Home > ख़बरें > ब्रेकिंग-राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले मुलायम ने बदली पार्टी, अखिलेश को छोड़ पीएम मोदी का थामा हाथ

ब्रेकिंग-राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले मुलायम ने बदली पार्टी, अखिलेश को छोड़ पीएम मोदी का थामा हाथ

नई दिल्ली : राष्ट्रपति चुनाव को लेकर एक बार फिर समाजवादी कुनबे में कलह मच सकती है. अगले महीने की 20 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनावों को लेकर मंच सज चुका है. इस पर सभी राजनितिक पार्टियों ने अपनी अपनी तरफ से मोर्चाबंदी करनी शुरू कर दी है. पूरे देश की निगाहें बस अब सिर्फ इसी बात पर टिकी हुई हैं कि 20 जून को भाजपा अपने किस उम्मीदवार को राष्ट्रपति के पद के लिए चुनेगी. लेकिन इससे पहले जहाँ पूरा विपक्ष अपनी धुन में लगा है वहीँ सपा के मुलायम सिंह यादव ने बड़ा उलटफेर करके सियासी गलियारे में हड़कंप मचा दिया है.

अखिलेश को छोड़, बीजेपी का समर्थन करेंगे मुलायम सिंह यादव

रविवार की सुबह टाइम्स ऑफ इंडिया और बड़े मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विपक्ष से अलग हटकर, यहाँ तक की अखिलेश का साथ छोड़कर कर, मुलायम सिंह यादव ने पीएम मोदी को राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार को अपना पूरा समर्थन देने का एलान कर दिया है. ये बहुत बड़ी खबर बताई जा रही है, इससे लगता है कि एक बार फिर पूर्व यूपी सीएम अखिलेश यादव और मुलायम के बीच बड़ा टकराव हो सकता है. जहाँ भाजपा ने अभी तक अपने राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम का खुलासा नहीं किया है, वही दूसरी ओर विपक्ष ने भाजपा को 20 जून तक का अल्टीमेटम दे दिया है.

लेकिन एक शर्त पर…

सपा के सरंक्षक मुलायम ने भाजपा की अगुआई वाले एनडीए के नेताओं को भरोसा दिया है कि उनकी पार्टी राष्ट्रपति चुनाव में उन्हें ही समर्थन देगी लेकिन मुलायम ने एक शर्त भी रखी है, उन्होंने कहा है कि उम्मीदवार कट्टर भगवा चेहरा न हो और सभी दलों को स्वीकार्य होना चाहिए.

कांग्रेस के अरमानो पर फिरा पानी

मुलायम सिंह यादव का एनडीए कैंडिडेट को समर्थन देने का ताजा रुख कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी धड़े के लिए बड़ा खतरनाक झटका साबित हो सकता है क्यूंकि इस वक़्त सभी विपक्षी दल एकजुट होकर राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा को कड़ी सियासी टक्कर देने की तैयारी कर रहे हैं. गृह मंत्री राजनाथ सिंह और सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को मुलायम से इसी सिलिसिले में बातचीत करी.

एपीजे अब्दुल कलाम को राष्ट्रपति पद के लिए भी मुलायम ने किया था बीजेपी का समर्थन

ख़बरों के मुताबिक इस मीटिंग में मुलायम ने उस पहल का भी ज़िक्र किया, जब एनडीए को समर्थन देकर एपीजे अब्दुल कलाम को एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद का कैंडिडेट बनाया गया था. वहीँ कुछ सपा के ही कुछ गुटों का मानना है कि राष्ट्रपति चुनाव में अखिलेश यादव एनडीए ओर नेताजी मुलायम के विरुद्ध खड़े होंगे. इस सबसे आशंका लगायी जा रही है कि एक बार फिर अखिलेश ओर मुलायम के बीच फिर ज़ोरदार टकराव खड़ा होने जा रहा है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments