Home > ख़बरें > सबसे खूंखार आतंकी को कोर्ट ने सुनाई ऐसी सजा, हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम के भी छूटे पसीने !

सबसे खूंखार आतंकी को कोर्ट ने सुनाई ऐसी सजा, हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम के भी छूटे पसीने !

modi-hafiz-saeed-abu-salem

मुंबई : 1993 में मुंबई में बम धमाके करके देश से गद्दारी करने वाले अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम पर अदालत ने फैसला सुना दिया है. फैसला भी ऐसा कि देश की जनता के जी को सुकून पहुंचा है. अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम को उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है. वहीं अबू के दूसरे साथी मोहम्मद ताहिर मर्चेंट और फिरोज अब्दुल राशिद खान को फांसी की सजा सुनाई गई.

सजा सुनने के बाद अदालत में ही रो पड़ा अबू सलेम !

सजा सुनने के बाद अदालत में ही अबू सलेम रो पड़ा. उसकी आँखों से आंसुओं की धार बह निकली. अदालत ने आतंकी करीमुल्लाह खान को भी उम्रकैद की सजा सुनाई और उस पर 7.50 लाख रुपये का जुर्माना भी थो दिया. जुर्माना दिया तो ठीक वरना उसे जेल में दो साल और गुजारने होंगे. इसके अलावा एक अन्य आरोपी रियाज सिद्दीकी को 10 साल की सजा सुनाई गई है.

कोर्ट का फैसला आने के बाद विशेष सरकारी वकील एवं वरिष्ठ अधिवक्ता उज्जवल निकम ने जानकारी दी कि अबू सलेम को उम्रकैद हुई है. बता दें कि अबू सलेम 12 साल जेल में बंद रह चुका है. ऐसे में अब भारत और पुर्तगाल मिलकर ये तय करेंगे कि अबू सलेम को अभी और कितने साल जेल में बिताने होंगे. बताया जा रहा है कि पुर्तगाल के कानून के मुताबिक उम्रकैद की सजा पाए अपराधी को 25 साल जेल में गुजारने होते हैं. ऐसे में अबू सलेम को जेल में अभी 13 साल और गुजारने होंगे.


पाक आतंकियों में दहशत !

अबू सलेम मुंबई में हुए बम धमाकों का दोषी है, मुंबई में 12 मार्च 1993 को हुए सीरियल बम धमाकों में 257 लोग मारे गए थे और 700 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. ये बम धमाके इतने भीषण थे कि पालक झपकते ही लगभग 27 करोड़ रुपये की संपत्ति नष्ट हो गई थी.

इस मामले में 16 जून, 2017 को जस्टिस जीए सनप ने अबू सलेम, मुस्तफा डोसा, करीमुल्लाह खान, फिरोज अब्दुल रशीद खान, रियाज सिद्दीकी और ताहिर मर्चेंट को धमाकों का षडयंत्र रचने के लिए दोषी माना था जबकि एक अन्य आरोपी अब्दुल कयूम को इस मामले से बरी कर दिया था. इसमें से एक आरोपी मुस्तफा डोसा की मौत हो चुकी है.

अदालत का ये फैसला पाक आतंकियों के लिए एक सदमे की तरह है, जो ये सोचते थे कि यदि भारत ने पकड़ भी लिया तो जीवन भर केस चलता रहेगा और वो आराम से जमानत पर बहार घूमते रहेंगे. वहीँ इस फैसले से देशवासियों ने ख़ुशी जाहिर की है और इसे इन्साफ बताया है. लोगों ने कहा कि इससे आतंकियों में खौफ फैलेगा और वो आतंक मचाने से पहले सौ बार सोचेंगे. वहीँ ऐसी सजा देख कश्मीरी पत्थरबाजों और अलगाववादियों में भी क़ानून का डर पैदा होगा, जो ये सोचते हैं कि वो सेना पर हमले करके साफ़ बच निकलेंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हमारे साथ सीखिए ब्लॉग लिखना और घर बैठे कमाइए पैसे. तीन दिन का कोर्स ज्वाइन करने के लिए 9990166776 पर Whatsapp करें.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments