ यूपी में डेयरी व्यापार तेजी से बढ़ने लगा है. सरकार द्वारा जारी किये गए आंकड़ों के मुताबिक़ देश में सबसे तेज गति से बढऩे वाले कारोबार में डेयरी व्यापार का प्रमुख स्थान है.

नई-नई तकनीकों के आने से इस व्यापार में उत्पादक क्षमता में भी काफी इजाफा हुआ है. परिवहन इत्यादि की सुविधाएं व् सरकार की ओर से मिलने वाली सहायता के चलते डेयरी व्यापार में मुनाफ़ा काफी बढ़ चुका है. गांवों या छोटे शहरों से दूध, दही, पनीर जैसे डेयरी उत्पादों का महानगरों में व्यापार तेजी से मुनाफ़ा कमाने का सबसे अच्छा माध्यम बनता जा रहा है.

वहीँ सीएम योगी ने भी कुछ ही दिन पहले कहा था कि वो भी गुजरात की तर्ज पर अमूल जैसा अभियान यूपी में भी चलाएंगे. जानकारों के मुताबिक़ सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा लिए जा रहे फैसलों से जल्द ही यूपी में श्वेत क्रान्ति आने के पूरे-पूरे आसार दिखाई दे रहे हैं. इस बात की भी पूरी संभावना है कि जल्द ही यूपी से देशभर के राज्यों तक दूध व् दूध से बने उत्पाद पहुंचने लगेंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

हमारे साथ सीखिए ब्लॉग लिखना और घर बैठे कमाइए पैसे. तीन दिन का कोर्स ज्वाइन करने के लिए 9990166776 पर Whatsapp करें.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments